कारोबार

कारोबार (2936)

नई दिल्ली। बैंक फिक्स्ड डिपॉजिट्स हमेशा से ही लोकप्रिय इंवेस्टमेंट प्रोडक्ट्स के रूप में केवल सीनियर सिटीजन्स के बीच ही नहीं, बल्कि उन निवेशकों के लिए भी है जो कि जोखिम नहीं लेना चाहते हैं। आमतौर पर अपनी जमा-पूंजी को बैंक की फिक्स डिपॉजिट स्कीम यानी एफडी में रखने का चलन बहुत ज्यादा है। सैलरी पेशा हों या कारोबारी, ज्यादातर लोग अपनी बचत का एक हिस्सा बैंक एफडी में निवेश करते ही हैं।लेकिन आपको कितना पैसा इसमें लगाना चाहिए, यह लक्ष्य तय करना जरूरी है। जैसे कि आपके बच्चे के हायर एजुकेशन के लिए 15 साल पहले ही एफडी में सेविंग करना कोई शानदार आइडिया नहीं है क्योंकि एफडी का पोस्ट-टैक्स रेट आपको रियल रिटर्न नहीं देगा। लेकिन अगर आप दो साल में कोई हॉलीडे प्लान कर रहे हैं, तो यह एफडी मदद कर सकती है।कोई भी एफडी चुनने से पहले आपको इसके इंटरेस्ट रेट्स की तुलना करना चाहिए।

नई दिल्ली। अमेरिका के शीर्ष उद्योगपति जॉन चैंबर्स ने कहा है कि अगर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को अगले संसदीय चुनाव में देश का नेतृत्व करने का मौका नहीं मिला तो भारत का प्वशाली और समग्र विकास खतरे में पड़ सकता है।सिस्को सिस्टम्स के पूर्व एक्जीक्यूटिव चेयरमैन व सीईओ जॉन चैंबर्स ने यहां भारतीय संवाददाताओं से बातचीत में कहा कि भारत के सामने सबसे मजबूत और समग्र विकास करने का अवसर है। इसके लिए कम से कम एक दशक तक प्रयास जारी रखने होंगे। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी के पास यह करने की क्षमता है। वह देश को सही दिशा में ले जा रहे हैं।यूएस-इंडिया स्ट्रैटजिक एंड पार्टनरशिप फोरम (यूएसआइएसपीएफ)के वार्षिक लीडरशिप समिट के उद्घाटन के बाद चैंबर्स ने संवाददाताओं से बातचीत में कहा कि मोदी को यह काम पूरा करने का अवसर नहीं मिलता है तो विकास की रफ्तार खतरे में पड़ सकती है। उनसे पूछा गया था कि अगर 2019 में मोदी दोबारा नहीं चुने गए तो क्या स्थिति बनेगी। चैंबर्स ने कहा कि मोदी साहसी हैं, वह हर रोज अपने देश के भविष्य के बारे में सोचते हुए जागते हैं।भारत-अमेरिका संबंधों पर एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि द्विपक्षीय रिश्तों में विस्तार की व्यापक संभावनाएं हैं। दोनों देशों के बीच व्यापारिक विस्तार की इतनी व्यापक संभावनाएं है कि छोटे-मोटे अवरोधों से इस पर कोई असर नहीं पड़ेगा।
भारत-अमेरिका के कारोबार की रफ्तार दोगुनी:-इस बीच, अमेरिका के शीष सीनेटर रॉब पोर्टमैन ने कहा है कि भारत-अमेरिका के बीच कारोबार की वृद्धि दर चीन-अमेरिकी कारोबार की वृद्धि दर से दोगुनी है। यह तथ्य दुनिया को यह संदेश देने के लिए पर्याप्त है कि द्विपक्षीय रिश्ते बहुत गहरे हैं। फोरम के उद्घाटन सत्र को संबोधित करते हुए पोर्टमैन ने कहा कि टैरिफ और नॉन-टैरिफ बैरियर खत्म करने की जरूरत पर बल दिया। इस बाधाओं से द्विपक्षीय कारोबार में बाधा उत्पन्न होती है। उन्होंने कहा कि आज दोनों देशों के बीच कारोबार 126 अरब डॉलर है। वर्ष 2005 के बाद से कारोबार में 370 फीसद की वृद्धि हुई है। जबकि इस दौरान अमेरिका-चीन का कारोबार 174 फीसद बढ़ा था।


नई दिल्ली - स्पाइसजेट और इंडिगो की सेल का आज आखिरी दिन है। इस सेल में फ्लाइट टिकट की शुरुआत महज 999 रुपये से हो रही है। सस्ते में मिलने वाले टिकटों की संख्या कुल 12 लाख है। ये डिस्काउंट डॉमेस्टिक और इंटरनेशनल फ्लाइट रूट्स पर है। जानिए इन ऑफर्स के बारे में पूरी जानकारी:
स्पाइसजेट मेगा मॉनसून सेल
फ्लाइट कंपनी स्पाइसजेट डॉमेस्टिक फ्लाइट टिकटों की कीमत की शुरुआत महज 999 रुपये से कर रही है। कंपनी की वेबसाइट की मानें तो लोग आठ अक्टूबर तक यात्रा कर सकते हैं। इस सेल के अलावा स्पाइसजेट 20 प्रतिशत का डिस्काउंट स्पाइस मैक्स, खाने आदि पर भी दे रहा है। इसके लिए लोगों को ADDON20 प्रोमो कोड का इस्तेमाल करना होगा।
इंडिगो 12वीं एनिवर्सिरी सेल
इंडिगो ने मंगलवार को सबसे बड़ी सेल का ऐलान किया था। यह सेल 1212 रुपये से शुरू हो रही है। चार दिवसीय इस सेल की शुरुआत दस जुलाई से हुई थी और यह खत्म आज हो जाएगी। इस ऑफर के तहत कंपनी 12 लाख सीट को तकरीबन 25 फीसदी डिस्काउंट पर बेचेगी। यात्री 25 जुलाई से लेकर 30 मार्च 2019 के बीच फ्लाइट की यात्रा कर सकेंगे। जानकारी के अनुसार, यह ऑफर डॉमेस्टिक और इंटरनेशनल दोनों ही तरह की फ्लाइट्स के लिए वैलिड है।
एयर एशिया सेल
विमानन कंपनी एयर एशिया ने भी ऑफर की शुरुआत की थी। हालांकि, इसके तहत यात्री 15 जुलाई तक यात्रा करने के लिए टिकट बुक करा सकेंगे। एयरएशिया कंपनी के अनुसार, यात्री 1 फरवरी 2019 से लेकर 13 अगस्त 2019 तक यात्रा कर सकेंगे। वहीं, टिकट की कीमत की बात करें तो इसकी शुरुआत महज 999 रुपये से हो रही है।

 


नई दिल्ली - देश की दिग्गज आईटी कंपनी इन्फोसिस ने वित्त वर्ष 2019 की पहली तिमाही के नतीजे जारी कर दिये हैं। कंपनी के नतीजे अनुमान के मुताबिक ही रहे हैं। जून तिमाही में इन्फोसिस का शुद्ध मुनाफा 3612 करोड़ रुपये रहा, जबकि बीते वर्ष की सामान अवधि में कंपनी ने 3483 करोड़ रुपये का मुनाफा कमाया था। मौजूदा वित्त वर्ष की पहली तिमाही में कंपनी के मुनाफे में 3.7 फीसद की बढ़ोतरी हुई है। कंपनी का रेवेन्यू फ्रॉम ऑपरेशन 12 फीसद बढ़कर 19,128 करोड़ रुपये रहा, जबकि वित्त वर्ष 2018 की जून तिमाही में कंपनी का रेवेन्यू फ्रॉम ऑपरेशन 17078 करोड़ रुपये रहा था।
इन्फोसिस भारत की दूसरी बड़ी आईटी कंपनी है। कंपनी ने एक पर एक शेयर का भी ऐलान किया है। गौरतलब है कि इन्फोसिस से पहले भारत की सबसे बड़ी आईट कंपनी टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज (टीसीएस) ने अनुमान से बेहतर नतीजे पेश किए थे।
कंपनी ने वित्त वर्ष 2019 में कॉन्स्टेंट कंरसी अनुमान को 6 फीसद से 8 फीसद पर बरकरार रखा है। वहीं ऑपरेटिंग मार्जिन गाइडेंस 22 से 24 फीसद पर स्थिर रखा है। इसके साथ ही मिशेल गिब्स को कंपनी के स्वतंत्र निदेशक के तौर पर तीन वर्षों के लिए नियुक्त किया गया है। इन्फोसिस के निदेशक बोर्ड ने अप्रैल में शेयरधारकों को लाभांश के मद में कुल 13,000 करोड़ रुपये बांटने को मंजूरी दे दी थी।
कैसा रहा बीएसई पर प्रदर्शन
तिमाही नतीजों से पहले बंबई स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) पर इन्फोसिस लिमिटेड का शेयर 1.12 फीसद चढ़कर 1309.10 के स्तर पर कारोबार कर बंद हुआ है। इसका दिन का उच्चतम 1331.35 और निम्नतम 1300.15 का स्तर रहा है। वहीं, 52 हफ्तों का उच्चतम 1358 का स्तर और निम्नतम 861.50 का स्तर रहा है। इक्विटी वॉल्यूम के आधार पर बीएसई पर 11.06 लाख और एनएसई पर करीब 97 लाख शेयर्स में कारोबार हुआ है।

 


नई दिल्ली - सुप्रीम कोर्ट को सूचित किया गया कि सहारा समूह की ऐंबी वैली संपत्तियों की नीलामी की प्रक्रिया रोक दी गई है, क्योंकि नीलामी के नोटिस के जवाब में किसी संभावित खरीदार से जवाब नहीं मिला। प्रधान न्यायाधीश दीपक मिश्रा, न्यायमूर्ति रंजन गोगोई और न्यायमूर्ति एके सिकरी की विशेष खंडपीठ को बंबई हाईकोर्ट के आधिकारिक परिसमापक ने गुरुवार को यह जानकारी दी।
पीठ ने ऐंबी वैली में सहारा समूह की संपत्ति अपने कब्जे में लेने के लिए एक रिसीवर नियुक्त किया था। पीठ ने आधिकारिक परिसमापक को निवेशकों का धन वसूलने के लिए इन संपत्तियों की नीलामी प्रक्रिया जारी रखने का आदेश दिया था। पीठ ने नीलामी प्रक्रिया बंद करने का आदेश देते हुए साई राइडम रियल्टर्स प्रा.लि. और प्राइम डाउन टाउन रियल इस्टेट प्रा.लि. को सेबी-सहारा खाते में एक हजार करोड़ रुपये जमा कराने का निर्देश दिया था। इससे पहले, सहारा समूह ने कहा था कि ये फर्म मुंबई के वसई में उसकी संपत्तियों को खरीदने के लिए तैयार हैं। सहारा समूह की ओर से वरिष्ठ अधिवक्ता विकास सिंह ने कहा कि वसई की संपत्ति की बिक्री से करीब एक हजार करोड़ रुपये मिलेंगे, जिसे सेबी-सहारा खाते में जमा करा दिया जाएगा। पीठ ने इसके बाद दोनों फर्मो से कहा कि वे गुरुवार को ही 99 करोड़ रुपये का बैंक ड्राफ्ट जमा कराएं और उन्हें शेष राशि जमा कराने के लिए एक समय सीमा निर्धारित कर दी। पीठ ने दोनों फर्मो से कहा कि वे 15 अगस्त तक दो सौ करोड़ रुपये और 12 सितंबर तक 682.8 करोड़ रुपये जमा कराएं। न्यायालय ने उन्हें आगाह किया कि इसका पालन नहीं करने पर अवमानना कार्यवाही की जा सकती है और जमा की गई राशि जब्त कर ली जाएगी।


नई दिल्ली - रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी एशिया के सबसे अमीर व्यक्ति बन गये हैं। उन्होंने चीन की ई-कॉमर्स वेबसाइट अलीबाबा के संस्थापक जैक मा को पीछे छोड़ते हुए यह रिकॉर्ड बनाया है।
शुक्रवार को मुकेश अंबानी की संपत्ति 44.3 बिलियन डॉलर हो गई और इसकी वजह कंपनी के शेयर्स में आई जबरदस्त तेजी रही। ब्लूमबर्ग बिलियनर इंडेक्स के अनुसार गुरुवार को जैक मा की संपत्ति 44 बिलियन डॉलर रही। जैक मा की कंपनी अमेरिका में लिस्टेड है। मुकेश अंबानी की संपत्ति में इस साल चार बिलियन डॉलर और जुड़ गये हैं।
इस महीने की शुरुआत में अंबानी ने कंपनी की एजीएम में बताया था कि वह अपने 215 मिलियन टेलीकॉम सब्सक्राइबर्स के विस्तार के लिए ई-कॉमर्स में भी कदम रखने वाले हैं। ऐसा होने पर अमेजन और वालमार्ट जैसी कंपनियों को निश्चित तौर पर चुनौती मिलेगी। इसके साथ ही रिलायंस इंडस्ट्रीज ने अपनी पेट्रोकेमिकल्स की क्षमता दोगुना कर ली है।
वहीं वर्ष 2018 में अलीबाबा सूमह का स्वामित्व रखने वाले जैक मा अबतक 1.4 बिलियन डॉलर गंवा चुके हैं। गौरतलब है कि रिलायंस इंडस्ट्रीज की प्लानिंग ऑनलाइन टू ऑफलाइन रिटेल शुरू करने की है। इसे समूह की टेलिकॉम सर्विस और 7500 रिटेल स्टोर्स के साथ मिलाकर तैयार किया जाएगा। इस प्लानिंग के जुड़े लोगों के अनुसार यह एक तरह से हार्डवेयर का सॉफ्टवेयर के साथ इंटिग्रेशन होगा। यहां से कोई भी, कभी भी और कहीं से भी सामान खरीद सकेगा।
एजीएम में अंबानी ने बताया, “मौजूदा समय में रिलायंस एक टेक्नोलॉजी कंपनी बनने की राह पर है। हमें इस वक्त हाइब्रिड ऑनलाइन टू ऑफलाइन कॉमर्स प्लेटफॉर्म में काफी ग्रोथ दिख रही है। रिलायंस प्लेटफॉर्म ग्राहकों के घर के नजदीकी या ऑनलाइन स्टोर्स के विकल्प दिखाएगा।”
रिलायंस बनी 100 अरब डॉलर की कंपनी
भारत की सबसे बड़ी आईटी कंपनी टीसीएस (टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज) के 100 अरब डॉलर (करीब 6.85 लाख करोड़ रुपये) की कंपनी बनने के बाद अब रिलायंस भी इस क्लब में शामिल हो गई है। गुरुवार को शेयर बाजार में आई तेजी के बाद रिलायंस 100 अरब डॉलर की कंपनी बनने में सफल रही है और इसका बाजार पूंजीकरण करीब 6.89 लाख करोड़ रुपये हो गया।
रिलायंस ने अक्टूबर 2007 में पहली बार 100 बिलियन डॉलर मार्केट कैप का आंकड़ा पार किया था। उस समय डॉलर के मुकाबले भारतीय रुपया 39.5 के स्तर पर था। रुपये में बात करें तो उस समय कंपनी की मार्केट कैप 4.11 लाख करोड़ रुपये थी।

नई दिल्ली - भारत की सबसे बड़ी आईटी कंपनी टीसीएस (टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज) के 100 अरब डॉलर (करीब 6.85 लाख करोड़ रुपये) की कंपनी बनने के बाद अब रिलायंस भी इस क्लब में शामिल हो गई है।गुरुवार को शेयर बाजार में आई तेजी के बाद रिलायंस 100 अरब डॉलर की कंपनी बनने में सफल रही है और इसका बाजार पूंजीकरण करीब 6.89 लाख करोड़ रुपये हो गया। करीब 12.15 बजे…
गूगल की वीडियो प्लेटफॉर्म कंपनी यूट्यूब भ्रामक सूचनाओं पर शिकंजा कसने और समाचार संगठनों की मदद के लिए खबर की सच्चई परखने के वास्ते कई कदम उठा रही है। इसके अलावा कंपनी इन चुनौतियों से मुकाबला करने के लिए 2.5 करोड़ डॉलर का निवेश भी करेगी। यूट्यूब ने यह जानकारी दी। कंपनी ने कहा कि वह समाचार स्नेतों को और अधिक (विश्वसनीय) बनाएगी, खासतौर से ब्रेकिंग न्यूज के मामले में…
अगर अपने लिए कम बजट में शानदार फीचर्स वाला स्मार्टफोन खरीदना चाहते है तो आपके लिए खुसखबरी है आपको बता दें कि जानी मानी स्मार्टफोन मेकर कंपनी Sony जल्द ही अपना नया स्मार्टफोन Sony Xperia ZS Pro मार्किट में उतारने जा रही है तो चलिये बताते है आपको स्मार्टफोन के फीचर्स और कीमत -Sony Xperia ZS Pro के शानदार फीचर्स - 5.7 इंच डिस्प्ले - Qualcomm Snapdragon 845 Octa core…
आज के तकनीकी समय में हर कोई चाहता कि उसके पास बेहतरीन फीचर्स वाला स्मार्टफोन हो तो आज हम आपको ये खुशखबरी बताने जा रहें है कि शाओमी भारत में बहुत जल्द अपना नया स्मार्टफोन Mi8 SE को लांच करने जा रहा तो हम आपको बताते है इस फोन के फीचर्स और कीमत -स्मार्टफोन Mi8 SE के फीचर्स:- 5.88 इंच डिस्प्ले - 6 जीबी रैम - 64 जीबी रोम- 2.2GHz…
Page 8 of 210

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें