मुंबई - हमारे देश में ही अब महिलाएं सुरक्षित नहीं हैं। आए दिन रेप और मर्डर जैसी खबरें सामने आती रहती हैं। हमारे भारत में सब कुछ सहती भी महिलाएं हैं और कुछ गलत हो तो सारा इलजाम भी महिलाएं पर ही आता हैं। महिलाओं की तो बात छोड़ो अब हमारे यहां छोटी बच्चियां भी सुरक्षित नहीं हैं। हाल ही में जम्मू-कश्मीर के कठुआ जिले में 8 साल की बच्ची के साथ दरिंदगी और हत्या का मामला सामने आया था। कठुआ के जंगलों में 17 जनवरी को 8 साल की बच्ची का शव मिला था।
अब स्थानीय लोगों समेत बॉलीवुड की तमाम बड़ी हस्तियों का भी इसे लेकर गुस्सा देखने को मिल रहा है। फिल्म जगत से जुड़ी कई हस्तियों सोशल मीडिया पर टिप्पणी करते हुए पीड़िता के लिए न्याय की मांग की है। अभिषेक बच्चन और रितेश देशमुख समेत कई हस्तियों ने इसे समाज के लिए शर्मनाक करार दिया है और तत्काल न्याय की मांग की है। यही नहीं इस मामले को सांप्रदायिक रंग दिए जाने पर भी लोग नाराजगी जता रहे हैं।
बॉलीवुड एक्टर फरहान अख्तर ने लिखा, 'कल्पना कीजिए उस 8 साल की बच्ची के दिमाग में उस समय क्या चल रहा होगा जब उसे नशीली दवाएं देकर बंधक बनाकर इतने दिन तक रेप किया गया और फिर मार दिया। अगर आप उसके मन के दहशत, डर को नहीं महसूस कर सकते तो आप एक इंसान ही नहीं है। अगर आप पीड़िता के लिए न्याय की मांग नहीं करते तो आप कुछ भी नहीं है।'
बॉलीवुड एक्टर रितेश देशमुख ने कहा, 'एक 8 साल की बच्ची को नशीली दवाएं देकर बलात्कार किया गया और फिर हत्या कर दी गई, दूसरी ओर अपने लिए और पुलिस हिरासत में अपने पिता की मौत के लिए न्याय मांग रही है। हमारे पास दो ही विकल्प हैं या तो आवाज उठाएं या फिर मूकदर्शक बने रहें। जो सही है उसके लिए स्टैंड लीजिए चाहे आप अकेले ही क्यों न खड़े हों।' इसके अलावा अभिषेक बच्चन ने भी पीड़िता के लिए न्याय की मांग की है।
इस बीच कठुआ रेप-मर्डर केस में आरोपियों के परिजनों और हिंदू एकता मंच के सदस्यों ने भी कठुआ में विरोध-प्रदर्शन किया। उन्होंने इस मामले की केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) से जांच कराने की मांग की।
बता दें कि इसी साल जनवरी में आठ साल की बच्ची से गैंगरेप और हत्या के मामले में चार महीने बाद अब पुलिस ने आठ आरोपियों के खिलाफ चार्जशीट दाखिल की है। आरोपियों के खिलाफ पुलिस की चार्जशीट में मासूम बच्ची के साथ दरिंदगी की पूरी कहानी बताई गई है। बच्ची को नशीली दवाएं पिलाकर बार-बार रेप किया गया। एक पुलिस अधिकारी का नाम भी आरोपियों में शामिल है।
दरिंदगी की इस चार्जशीट के मुताबिक इस पूरे घटनाक्रम का मास्टरमाइंड संजी राम को बताया गया है। बकरवाल समुदाय की इस मासूम बच्ची का अपहरण, रेप और मर्डर इलाके से इस अल्पसंख्यक समुदाय को हटाने की एक सोची-समझी साजिश का हिस्सा थी।

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें