कारोबार

कारोबार (2338)


नई दिल्ली - चेकफेक ब्रैंड प्रोटेक्शन सिस्टम प्राइवेट लिमिटेड ने एक अनोखा ग्लोबल प्लेटफॉर्म 'चेकफेक' एप लांच किया है, जिससे विश्व की किसी भी मुद्रा के करंसी नोट की जांच यूजर्स कर सकते हैं। चेकफेक का मकसद जालसाजों से मुक्त एक ऐसी दुनिया बनाना है, जिससे उपभोक्ताओं, व्यवसायियों और सरकार समेत सभी भागीदारों को लाभ हो।
चेकफेक ऐप की लॉन्चिंग पर चेकफेक के निदेशक और सहसंस्थापक तन्मय जयसवाल ने कहा, 'चेकफेक एक ऑनलाइन प्लेटफॉर्म है, जहां कोई भी विश्व के किसी भाग में प्रचलित मुद्रा की जांच कर सकता है।'
उन्होंने कहा, 'समूची दुनिया में फैले जाली नोटों की कुल कीमत 1.7 ट्रिलियन डॉलर आंकी गई है, जो जाली नोटों के संसार को विश्व की 10वीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनाते हैं। सभी प्रमुख अर्थव्यवस्थाओं के करंसी नोट आज जालसाजों के निशाने पर है। चेकफेक जाली करंसी की पहचान के लिए सिंगल पॉइंट डेस्टिनेशन है, स्मार्टफोन की सहायता से इसे किसी भी जगह से एक्सेस किया जा सकता है या इसका इस्तेमाल किया सकता है।'
जाली करंसी नोट दुनिया में हर जगह सकुर्लेट हो रहे है। इनकी काफी शुद्ध और सटीक ढंग से छपाई की जाती है, जिससे किसी भी उपभोक्ता को इनसे धोखा हो सकता है। हालांकि सभी प्रमुख करंसी नोट में हाई सिक्युरिटी फीचर्स रहते हैं, जिन्हें कॉपी करना काफी मुश्किल होता है। उपभोक्ताओं के लिए यह जानना बहुत जरूरी है कि वह फीचर्स कौन से है, जिससे वह नकली नोटों की पहचान कर सके और खुद सुरक्षित रह सके।
अगर नकली नोटों की पहचान नहीं की जाती तो वह प्रभावित अर्थव्यवस्था पर गंभीर प्रभाव डाल सकते हैं। सामान्य तौर पर विश्व की जिन मुद्राओं के नकली नोट छापे जाते हैं, उनमें ब्रिटिश पाउंड, यूएस डॉलर, यूरो, भारतीय रुपये और चीन की युआन मुद्रा शामिल है।
जयसवाल ने कहा, 'हमने कई ऐसी डरावनी कहानियां सुनी हैं, जिसमें विदेशियों को नकली करंसी नोट थमा दिए जाते हैं, जिससे वह अनजान देश में परेशानियों और समस्याओं से घिर जाते हैं। चेकफेक एप विदेशी यात्रियों को नकली करेंसी नोटों की पहचान करने में मदद कर सकता है, जिससे उनका इस तरह की धोखाधड़ी से बचाव हो सके।'

नई दिल्लीः पर्यटन मंत्रालय ने होटलों के वर्गीकरण के बारे में नये दिशा निर्देश जारी किए हैं। इसके तहत सभी होटलों को अपने दर्ज यानी वे किस सितारा श्रेणी के होटल हैं, के बारे में अपनी वेबसाइट व स्वागत काउंटर पर प्रमुखता से प्रर्दिशत करना होगा। मंत्रालय के अधिकारियों का कहना है कि इन नए दिशा निर्देशों का उद्देश्य होटलों के वर्गीकरण को चुस्त दुस्त बनाना है ताकि वे सरल, पारदर्शी हों।देश में होटलों को उनके यहां उपलब्ध सुविधाओं आदि के आधार पर 1 से 5 सितारा श्रेणी में रखा जाता है। आधिकारिक बयान के अनुसार बदलाव के तहत शुल्कों के वर्गीकरण और भुगतान के लिए आवेदनों को केवल डिजिटल प्लेटफॉर्म में देना होगा। डाक द्वारा आवेदन करने और डिमांड ड्राफ्ट द्वारा शुल्क के भुगतान का विकल्प समाप्त कर दिया गया है।
तीन महीने की समयसीमा हुई तय:-इस प्रक्रिया में मानवीय हस्तक्षेप के कारण संभावित विलंब/गड़बड़ी की आशंका समाप्त होगी। इसी तरह अब किसी होटल को अपने यहां कमियों को सयमबद्ध तरीके से दूर करना होगा। इसके लिए तीन महीने की समयसीमा तय की गई है ताकि समयबद्ध अनुपालन व निपटान सुनिश्चित हो। इन संशोधनों के तहत किसी होटल परिसर में बार के अलावा शराब की दुकान या स्टोरों को ‘शराब के साथ’ स्टार होटल श्रेणी में वर्गीकरण के लिए विचार नहीं किया जाएगा।

नई दिल्लीः बजट को लेकर आज जेटली के साथ राज्यों एवं केन्द्र शासित प्रदेशों के वित्त मंत्रियों के साथ बैठक की। इस दौरान अरुण जेतली ने उनके साथ बजट पूर्व चर्चा की और राज्यों की सिफारिशों को वर्ष 2018-19 के बजट को तैयार करने के दौरान ध्यान में रखने का आश्वासन दिया। बैठक में दोनों केन्द्रीय वित्त राज्य मंत्रियों के साथ ही हिमाचल प्रदेश और पुड्डुचेरी के मुख्यमंत्री, बिहार, दिल्ली, गुजरात, मणिपुर और तमिलनाडु के उप मुख्यमंत्री और 14 राज्यों के वित्त मंत्री या उनके प्रतिनिधि तथा वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे। राज्य सरकारों के प्रतिनिधियों ने वित्तीय नीति और बजटीय उपायों पर कई सुझाव दिए जिसको बजट में समाहित करने पर केन्द्र सरकार विचार कर सकती है। जेतली ने कहा कि राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशों के सुझावों और सौंपे गये ज्ञापनों का अध्ययन कर सहकारी संघवाद के मूलमंत्र के आधार पर वर्ष 2018-19 के बजट प्रस्तावों में उन्हें शामिल करने पर विचार किया जाएगा।

 

 

 

नई दिल्लीः भारतीय स्टील एक्सपोर्टर्स के लिए बुरी खबर है, अमेरिका ने भारत से इंपोर्ट होने वाले स्टील प्लेट पर एंटी डंपिंग ड्यूटी लगाने का फैसला लिया है। ये ड्यूटी स्टेनलेस स्टील पाइप कैप पर लगाई गई है। आपको बता दें कि अमेरिका में भारत से करीब 3.21 करोड़ डॉलर का स्टील इंपोर्ट होता है। खबर के चलते आज मेटल दिग्गजों में बड़ी गिरावट देखने को मिली। सेल करीब 5 फीसदी टूटा है, वहीं हिन्डाल्को में करीब 3 फीसदी की गिरावट आई है। टाटा स्टील में भी 3.5 फीसदी की गिरावट देखने को मिली है।हालही में आए आंकड़ों तो देखा जाए तो स्टील एक्सपोर्टर्स इतना बेहतर कारोबार नहीं कर रहा है। सबसे चौंकाने वाले आंकड़े हैंडटूल्स एक्सपोर्ट को लेकर सामने आए हैं। हैंडटूल एक्सपोर्ट में 25 प्रतिशत की भारी गिरावट दर्ज की गई है। पता चला है कि सबसे तगड़ा झटका भारत को हैंडटूल एक्सपोर्ट के क्षेत्र में चीन ने दिया है। स्टील की बढ़ती कीमतों, डॉलर में रुपए के मुकाबले बढ़ौतरी न होने तथा निर्यातकों को जी.एस.टी. लागू होने के बाद रिफंड न मिलने से भी निर्यात में गिरावट का रुख देखा गया है।

नई दिल्लीः वस्तु एवं सेवाकर (जीएसटी) परिषद् ने 29 वस्तुओं और 53 सेवाओं पर कर की दरें घटाने का फैसला किया है। परिषद् की आज हुई 25वीं बैठक के बारे में जानकारी देते हुये वित्त मंत्री अरुण जेटली ने बताया कि फिटमेंट समिति ने कुल 29 वस्तुओं और 54 सेवाओं पर करों की दरें घटाने की सिफारिश की थी। इनमें 29 वस्तुओं और 53 सेवाओं पर दर घटाने का सुझाव स्वीकार कर लिया गया है। नई दरें 25 जनवरी से प्रभावी हो जाएंगी।एक प्रश्न के उत्तर में जेटली ने कहा कि इन वस्तुओं और सेवाओं पर दरों में कमी करने से राजस्व का बहुत ज्यादा नुकसान नहीं होगा। ये वैसी वस्तुएं और सेवाएं हैं, जिनमें रोजगार बड़े पैमाने पर मिलता है। इसके अलावा करीब 40 वस्तुओं को हस्तशिल्प उत्पादों की श्रेणी में शामिल किया गया है, जिससे उन पर कर की दर घटकर शून्य प्रतिशत रह जाएगी।
पेट्रोल-डीजल पर नहीं बनी सहमति:-रियट इस्टेट के अलावा यह भी उम्मीद जताई जा रही थी कि इस मीटिंग में पेट्रोल और डीजल को भी जीएसटी के दायरे में लाया जा सकता है लेकिन इस पर कोई सहमति नहीं बन पाई। पेट्रोल और डीजल की कीमतों में लगातार बढ़ोतरी हो रही है। पेट्रोल की कीमत फिर 80 रुपये के करीब पहुंच गई है। वहीं, कई राज्यों में डीजल 65 का आंकड़ा पार कर चुका है।
व्यापारियों को थी राहत की उम्मीद:-जी.एस.टी. के बारे में व्यापारियों और दुकानदारों की शुरू से यह शिकायत रही है कि उन्हें जी.एस.टी. के लिए कई फॉर्म भरने पड़ते हैं। संभावना है कि GSTR-1, GSTR-2, GSTR-3 फॉर्म को खत्म कर एक फॉर्म बनाया जा सकता है लेकिन ऐसा नहीं हुआ । बिल का मिलान हर महीने करने के बदले 3 महीने में करने की सुविधा मिल सकती है

मुंबईः भारत आने वाले विदेशी पर्यटकों की 2017 में संख्या एक करोड़ रही और इसे अगले तीन साल में बढ़ाकर 2 करोड़ किए जाने का लक्ष्य है। केंद्रीय पर्यटन राज्य मंत्री के. जे. अल्फोंस ने कहा कि वर्ष 2017 में 1 करोड़ से ज्यादा विदेशी पर्यटकों का आगमन हुआ, यदि इसमें गैर-निवासी भारतीय की संख्या भी जोड़ ली जाए तो यह संख्या 1.7 करोड़ से ऊपर होती है। इनसे होने वाली आय डॉलर में 20.2 प्रतिशत बढ़ गई है, विश्व में पर्यटन वृद्धि की तुलना में यह बहुत बेहतर है जहां पांच प्रतिशत से कम वृद्धि हुई है।’’ उन्होंने कहा कि यह बहुत रोमांचित करने वाले आंकड़े हैं और सरकार 2020 तक विदेशी पर्यटकों के आगमन को दोगुना करने की दिशा में काम कर रही है।इसे साकार करने के लिए हम राज्य सरकारों और उद्योग के साथ काम कर रहे हैं, क्योंकि इसमें उनकी बहुत बड़ी भूमिका है। इसलिए हम सब मिलकर काम कर रहे हैं ताकि इसे साकार कर सकें।’’ उन्होंने कहा कि पर्यटन क्षेत्र में भारत का बहुत बेहतर प्रदर्शन रहा है। विदेशी पर्यटक आगमन मामले में अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भारत का 13वां और एशिया-प्रशांत में सातवां स्थान है। आगामी पर्यटन नीति पर अल्फोंस ने कहा कि यह अगले दो-तीन महीने में जारी हो जाएगी। हम लोगों के विचार शामिल करने की प्रक्रिया में हैं। आगामी आम बजट से उम्मीद के बारे में उन्होंने कहा कि उन्हें इस वर्ष पिछले साल से अधिक राशि मिलने की आशा है।

सरकार 70-80 वस्तुओं और सेवाओं पर जीएसटी घटाकर उपभोक्ताओं और उद्योगों को राहत देने के संकेत दिए हैं। वित्त मंत्री अरुण जेटली की अध्यक्षता में गुरुवार को राज्यों के वित्त मंत्रियों के साथ होने वाली परिषद की बैठक में इस पर मुहर लग सकती है।एक फरवरी को आम बजट के पूर्व इस बैठक को काफी महत्वपूर्ण माना जा रहा है। दाम निर्धारण समिति के एक अधिकारी के मुताबिक, परिषद करीब…
कई साधारण बीमा कंपनियों ने खुद हुए नुकसान (ओन डैमेज) के बीमा प्रीमियम में 5 से 20 फीसदी तक की कमी का ऐलान किया है। इससे ग्राहकों की कार बीमा किस्त में कमी होगी। बजाज एलियांज, आईसीआईसीआई लोम्बार्ड, यूनीवर्सल सोंपो ने इस श्रेणी के बीमा प्रीमियम में कटौती कर दी है। एचडीएफसी एरगो, फ्यूचर जनरल इंडिया और अन्य कंपनियां भी इस पर जल्द फैसला कर सकती है।यूनीवर्सल सोंपो के एमडी…
रिजर्व बैंक ने कुछ व्यापारियों के सिक्के लेने से मना करने की शिकायतों के मद्देनजर बुधवार को कहा कि 10 रुपये के सिक्के के सभी 14 डिजायन वैध और मान्य हैं।रिजर्व बैंक ने एक बयान में कहा, ''रिजर्व बैंक के संज्ञान में यह आया है कि असली-नकली के संदेह के कारण कई जगहों पर लोग व व्यापारी 10 रुपये के सिक्के लेने से मना कर दे रहे हैं।रिजर्व बैंक ने…
नए साल के मौके पर अमेजन ग्रेट इंडियन सेल लेकर आ रहा है। यह सेल 21 जनवरी से शुरू हो रही है जो 24 जनवरी तक चलेगी। इस दौरान कई आकर्षक ऑफर और डील मिलेंगे। इसके साथ ही कैशबैक ऑफर भी मिल रहे है। सेल में HDFC डेबिट और क्रेडिट कार्ड होल्डर्स को 10% का डिस्काउंट मिलेगा। अमेजन पे से ट्रांजिक्शन करने वाले कस्टमर्स को 10% का कैशबैक दिया जाएगा…
Page 7 of 167

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें