कारोबार

कारोबार (2936)

नई दिल्ली। कंज्यूमर बिजनेस को ध्यान में रखते हुए रिलायंस इंडस्ट्रीज मौजूदा वित्त वर्ष में करीब 400 अरब रुपये जुटाने की योजना बना रही है। ब्लूमबर्ग के मुताबिक रिलायंस की योजना अपने कंज्यूमर बिजनेस को बढ़ाने की है।रिलायंस इंडस्ट्रीज बाजार पूंजीकरण के लिहाज से भारत की दूसरी बड़ी कंपनी है। ब्लूमबर्ग ने सूत्रों के हवाले से बताया है कि मुकेश अंबानी की कंपनी यह रकम कर्ज और बॉन्ड के जरिए जुटाएगी, जो अधिकांश रूप से भारतीय मुद्रा में होगा।गौरतलब है कि रिलायंस का कुल कर्ज पिछले पांच सालों में तीन गुना हो चुका है। कंपनी ने अपने टेलीकॉम वेंचर को अमली जामा पहनाने और पेट्रोकेमिकल बिजनेस को आगे बढ़ाने के लिए जरूरी 3.3 ट्रिलियन रुपये के खर्च को पूरा करने के लिए कर्ज ले रखा है। ब्लूमबर्ग के जुटाए गए आंकड़ों के मुताबिक कंपनी ने कुल करीब 2.2 ट्रिलियन रुपये का कर्ज ले रखा है, जिसमें से आधी रकम को 2022 तक भुगतान किया जाना है।रिलायंस कम्युनिकेशन डील की वजह से इस साल कंपनी की कुल देनदारी बढ़ने की आशंका है। गौरतलब है कि रिलायंस को रिलायंस कम्युनिकेशन के स्पेक्ट्रम, मोबाइल फोन टावर्स और फाइबर एसेट्स की खरीदारी के बदले करीब 173 अरब रुपये का भुगतान करना है। वहीं आलोक इंडस्ट्रीज के लिए उसे 50 अरब डॉलर का भुगतान करना है।
वालमार्ट और अमेजन को टक्कर देने की तैयारी में रिलायंस:-अंबानी ने इस बात की घोषणा की है कि कंपनी आने वाले समय में ऑनलाइन मार्केटप्‍लेस खोलने की तैयारी कर रही है। उन्होंने बताया है कि आरआइएल की ऑनलाइन और रि‍टेल दोनों पर उपस्थिति है ऐसे में कंपनी इन्हें मि‍लाकर एक नया प्‍लेटफॉर्म बनाने की योजना पर काम कर रही है। रिलायंस इंडस्ट्रीज की प्लानिंग ऑनलाइन टू ऑफलाइन रिटेल शुरू करने की है। इसे समूह की टेलिकॉम सर्विस और 7500 रिटेल स्टोर्स के साथ मिलाकर तैयार किया जाएगा।

नई दिल्ली। विमानन कंपनी विस्तारा ने ग्राहकों को आकर्षित करने के लिए मानसून फ्लैश सेल की घोषणा की है। इसके तहत टिकटों की कीमत 1299 रुपये से शुरू हो रही है। कंपनी ने ऑफर ऐसे समय में पेश किया है जब जेट एयरवेज और एयर एशिया ने भी घरेलू व अंतरराष्ट्रीय रूट्स के लिए स्कीम पेश की है। विस्तारा के ऑफर का लाभ उठान के लिए ग्राहकों को यात्रा से आठ दिन पहले तक बुकिंग करनी होगी।इस ऑफर के लिए बुकिंग महज 24 घंटों के लिए खोली गई है। वहीं यात्री इस पर यात्रा 25 जुलाई, 2018 से 11 अक्टूबर, 2018 के बीच कर सकते हैं। यह जानकारी कंपनी के बयान के अनुसार है। विस्तारा की ओर से पेश किया गया टिकट किराया प्रीमियम इकोनॉमी और बिजनेस क्लास के लिए भी वैध है।
विस्तारा की 24 घंटे मानसून सेल की डिटेल्स-विस्तारा की मानसून सेल में गोवा, बेंगलुरू, कोच्चि, पोर्ट ब्लेयर, गुवाहाटी, बागदोगरा, चेन्नई, लखनऊ आदि गंतव्य शामिल हैं। फ्लाइट की शुरुआती कीमत 1299 रुपये है जो कि कोच्ति से चेन्नई और गुवाहाटी से बागदोगरा रूट के लिए वैध है। वहीं दिल्ली से हैदराबाद और अहमदाबाद से बेंगलुरू के रूट के लिए टिकट की कीमत 2399 रुपये है। गौरतलब है कि विस्तारा टाटा संस लिमिटेड और सिंगापुर एयरलाइन्स लिमिटेड का संयुक्त उपक्रम है। जानकारी के लिए बात दें कि बीते मंगवलार को जेट एयवेज ने टिकटों पर 30 फीसद और इंडिगो ने सूरत के लिए नई कनेक्टिंग फ्लाइट का एलान किया है।

 

 

नई दिल्ली। पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) ने वित्त वर्ष 2018 में न्यूनतम बैलेंस न रखने की पेनाल्टी के रूप में 151.66 करोड़ रुपये जमा किया हैं। यह राशि करीब 1.23 करोड़ बचत खातों से जमा की है। एक आरटीआई में यह जानकारी सामने आई है।पीएनबी ने आरटीआई एक्टिविस्ट चंद्र शेखर गौड़ की ओर से दायर सवाल के जवाब में बताया कि वित्त वर्ष 2017-18 के दौरान, 1,22,98,784 बचत खातों से कुल 151.66 करोड़ रुपये न्यूनतम राशि न रखने के जुर्माने के तौर पर रिकवर किये गये हैं।बैंक ने आरटीआई के जवाब में बताया वित्त वर्ष 2018 की पहली तिमाही में बैंक ने 31.99 करोड़ रुपये, दूसरी तिमाही में 29.43 करोड़ रुपये, तीसरे में 37.27 करोड़ रुपये और चौथी में 52.97 करोड़ रुपये जुर्माने के तौर पर वसूले हैं।अर्थशास्त्री जयंतीलाल भंडारी ने सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों की भूमिका पर सवाल उठाया है खासकर कि इस मामले में और कहा, “एक तरफ सरकार ज्यादा से ज्याद लोगों को बैंकिंग सेवा से जोड़ने के लिए अभियान चला रहा है वहीं दूसरी ओर सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक बचत खातों में न्यूनतम राशि न होने पर शुल्क वसूल रही है।”भंडारी ने भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) से पेनाल्टी रेट पर तुरंत ध्यान देने के लिए निवेदन किया है। उन्होंने यह आग्रह गरीब और मध्य वर्गीय लोगों को ध्यान में रखते हुए किया है।

नई दिल्ली। म्युचुअल फंड निवेश के लिए बेहतर विकल्प माना जाता है। इसमे सिस्टेमैटिक इंवेस्टमेंट प्लान (एसआईपी) के जरिए निवेश करने की प्रक्रिया काफी सरल है। इस पर मिलने वाला रिटर्न बाजार में उपलब्ध निवेश के अन्य विकल्पों की तुलना में ज्यादा होता है। बता दें कि इक्विटी म्युचुअल फंड्स में वित्त वर्ष 2019 की पहली तिमाही (अप्रैल से जून तक) में करीब 330 बिलियन रुपये का निवेश किया गया है। साल दर साल के आधार पर यह 15 फीसद की तेजी है।
कैसे जमा होंगे 20 लाख रुपये:-इसी को देखते हुए आपको बता दें कि म्युचुअल फंड में यदि 3000 रुपये का निवेश 25 वर्ष तक किया जाता है और इस पर मिलने वाला ब्याज मान लीजिए कि 12 फीसद है तो आप एक अच्छी रकम जमा कर सकते हैं। एसआईपी कैल्कुलेटर पर गणना करें तो 25 वर्षों में आपकी ओर से करीब 9 लाख रुपये निवेश किये जाएंगे। इसपर 6 फीसद की महंगाई दर मानी गई है। आपको मिलने वाली राशि करीब 20.9 लाख रुपये होगी। यानी कि आपको 11.9 लाख रुपये का फायदा हो सकता है।
क्या कहना है एक्सपर्ट का-निवेश और टैक्स एक्सपर्ट बलवंत जैन का मानना है कि अगर आपके पास समय और जोखिम क्षमता दोनों है तो एसआईपी का चयन करना चाहिए हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि इसमें मिलने वाले ब्याज की दर 15 से 16 फीसद तक भी पहुंच जाता है। इसमें आप महीने के 500 रुपये से भी निवेश की शुरुआत कर सकते हैं। साथ ही इस पर मिलने वाला रिटर्न शेयर बाजार में होने वाले उतार-चढ़ाव पर निर्भर करता है।
क्या कहता है AMFI का डेटा:-वहीं, इस साल मई महीने में एसआईपी में रिकॉर्ड निवेश दर्ज किया गया है। मसलन, निवेशकों का रुझान इस ऑप्शन में बढ़ता दिख रहा है। एसोसिएशन ऑफ म्युचुअल फंड इन इंडिया (एएमएफआई) के डेटा के मुताबिक मई महीने में एसआईपी के जरिए 7304 करोड़ रुपये जुटाए गये हैं। यह आंकड़ा अप्रैल के 6690 करोड़ रुपये से नौ फीसद ज्यादा रहा है।
क्या होता है एसआईपी:-सिस्टमैटिक इंवेस्टमेंट प्लान पूंजी को बढ़ाने के लिए एक बेहतर निवेश विकल्प है। इसमें निवेश की शुरुआत महज 500 रुपये की राशि के साथ भी की जा सकती है। विशेषज्ञों का मानना है कि बढ़ती महंगाई और भविष्य को आर्थिक रूप से सुरक्षित करने के लिए इस निवेश राशि को अपनी आय में वृद्धि के अनुसार ही बढ़ाते रहना चाहिए।

 

 

नई दिल्ली। आधार अब सिर्फ जरुरत नहीं बल्कि हमारी जरूरतों का आधार बन चुका है। आधार की जरूरत का अंदाजा आप इस बात से लगा सकते हैं कि एयरपोर्ट से लेकर राशन की दुकान तक अब हर जगह इसे दिखाना पड़ता है। वहीं सिर्फ आधार को रखना भर काफी नहीं होता है बल्कि इससे जुड़ी जानकारियों को अपडेट करना भी अब अहम हो चला है।अगर आपके पास आधार रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर है तो आप अपनी आधार अपडेट हिस्ट्री जान सकते हैं। यह जानकारी भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (यूआईडीएआई) ने एक ट्वीट के माध्यम से दी है। आधार नंबर एक 12 डिजिट का पर्सनल आइडेंटिफिकेशन होता है जिसे यूआईडीएआई की ओर से जारी किया जाता है। आधार अपडेट हिस्ट्री में वो सभी जानकारियां उपलब्ध होती हैं जिन्हें इसके जेनरेशन के साथ ही अब तक अपडेट किया गया होता है।इन अपडेट में कुछ भी हो सकता है मसलन आपका नाम, पता, डेट ऑफ बर्थ, जेंडर, मोबाइल नंबर एवं ईमेल। यूजर यूआईडीएआई की आधिकारिक वेबसाइट पर जा सकते हैं। यूजर uidai.gov.in पर जाकर अपनी आधार अपडेट हिस्ट्री जान सकते हैं।लोग इस सुविधा का लाभ नौकरी में आवेदन के लिए, स्कूल में एडमिशन के लिए और तमाम अन्य सेवाओं के लिए कर सकते हैं। ये कुछ ऐसे तरह के मामले हैं जब उन्हें आमतौर पर उन्हें बीते दो से तीन सालों का एड्रेस प्रूफ देना होता है।
आधार हिस्ट्री जानने का ये है स्टेप बाई स्टेप तरीका:
-uidai.gov.in पर जाकर लॉग इन करें
-आधार अपडेट सेक्शन पर जाएं और फिर आखिरी ऑप्शन आधार अपडेट हिस्ट्री पर क्लिक करें।
-आधार अपडेट हिस्ट्री पर क्लिक करने के बाद यह आपको सीधे पेज पर डायरेक्ट कर देगा। यहां पर आपको अपनी आधार डिटेल देनी होगी।
-यहां पर या तो आप अपना आधार नंबर एंटर करा सकते हैं या फिर वर्चुअल आईडी, जिसके बाद आपको सिक्योरिटी कोड देना होता है।
-ऐसा करने के बाद आपको एक ओटीपी (वन टाइम पासवर्ड) मिलेगा, जो कि आपके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर प्राप्त होगा। ऐसा करते ही आप सीधे आधार अपडेट हिस्ट्री वाले पेज पर डायरेक्ट हो जाएंगे।
-UIDAI ने इससे पहले 16 डिजिट वाले आईडेंटिफिकेशन नंबर की घोषणा की थी जिसे वर्चुअल आईडी (वीआईडी) कहा गया। यह आधार कार्ड का अल्टर्नेटिव है

नई दिल्ली। एलआईसी (भारतीय जीवन बीमा निगम) ने सोमवार को आईडीबीआई बैंक में अधिकांश हिस्सेदारी के अधिग्रहण के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है। आर्थिक मामलों के सचिव सुभाष चंद्र गर्ग ने बताया कि आईडीबीआई को पूंजी की जरूरत है और इसलिए शेयर खरीद के लिए प्रेफर्ड ऑप्शन प्रीफ्रेंशियल इश्यू है। चूंकी सार्वजनिक हिस्सेदारी कम है इसलिए ओपन ऑफर संभव नहीं है।गर्ग एलआईसी बोर्ड में सरकार के प्रतिनिधि भी हैं। उन्होंने यह भी बताया कि इस सौदे के लिए आइडीबीआई बैंक के बोर्ड और सरकार की मंजूरी की जरूरत नहीं है। बीमा नियामक इरडा ने एलआईसी को आईडीबीआई बैंक में अपना स्टेक 10.82 फीसद से बढ़कार 51 फीसद करने की मंजूरी दे दी थी। जानकारी के लिए बता दें कि 30 जून तक एलआईसी का बैंक में 7.98 फीसद हिस्सा था। अब यह 43 फीसद और खरीदेगा। सेबी के अधिग्रहण संहिता नियम के मुताबिक अधिग्रहणकर्ता को लक्षित कंपनी के शेयरधारकों के लिए ओपन ऑफर लाना होता है।
क्या है आईडीबीआई बैंक के शेयर्स का हाल-बीएसई पर करीब 2.45 बजे आइडीबीआई बैंक 0.09 फीसद की बढ़त के साथ 57.25 के स्तर पर कारोबार कर रहा है। इसका दिन का उच्चतम स्तर 59.10 और निम्नतम 53.30 का स्तर रहा है। वहीं 52 हफ्तों का उच्चतम स्तर 89.80 का स्तर और निम्नतम 47 का स्तर रहा है।

नई दिल्ली। साल 2018 की दूसरी तिमाही में चीन की अर्थव्यवस्था सुस्त रही है, क्योंकि अमेरिकी के साथ जारी ट्रेड वॉर ने अब तेजी पकड़ ली है। अगर यही स्थिति बनी रही तो उसने विश्व के अन्य देशों को भी नुकसान पहुंचने की चेतावनी भी दी है।दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था चीन अप्रैल-जून तिमाही के दौरान 6.7 फीसद की जीडीपी ग्रोथ से बढ़ा है, जबकि पहली माही में वह…
नई दिल्ली। देश की दिग्गज एफएमसीजी (फास्ट मूविंग कंज्यूमर गुड्स) कंपनी हिंदुस्तान युनिलिवर लिमिटेड (एचयूएल) ने वित्त वर्ष 2019 की पहली तिमाही (अप्रैल-जून) के नतीजे जारी कर दिये हैं। कंपनी के नतीजे अनुमान के अनुरूप रहे हैं। सेल्स वॉल्यूम में कंपनी में डबल डिजिट ग्रोथ दर्ज की है।एचयूएल की ओर से एक्सचेंज को दी जानकारी के अनुसार कंपनी का शुद्ध मुनाफा 19.2 फीसद बढ़कर 1529 करोड़ रुपये हो गया है।…
नई दिल्ली। घरेलू इलेक्ट्रॉनिक मैन्यूफैक्चरिंग को बढ़ावा देने की नीति के तहत सरकार मोबाइल हैंडसेट निर्माण के साथ उसके स्वदेशीकरण पर भी जोर दे रही है। सरकार के चरणबद्ध मैन्यूफैक्चरिंग कार्यक्रम के तहत ऐसी इकाइयां स्थापित करने पर जोर दिया जा रहा है, जो मोबाइल हैंडसेट के कलपुर्जो का निर्माण करती हैं। स्वदेशीकरण से मोबाइल हैंडसेट में वैल्यू एडीशन होगा तो कारोबार तो बढ़ेगा ही, इससे नौकरियों के ज्यादा अवसर…
नई दिल्ली। पेट्रोल और डीजल की बढ़ती कीमतों में सभी परेशान हैं। आपको बता दें कि सरकारी तेल विपणन कंपनियां आईओसी, भारत पेट्रोलियम और हिंदुस्तान पेट्रोलियम हर दिन सुबह 6 बजे पेट्रोल एवं डीजल की कीमतों में संशोधन करती हैं।अक्सर शॉर्ट सेलिंग और फ्यूल में मिलावट के चलते पेट्रोल पंप पर धांधली की संभवना बनी रहती है। इस साल फरवरी में ऑयल एंड पेट्रोलियम मिनिस्टर धर्मेंद्र प्रधान ने बताया था…
Page 7 of 210

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें