कारोबार

कारोबार (2560)

होंडा कारों के शौकीन लोगों के लिए खुशखबरी। जी हां होंडा कार्स इंडिया लिमिटेड ने अपने नई कार अमेज की प्री-लॉन्च बुकिंग शुरु कर दी है। अब आप देशभर में होंडा की डिलरशीप में सिर्फ 21,000 रुपये में अमेज कार की बुकिंग कर सकते हैं।आपको बता दें होंडा ने अमेज को इसी साल फरवरी में हुए ऑटो एक्सपो 2018 में पेश किया था और अब इसे मई में लॉन्च भी कर सकती है। वहीं होंडा ने अपनी इस नई अमेज कार में कई तरह की बदलाव किए हैं, जिससे होंडा की कॉम्पैक्ट सेडान अमेज को भारतीय बाजार में अच्छा रिस्पांस मिला है।होंडा की यह कार बिलकुल नए प्लेटफॉर्म पर बनने से अपने पिछले मॉडल से कहीं ज्यादा बोल्ड और ज्यादा स्टायलिश है। इसके साथ ही यह प्रीमियम लुक देगी। अमेज कार पेट्रोल और डीजल दोनों मॉडल में उपलब्ध होगी। अमेज भारत में होंडा के सफल मॉडल्स में से एक है। वहीं इस कार के 2.57 लाख से ज्यादा ग्राहक हैं। अगर अन्य खुबियों की बात की जाए तो आपको इस नई अमेज में ज्यादा बड़ा केबिन मिलेगा जो आपको काफी कम्फर्ट भी देगा। साथ ही, पीछे बैठने वाले यात्रियों को नई अमेज में ज्यादा लेग स्पेस भी मिलेगा। इसमें सात इंच का डिजीपैड टचस्क्रीन इंफोटेनमेंट सिस्टम है। इंडियन मार्केट में अमेज की टक्कर मारुति सुजुकी डिजायर, हुंडई एसेंट, फोक्सवैगन Ameo और टाटा टिगोर से होती है।

 

 

 

होंडा टू व्हीलर्स इंडिया ने 5 महीने के भीतर अपनी फ्लैगशिप 125cc स्कूटर और होंडा ग्रेजिया की 1 लाख से भी ज्यादा यूनिट्स बेच दी हैं। होंडा के सीनियर वाइस प्रेसिडेंट यदविंदर सिंह गुलेरिया ने कहा, "सेगमेंट के पहले फीचर्स LED हेडलैंप और पूरे डिजिटल मीटर के साथ 3 स्टेप ईको स्पीड इंडीकेटर की मदद से शहरी यूवाओं को काफी आकर्षित किया है। जो यूवा एडवांस, स्टाइलिंश, पावरफुल और सुविधाजनक स्कूटर की चाहत रखते हैं, वो ग्रेजिया को खरीद रहे हैं।अगर इन बाइक्स के फीचर्स की बात की जाए तो कंपनी ने इसमें फ्रंट डिस्क ब्रेक के साथ कॉम्बी ब्रेकिंग सिस्टम, टेलेस्कॉपिक फ्रंट फॉर्क्स और डुअल टोन पेंट स्कीम जैसे फीचर्स दिए है। इसके अलावा इसमें नया इंस्ट्रूमेंट कंसोल के साथ डिजिटल डिसप्ले दिया गया है।वहीं, होंडा ग्रेजिया 125cc में होंडा एक्टिवा 125 वाला इंजन दिया गया है। यह इंजन 8.52 bhp की पावर और 10.54Nm का टॉर्क जनरेट करता है। होंडा ग्रेजिया की दिल्ली में शुरुआती एक्स शोरूम कीमत 58,133 रुपये रखी गई है।

नई दिल्ली : जियो के भारतीय बाजार में उतरने और कम दामों पर सेवाएं देने से उपभोक्ताओं को वार्षिक 10 अरब डॉलर की बचत हुई है। इससे देश का प्रति व्यक्ति सकल घरेलू उत्पाद ( जीडीपी) 5.65 प्रतिशत बढ़ी है। यह निष्कर्ष एक रिपोर्ट में निकाला गया है। बता दें कि सितंबर 2016 में जीओ भारतीय बाजार में उतरी थी। जीओ ने डेटा को सस्ता करने में अहम भूमिका निभाई है।प्रति जीबी डेटा की औसत कीमत 152 रुपये से घटकर अब 10 रुपये हो गई है। डेटा की कीमतों में इतनी ज्यादा गिरावट से समाज के नए वर्ग ने भी पहली बार इसका अनुभव लिया। इंस्टीट्यूट आफ कम्पेटिटिवनेस ( आईएफसी) की रिपोर्ट में कहा गया है, 'हमारी गणना के अनुसार अगर बहुत कम कर भी आकलन किया जाए, जियो के प्रवेश से उपभाक्ताओं को सालाना 10 अरब डॉलर की बचत हुई है।'अर्थमितीय विश्लेषण से पता चलता है कि यदि अन्य चीजें स्थिर रहती हैं, तो व्यापक नेटवर्क की वजह से जियो के प्रवेश ने देश के सकल घरेलू उत्पाद में 5.65 प्रतिशत का योगदान दिया है। इंटरनेट पहुंच बढ़ने से जीडीपी वृद्धि का प्रभाव सिर्फ दूरसंचार क्षेत्र में योगदान तक सीमित नहीं है, इंटरनेट अर्थव्यवस्था की वजह से अन्य दूसरी चीजों में भी इसका योगदान रहा है

फेसबुक का डेटा लीक मामला अभी सुलझा नहीं और अब डेटा सिक्योरिटी को लेकर व्हाट्सएप भी शक के दायरे में आ गया है। फेसबुक के बाद व्हाट्सएप के यूज़र प्राइवेसी को लेकर शंका जताई जा रही है कि व्हाट्सएप की प्राइवेसी सुरक्षित नहीं है। करीब 200 मिलियन एक्टिव यूज़र्स वाली व्हाट्सएप को लेकर एक्सपर्ट ने दावा किया है कि उनका इस एप को इस्तेमाल करने वाले लोगों का डेेटा उतना सिक्योर नहीं है जितना इसके लिए दावा किया जाता है।एक्सपर्ट्स के मुताबिक व्हाट्सएप की कुछ शर्तें ऐसी हैं जिसे चैलेंज नहीं किया जा सकता और इनसे यूजर्स के डेटा को खतरा है। वहीं इस डेटा सिक्योरिटी की खबर के बीच व्हाट्सएप ने अपना बयान जारी कर कहा है कि यूजर्स की सिक्योरिटी हमारे लिए सबसे जरुरी है। यूजर्स की चैट व्हाट्सएप पर एंड-टू-एंड एनक्रीप्टेड होती है। व्हाट्सएप डेटा की बेहद छोटी सी इंफॉर्मेशन अपने पास रखता है।वहीं व्हाट्सएप का कहना है कि ग्रुप में लिंक के जरिए इनवाअट का फीचर था, लेकिन इसमें भी यूजर्स के भरोसे को ध्यान में रखा गया। ग्रुप में जब भी किसी नए मेंबर को जो़ड़ा जाता है तो सभी ग्रुप मेंबर को एक नोटिफिकेशन जाता है जिससे सबको पता चलता है कि मेंबर को लिंक के जरिए जोड़ा गया है या एडमिन ने जोड़ा है। अगर एडमिनट चाहे तो ऐसे में मेंबर को ग्रुप से निकाल सकता है।आपको बता दें व्हाट्सएप को फेसबुक ने साल 2014 खरीद लिया था। इससे पहले भी व्हाट्सएप फेसबुक से अपनी नंबर शेयरिंग पॉलिसी को लेकर विवाद में रह चुका है।जबकि इन दिनों फेसबुक का बुरा दौर चल रहा है। बता दें फेसबुक पर अपने यूजर्स के डेटा को सुरक्षित ना रख पाने का आरोप है। पॉलिटिकल कंसल्टेंसी फर्म कैंब्रिज एनालिटिका पर फेसबुक यूजर्स का डेटा चोरी कर साल 2016 में हुए अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव को प्रभावित करने का आरोप है।

बिहार राज्य में बिहार लोक सेवा आयोग (बीपीएससी) और बिहार कर्मचारी चयन आयोग (बीएसएससी) द्वारा ली जाने वाली परीक्षाओं की फीस में लड़कियों के लिए 75% की छूट दी जा रही है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की अध्यक्षता में शुक्रवार को हुई राज्य कैबिनेट की बैठक में इस प्रस्ताव पर कैबिनेट ने अपनी मुहर लगा दी है। कैबिनेट विभाग के प्रधान सचिव अरुण कुमार सिंह ने बताया कि सरकार के इस फैसले का लाभ सामान्य और आरक्षित श्रेणी सभी वर्गों की लड़कियों को समान रूप से मिलेगा।इसके तहत बीपीएससी और बीपीएससी की प्रारंभिक परीक्षाओं में 600 रुपये शुल्क लगता था, जिसे कम करते हुए 150 रुपये कर दिया गया है। इसी तरह मुख्य परीक्षा (मेंस) में पहले जो 750 रुपये शुल्क लगता था, उसे कम करके 200 रुपये कर दिया गया है। वहीं इस कटौती का लाभ सभी वर्गों की सिर्फ महिलाओं को ही दिया जायेगा। इससे पहले सरकार ने सात निश्चय के तहत महिलाओं को राज्य की नौकरियों में 35 फीसदी आरक्षण देने का फैसला लिया था।

12 हज़ार के पंजाब नैशनल बैंक घोटाले के मामले में शुक्रवार को सीबीआई ने रिज़र्व बैंक के पूर्व गवर्नर एचआर खान से पुछताछ की। बता दें इस पूरे मामले के मुख्य आरोपी हीरा कारोबारी नीरव मोदी और मेहुल चोकसी हैं। इस पुछताछ में पिछली संप्रग सरकार द्वारा कथित तौर पर कारोबारियों को फायदा पहुंचाने के लिए सोना आयात के नियमों में ढील दिए जाने के सिलसिले में शुक्रवार को रिजर्व बैंक के पूर्व शीर्ष अधिकारी से सवाल जवाब किए गए। जानकारी के अनुसार, पंजाब नेशनल बैंक में दो अरब डॉलर के घोटाले के सिलसिले में सीबीआई ने जिन लोगों से पूछताछ की है, उनमें हारुन आरबीआई के सबसे वरिष्ठ पूर्व अधिकारी हैं। वहीं रिजर्व बैंक ने स्पष्ट किया है कि नीति के संबंध में जानकारी के लिए पूर्व अधिकारी को बुलाया गया था। घोटाले से उनका कोई संबंध नहीं है।सीबीआइ के अनुसार उन्होंने संप्रग सरकार के समय आई 20:80 स्वर्ण आयात नीति पर पूर्व डिप्टी गवर्नर से जानकारी ली। 13 मई, 2014 को यह नीति तत्कालीन वित्त मंत्री पी चिदंबरम ने लागू की थी। इस योजना से कथित तौर पर चोकसी की कंपनी और कुछ अन्य को अप्रत्याशित लाभ हासिल करने में मदद मिली थी।आरबीआई सूत्रों ने बताया कि इसके अधिकारियों से अन्य जांच एजेंसियां और विनियामक नियमित रूप से विचार-विमर्श करते हैं, ताकि केंद्रीय बैंक के तहत बैंकिंग और अन्य नीतिगत विषयों पर स्पष्टता मुहैया हो सके। वहीं सरकार ने एक बयान में कहा है कि संप्रग सरकार की 20:80 योजना से छह महीनों में 13 कारोबारी घरानों को 4,500 करोड़ रुपये का अप्रत्याशित लाभ हुआ।

विश्व बाजार में कच्चे तेल के दाम में वृद्धि से महंगाई बढ़ने को लेकर चिंतित रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने गुरुवार को अपनी नीतिगत दर में कोई बदलाव नहीं किया। सस्ते कर्ज की उम्मीद लगाए उपभोक्ताओं और उद्योग जगत को केन्द्रीय बैंक के इस फैसले से झटका लगा है।खाद्यान के दाम बढ़ने की चिंता:-केन्द्रीय बैंक को खाद्यान्नों के दाम बढ़ने और राजकोषीय लक्ष्यों के हासिल नहीं होने की चिंता भी सता…
रायपुर: जी.एस.टी. लागू होने के बाद पैट्रोलियम पदार्थ को जी.एस.टी. दायरे में शामिल किए जाने का मुद्दा कई बार उठ चुका है। रायपुर के स्वामी विवेकानंद विमानतल पर संवाददाताओं से बातचीत के दौरान पैट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने बातचीत में कहा है कि "जब-जब अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमत में बढ़ोतरी होती है तब भारत में भी पैट्रोलियम पदार्थ के दाम बढ़ते हैं। मार्च में पैट्रोलियम पदार्थों के…
नई दिल्लीः बिटकॉइन जैसी वर्चुअल करेंसी को लेकर रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने बड़ा ऐलान किया है। रिजर्व बैंक अपनी ‘डिजिटल मुद्रा’ लाने पर विचार कर रहा है और बिटकॉइन तथा अन्य आभासी मुद्राओं में कारोबार करने वाले बैंकों, गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनियों आदि को तत्काल प्रभाव से आभासी मुद्राओं में कारोबार नहीं करने की हिदायत दी है।केंद्रीय बैंक की मौद्रिक नीति समिति की दो दिवसीय बैठक के बाद विकास एवं नियामक…
केन्द्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) ने आंकलन वर्ष 2०18-19 के लिए एक पेज का आयकर रिटर्न फॉर्म 1 (आईटीआर) सहज गुरूवार को जारी किया जिसका उपयोग 50 लाख रुपये तक की वार्षिक आय वाले करदाता कर सकेंगे।आयकर विभाग ने कहा कि आंकलन वर्ष 2018-19 के लिए एक पेज का सहज फॉर्म जारी किया गया है जो उसकी वेबसाइट पर उपलब्ध है। उसने कहा कि करीब तीन करोड़ करदाता इस एक…
Page 5 of 183

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें