नई दिल्ली - आपको एटीएम से पैसा निकालने के लिए ज्यादा भटकने की जरूरत नहीं होगी। बल्कि पड़ोस की दुकान से भी एटीएम जैसी सुविधा ले सकेंगे। इस सुविधा की शुरुआत Paytm payment bank ने रविवार को की है। इसे Paytm का ATM नाम दिया गया है।
एक लाख एटीएम जल्द खुलेंगे
बैंक ने पूरे देश में अपनी बैंकिंग सेवाओं की पहुंच का विस्तार करने के लिए एक लाख से अधिक Paytm का ATM बैंकिंग आउटलेट खोलने का फैसला किया है। बैंक ने बयान में कहा है कि स्थानीय दुकानदारों के साथ मिलकर अभी 3000 Paytm का ATM आउटलेट शुरू किए गए हैं। पहले चरण में Paytm ने दिल्ली एनसीआर, लखनऊ, कानपुर, इलाहाबाद, वाराणसी और अलीगढ़ सहित चुनिंदा शहरों में Paytm का ATM प्वाइंट शुरू किए हैं।
ATM पर खाता भी खोल सकेंगे
बैंक ने कहा है कि Paytm का ATM आउटलेट पर नकद निकासी के साथ ग्राहकों को बचत खाता शुरू करने और नकदी जमा की सुविधा भी मिलेगी। साथ ही यह ग्राहकों को अपने नजदीक भरोसेमंद आउटलेट में जाकर अपना आधार लिंक कराने की सुविधा भी देगा। बैंक की प्रबंध निदेशक एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी रेणु सत्ती ने कहा कि Paytm का ATM खासतौर पर ब्रांडेड आउटलेट ग्राहकों को उनके आसपास ही आसानी से एक एक्सेस प्वाइंट मुहैया कराकर छोटे शहरों तथा कस्बों में बैंकिंग सेवाएं उपलब्ध करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगें।
Paytm एप पर खास बैंकिंग सेवा
बैंक ने कहा है कि Paytm एप पर एक खास बैंक सेक्शन भी शुरू किया गया है जहां बैंकिंग सेवाएं उपलब्ध है। इनमें भुगतान, डिजिटल डेबिट कार्ड, पासबुक, सहायता तथा सहयोग आदि शामिल है। बैंक ने कहा है कि स्थानीय साझेदारों को संभावित नकदी जमा एवं भुगतान प्वाइंट के रूप में काम करने की सुविधा देकर ऑफलाइन वितरण नेटवर्क का विस्तार करने के लिए अगले तीन सालों में 3000 करोड़ रुपए का निवेश करने की योजना है।

 

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें