कारोबार

कारोबार (2549)

नई दिल्ली। मध्य प्रदेश में उगाए जाने वाले बासमती चावल को भी ज्यॉग्रफीकल इंडीकेटर (जीआइ) पेटेंट दिए जाने के विरोध में उद्योग संगठन उतर आए हैं। संगठनों का कहना है कि केंद्र सरकार को बासमती चावल की ग्लोबल प्रतिष्ठा को बचाना चाहिए और मध्य प्रदेश समेत दूसरे राज्यों को इसमें शामिल नहीं किया जाना चाहिए। अगर ऐसा किया गया तो उद्योग और बासमती की पैदावार वाले पारंपरिक राज्यों के किसानों पर इसका बुरा असर पड़ेगा।बासमती राइस फार्मर्स एंड एक्सपोर्टर्स डवलपमेंट फोरम का कहना है कि सरकार को बासमती ब्रांड की उसी तरह सुरक्षा करनी चाहिए जैसे फ्रांस अपनी शैंपेन की सुरक्षा करता है। फोरम की सदस्य प्रियंका मित्तल ने एक बयान में कहा कि मध्य प्रदेश बासमती चावल का ब्रांड हासिल करना चाहता है। अगर बासमती उत्पादक क्षेत्रों में मध्य प्रदेश को भी शामिल किया जाता है तो इससे ब्रांड की खासियत पर असर पड़ेगा। इससे न सिर्फ पारंपरिक राज्यों बल्कि पूरे देश ही इससे नुकसान होगा। हालांकि मध्य प्रदेश बासमती ब्रांड के तहत अपने सुगंधित चावल को शामिल कराने में पहले विफल हो चुका है। लेकिन अब वह फिर से प्रयास कर रहा है। इस समय पंजाब, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, दिल्ली, पश्चिमी उत्तर प्रदेश और जम्मू कश्मीर के दो जिलों में उगने वाले सुगंधित चावल को बासमती का दर्जा हासिल है।इन राज्यों में उगाए गए सुगंधित चावल को बासमती के तौर पर दर्जा मिलता है। इसके लिए जीआइ का चिन्ह इस्तेमाल किया जा सकता है। इससे उपभोक्ता को क्वालिटी और उत्पादक क्षेत्र का भरोसा मिलता है। दार्जिलिंग की चाय, महाबलेश्वर की स्ट्रॉबेरी, जयपुर की ब्लू पॉटरी, बनारसी साड़ी और तिरुपति के लड्डू कुछ और जीआइ धारक भारतीय उत्पाद हैं।

नई दिल्ली। मार्केट रेगुलेटर सेबी ने वायु टरबाइन बनाने वाली अग्रणी कंपनी सुजलॉन पर एक करोड़ रुपये जुर्माना लगाया है। लिस्टिंग के नियमों का उल्लंघन किए जाने के कारण यह कार्रवाई की गई है।कंपनी को लिस्टिंग के नियमों के तहत शेयर मूल्य के लिहाज से संवेदनशील सूचनाओं की घोषणा करनी होती है। वह एक से ज्यादा बार इसमें विफल रही है। इस वजह से उस पर 1.1 करोड़ रुपये जुर्माना लगाया गया है। एक कंपनी अधिकारी पर लगाया गया पांच लाख रुपये का जुर्माना भी इसमें शामिल है। सेबी के अधिकारी साहिल मलिक ने कहा कि जांच के अनुसार सूचनाएं न देने के कारण कंपनी को कोई फायदा नहीं हुआ और न ही निवेशकों को कोई नुकसान हुआ। लेकिन वह एक से ज्यादा बार सूचनाएं देने में विफल रही। इस वजह से कहा जा सकता है कि कंपनी ने बार-बार नियमों का उल्लंघन किया।सेबी ने इसके लिए सुजलॉन एनर्जी और इसके प्रमोटर तुलसी आर. तांती, गिरीश आर. तांती और हेमल ए. कनुगा को नोटिस जारी किया था। आदेश के अनुसार कंपनी के कंप्लायंस अधिकारी हेमल ए. कनुगा पर पांच लाख रुपये जुर्माना लगाया गया है। बीएसई पर दर्ज सूचना के अनुसार वह कंपनी के सचिव हैं। उल्लंघन के ये मामले अप्रैल 2006 से मार्च 2009 के बीच के हैं।
डेट सिक्योरिटी की लिस्टिंग का समय घटाने की तैयारी:-सेबी ने बांड मार्केट को ज्यादा कार्यकुशल बनाने के लिए डेट सिक्योरिटी की लिस्टिंग का समय घटाने का प्रस्ताव किया है। इसके अनुसार 12 दिनों के बजाय इसकी लिस्टिंग छह दिनों में करने के नियमों का प्रस्ताव किया गया है। इसके अलावा सेबी ने डेट सिक्योरिटी के पब्लिक इश्यू में सभी तरह के निवेशकों के लिए आबसा (बैंक में ब्लॉक्ड राशि के जरिये निवेश आवेदन) लागू करने का भी प्रस्ताव किया है। इसके तहत निवेशक को आवेदन की राशि अपने बैंक खाते में ही आरक्षित करनी होती है। जैसे की निवेशक को शेयर या कोई दूसरा प्रपत्र आवंटित होता है, आरक्षित राशि कंपनी को भेज दी जाती है।
करुर वैश्य बैंक आरोपों से मुक्त:-सेबी ने प्राइवेट क्षेत्र के बैंक करुर वैश्य बैंक को आरोपों से मुक्त कर दिया है क्योंकि उसे शेयरहोल्डिंग की सूचना देने के नियमों का कोई उल्लंघन नहीं मिला। बैंक पर आरोप था कि उसने 15 अक्टूबर 2014 को कंपनी के पास अरविंद रेमेडीज के 5.91 फीसद शेयर थे जो अनिवार्य सूचना देने की सीमा पांच फीसद से ज्यादा थी। सेबी को जांच में पता चला कि बैंक ने शेयर गिरवी पर रखे या बेच दिए। इस वजह से उसकी होल्डिंग में हलचल रही। वास्तविक होल्डिंग भी तय सीमा से कम रही।
शेयर ट्रांसफर, लाभांश भुगतान के लिए गाइडलाइन:-रजिस्ट्रार और शेयर ट्रांसफर एजेंटों द्वारा रिकॉर्ड के रखरखाव, शेयर ट्रांसफर और लाभांश वितरण की प्रक्रिया को मजबूत करने के लिए सेबी ने विस्तृत गाइडलाइन जारी की है। यह गाइडलाइन इश्यूकर्ता कंपनी और बैंकरों पर भी लागू होंगे। मुख्य तौर पर यह गाइडलाइन लाभांश, ब्याज के भुगतान, गलतियों में सुधार और रजिस्ट्रार व शेयर ट्रांसफर एजेंटों के इंटरनल ऑडिट के संबंध में है।

नई दिल्ली। बीएनपी (बैंक नोट प्रेस) को 500 समेत अन्य नोट ज्यादा से ज्यादा छापने का आदेश मिलने के बाद व्यवस्थाओं में ताबड़तोड़ बदलाव किए जा रहे हैं। तीन शिफ्ट, स्टेयरिंग लंच व्यवस्था लागू होने के साथ ही सेवानिवृत्त कर्मचारियों को भी काम पर बुलाया जा रहा है। लेकिन, इस बार स्थायी कर्मचारियों ने स्पष्ट कह दिया है कि कोई भी सेवानिवृत्त कर्मचारी उनसे ऊपर की पोस्ट पर नहीं आएगा।केवल वर्कर श्रेणी के सेवानिवृत्तकर्मी को ही काम पर रखा जाए। यदि ऐसा नहीं होता है, तो वह बर्दाश्त नहीं करेंगे। बीएनपी में नोटबंदी के समय भी कई सेवानिवृत्त कर्मचारियों को काम पर रखा गया था। जनवरी में नोट चोरी कांड के बाद 125 से ज्यादा सेवानिवृत्त कर्मचारियों की सेवा बंद कर दी गई थी। अब जब अधिक नोट छापने के आदेश आए तो बीएनपी प्रबंधन फिर से सेवानिवृत्त कर्मचारियों की सेवाएं ले रहा है। सूत्रों के अनुसार पिछले दिनों प्रबंधन के साथ हुई बैठक में मजदूर संघ पदाधिकारियों ने स्पष्ट कहा था कि जो भी सेवानिवृत्त कर्मचारी काम पर आए वो स्थायी कर्मचारियों का जूनियर बनकर काम करे। केवल वर्कर स्तर के सेवानिवृत्त कर्मियों को रखने पर ही सहमति बनी थी।
अब लंच टाइम और छुट्टी के दिन भी होगी नोटों की छपाई:-मध्य प्रदेश के देवास स्थित बैंक नोट प्रेस (बीएनपी) में ज्यादा से ज्यादा नोट छप सकें, इसके लिए अब कर्मचारी लंच के समय में भी काम करेंगे। गुरुवार को स्टेयरिंग लंच व्यवस्था लागू कर दी गई है। इसे लेकर बीएनपी प्रबंधन व मजदूर संघ के पदाधिकारियों की बैठक हुई, जिसमें लंच में काम करने के दौरान मिलने वाली राशि बढ़ाने के लिए सहमति बनी और कमेटी गठित करने का निर्णय हुआ। इसके अलावा अवकाश के दिनों में बीएनपी में कर्मचारी काम करेंगे। उल्लेखनीय है कि नोटों की कमी को देखते हुए पिछले दिनों बीएनपी को 500 के नोट छापने के निर्देश मिले थे। इसके बाद बीएनपी में तीन शिफ्टों में काम शुरू करते हुए 500 रुपये के नोट छापना शुरू कर दिया था।

नई दिल्ली। आईपीएल 2018, पूर्व के सीजन्स के मुकाबले ज्यादा चर्चित हो रहा है। हाल ही में सामने आई व्यूअरशिप की रिपोर्ट इसकी पुष्टि भी करती है। अभी तक आईपीएल के कुल 10 सीजन पूरे हो चुके हैं, यह आईपीएल का 11वां सीजन है। हर बार के आईपीएल में कुछ न कुछ अलग होता है। इस बार भी कुछ ऐसा ही है। आप इस बार आईपीएल की लाइव स्ट्रीमिंग को देखने के साथ ही कमाई भी कर सकते हैं। हम अपनी इस खबर में आपको जानकारी दे रहे हैं कि आप आखिर कैसे आईपीएल के मैच देखने के दौरान कमाई भी कर सकते हैं।

आईपीएल 2018 को ओपनिंग वीक में मिली 371 मिलियन की व्यूअरशिप: आईपीएल 2018 को ओपनिंग वीक में ही 371 मिलियन की व्यूअरशिप मिली है और इसकी लॉन्चिंग के बाद इसे अब तक सबसे ज्यादा बार हॉटस्टार पर स्ट्रीम किया गया है। आपको बता दें कि ये आईपीएल का 11वां सीजन है और इस सीजन में चेन्नई सुपरकिंग्स और राजस्थान रॉयल्स की दो साल बाद वापसी हुई है।टेलीविजन रेटिंग एजेंसी ब्रॉडकास्ट ऑडियंस रिसर्च काउंसिल इंडिया (बीएआरसी) के मुताबिक इस साल टेलिविजन व्यूअरशिप 288.4 मिलियन पर बनी रही, जबकि हॉटस्टार को 82.4 मिलियन व्यूअरशिप मिली। आईपीएल ब्रॉडकास्ट स्टार इंडिया की ओर से जारी किए गए बयान में कहा गया, “ये आईपीएल की लॉन्चिंग के बाद से अब तक का सबसे ज्यादा व्यूअरशिप पाने वाला सप्ताह रहा है।” इसमें आगे कहा गया है कि टेलिविजन व्यूअरशिप में इजाफो को दक्षिण भारत में 30 फीसद अधिक पहुंच का फायदा मिला है।
जियो क्रिकेट प्ले-अलॉन्ग: जियो क्रिकेट प्ले अलॉन्ग एक लाइल मोबाइल गेम है, जिसे माई जियो एप पर खेला जा सकता है। इसे एंड्रॉयड और आईओएस दोनों ही यूजर्स खेल सकते हैं। यह गेम काफी सारे क्षेत्रीय भाषाओं में उपलब्ध है। वहीं आप जियो सिम के बिना भी इस गेम को खेल सकते हैं। इस गेम शो को खेलने के दौरान आपके सिर्फ अनुमान लगाने होंगे, मसलन अगली गेंद पर क्या होने वाला है। अगर आप एकदम सही होंगे तो आपको प्वाइंट मिलेंगे, जिसका इस्तेमाल आप कुछ पुरस्कार खरीदने के लिए करेंगे। जियो ने विजेताओं के लिए मुंबई में घर, 25 कारें और अन्य प्राइज रखे हैं।
हॉटस्टार देखें और जीतें (हॉट स्टार वॉच एंड प्ले): अगर आप हॉटस्टार में मैच देख रहे हैं तो आप इस दौरान कॉन्टेस्ट में हिस्सा ले सकते हैं। हॉटस्टार में भी इसी तरह का गेम उपलब्ध करवाया गया है, जहां आपको हर गेंद पर क्या होने वाला है उसकी भविष्यवाणी करनी होगी। इनाम में आपको यात्रा, पेटीएम, ओयो, टून्स और फोन-पे के रिवार्ड कूपन्स मिल सकते हैं।

नई दिल्ली। अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमत बढ़ने से घरेलू बाजार में पेट्रोल और डीजल के दाम 55 महीने के अधिकतम स्तर पर पहुंच गई हैं। देश की राजधानी में पेट्रोल की कीमतें शुक्रवार को 74.08 रुपये और डीजल की 65.31 रुपये प्रति डीजल पर पहुंच गईं। पेट्रोल के मूल्य ने 74.10 रुपये प्रति लीटर का सर्वकालिक रिकॉर्ड स्तर सितंबर 2013 में छुआ था।पेट्रोल व डीजल के बढ़ते दामों ने सरकार पर भी दबाव बढ़ा दिया है। बढ़ती कीमतों से आम जनता की परेशानियों को देखते हुए एक्साइज ड्यूटी में कमी कर उपभोक्ताओं को राहत देने की मांग होने लगी है। जानकार मान रहे हैं कि कीमतें इसी तरह बढ़ती रहीं तो महंगाई बढ़ने का भी खतरा ज्यादा होगा। कच्चा तेल ही नहीं बल्कि अमेरिकी डॉलर के मुकाबले रुपये की गिरावट भी पेट्रोलियम उत्पादों की कीमत को हवा दे रही है। दरअसल रुपया गिरने से आयातित कच्चे तेल का देश में मूल्य और बढ़ जाता है। इन वस्तुओं की आसमान छूती कीमतों को लेकर कांग्रेस भी सरकार पर हमलावर हो गई है। पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम ने शुक्रवार को एक ट्वीट में कहा कि भाजपा देश के 22 राज्यों में सरकारें चला रही है। इसके बावजूद वह पेट्रोलियम और पेट्रोलियम उत्पादों को जीएसटी के दायरे में लाने को तैयार नहीं है।अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतें लगातार बढ़ रही हैं। सऊदी अरब की तरफ से कच्चे तेल की कीमतों को ऊंचा रखने की खबर से ऐसा हो रहा है। हालांकि शुक्रवार को सऊदी अरब ने इस बात से इन्कार किया है कि उसने कीमतों को ऊंचा बनाये रखने का कोई संकेत तेल उत्पादक देशों को दिया है।अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतें 74 डॉलर प्रति बैरल (प्रति बैरल करीब 158 लीटर) के करीब पहुंच गई। इंडियन बास्केट में भी क्रूड के भाव 70 डॉलर के आसपास बने हुए हैं। पिछले दिनों इस बात की चर्चा थी कि इंडियन बास्केट में क्रूड के दाम 65 डॉलर प्रति बैरल से ऊपर जाने पर उत्पाद शुल्क में कटौती पर विचार किया जा सकता है। हालांकि बाद में सरकार ने ऐसी किसी संभावना से इन्कार कर दिया था। वित्त मंत्रालय के सूत्र भी बताते हैं कि खजाने की मौजूदा हालत को देखते हुए सरकार एक्साइज ड्यूटी में राहत देने की स्थिति में नहीं है

 

 

 

ए वित्तीय वर्ष की शुरुआत के साथ ही टेलिकॉम कंपनियों ने अपने नए टैरिफ प्लान्स पेश किए हैं जिससे कि अपने ग्राहकों को अच्छे ऑफर्स और अनुभव दे सकें। Vodafone के इस प्लान में यूजर्स को रोजाना 2 जीबी डाटा दिया जा रहा है। इसी बीच वोडाफोन ने 255 रुपये का नया प्री-पेड प्लान बाजार में उतारा है। वोडाफोन के इस प्लान की टक्कर जियो के 198 रुपये और एयरटेल के 249 रुपये वाले प्लान से होगी। एक तरफ जियो ने आईपीएल 2018 के मौके पर 251 रुपये का पैक लॉन्च किया था जिसमें ग्राहकों को 51 दिन तक इस्तेमाल के लिए हर दिन 2 जीबी डेटा मिलता है। दूसरी तरफ एयरटेल ने ऐसा ही प्लान 249 रुपये में उतारा था। जियो और एयरटेल के जवाब में वोडाफोन का कुछ ऐसा ही प्लान 255 रुपये का है। वोडाफोन के इस प्लान में रोज 2 जीबी 3जी-4जी डाटा और अनलिमिटेड कॉलिंग मिलेगी और इस प्लान की वैधता 28 दिनों की होगी। इस प्लान में रोज 100 SMS भी मिलेंगे। हालांकि यह प्लान फिलहाल कुछ ही सर्किल में मिल रहा है। इसलिए रिचार्ज करवाने से पहले अपना प्लान चेक कर लें। बता दें कि इससे पहले आइडिया ने भी 249 रुपये का नया प्लान पेश किया है। यह प्लान प्री-पेड ग्राहकों के लिए है। इस प्लान में रोज 2GB 3G/4G डाटा मिलेगा। साथ में सभी नेटवर्क पर अनलिमिटेड कॉलिंग मिलेगी और रोमिंग में फ्री कॉलिंग की सुविधा मिलेगी। इस प्लान की वैधता 28 दिनों की है।

 

 

 

 

नई दिल्ली। पेंशन निधि विनियामक और विकास प्राधिकरण ने नेशनल पेंशन स्कीम के सब्सक्राइबर्स के लिए बैंक अकाउंट और मोबाइल नंबर की जानकारी देना अनिवार्य कर दिया है। यह जानकारी वित्त मंत्रालय ने दी है।इसके साथ ही प्रिवेंशन ऑफ मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट (पीएमएलए) के दिशानिर्देशों के अनुसार पीएफआरडीए ने नए और मौजूदा सब्सक्राइबर्स के लिए फॉरेन अकाउंट टैक्स कंप्लायंस एक्ट (एफएटीसीए) और सेंट्रल रजिस्ट्री ऑफ सिक्योरिटाइजेशन एसेट रिकंस्ट्रक्शन एंड सिक्टोरिटी…
नई दिल्ली। मोबाइल वॉलेट कंपनी पेटीएम ने आज बताया है कि उसकी गोल्ड की बिक्री तीन गुना बढ़कर 20 किलोग्राम तक पहुंच गई है। कंपनी की यह बिक्री एक अक्षय तृतीया के दिन यानि कि 18 अप्रैल, 2018 को हुई है। सबसे ज्यादा बिक्री बेंगलुरू, दिल्ली-एनसीआर, हैदराबाद, मुंबई और कोलकता में देखने को मिली है।पेटीएम ने अपने एक बयान में बताया कि करीब 1.5 मिलियन ग्राहकों ने 20 किलोग्राम सोना…
नई दिल्लीः रेलवे एक नई योजना लेकर आई है। आपको बता दें कि अगर आप राजधानी या दुरंतो ट्रेन से सफर करते हैं। इस दौरान आपको सफर करते हुए 20 घंटे से ज्यादा का समय लगता है तो रेलवे आपको पानी की एक एक्ट्रा बोतल देगी। ये जानकारी रेलवे बोर्ड ने दी है। अभी राजधानी, दुरंतो और शताब्दी ट्रेन से सफर करने पर यात्रियों को रेल नीर पानी की एक…
नई दिल्ली। देश के बैंकों को मिलने वाली फेक करंसी रिकॉर्ड हाई पर पहुंच गई है। साथ ही देश में नोटबंदी लागू होने के बाद संदिग्ध लेनदेन में 480 फीसद की तेजी दर्ज की गई है। यह जानकारी साल 2016 में नोटबंदी के बाद इस तरह की रिपोर्ट सामने आईं थीं जिनमें लोगों के बैंक खाते में संदिग्ध जमा की स्थिति देखने को मिली थी।बैंकों जिनमें, निजी, सार्वजनिक, सहकारी बैंक…
Page 1 of 183

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें