कारोबार

कारोबार (2338)


नई दिल्ली - वित्त मंत्री अरुण जेटली पांचवी बार आम बजट पेश किया। वित्त मंत्री ने फैसला लिया है कि कस्टम ड्यूटी बढ़ाई जाएगी। वित्त मंत्री के कस्टम ड्यूटी के बढ़ाए जाने के इस फैसले का सीधा असर मोबाइल, लैपटॉप, टीवी, फ्रिज के दामों पर पड़ेगा। इनके दाम बढ़ेंगे।
मेक इन इंडिया के तहत सरकार नई कंपनियों को बढ़ावा देने में लगी है। इसलिए कस्टम डयूटी बढ़ने से इलेक्ट्रॉनिक आइटम के दाम भी बढ़ सकते हैं, क्योंकि कंपनियां इन बढ़े हुए दामों को ग्राहकों से ही वसूलेगी।
दऱअसल ये सामान विदेश से आयात कि जाते हैं। कस्टम ड्यूटी बढ़ने से इन उत्पादों को आयात करने पर लगने वाला खर्च बढ़ता है। इसलिए कंपनियां इन उत्पादों को सस्ता कर देती है।


नई दिल्ली - वित्त मंत्री अरुण जेटली आज लोकसभा में मोदी सरकार का लगातार पांचवां बजट पेश किया। अपने बजट भाषण में वित्त मंत्री अरुण जेटली ने बताया कि 4 साल में टैक्स देने वालों की संख्या में बढ़ोतरी हुई है। 19.25 लाख नए टैक्स पेयर्स बढ़े हैं। काले धन के खिलाफ मुहिम का असर हुआ कि 90 हजार करोड़ टैक्स कलेक्शन बढ़ा है। वित्त मंत्री ने इनकम टैक्स स्लैब में कोई बदलाव नहीं किया है। अब इनकम टैक्स स्लैब वही रहेगी जो 2017-18 में थी।
करदाताओं को इस बजट से खासी उम्मीद थी। उद्योग और आर्थिक क्षेत्र के विशेषज्ञों का मानना है कि आम बजट में कर मुक्त आय की सीमा ढाई से बढ़ाकर तीन लाख रुपये की जा सकती है। विशेषज्ञ बिमल जैन के अनुसार, अब ढाई लाख रुपये तक की सालाना आय कर मुक्त है, जबकि ढाई से पांच लाख रुपये की आय पर पांच प्रतिशत की दर से कर लगता है। इसके बाद पांच से दस लाख रुपये की आय पर 20 प्रतिशत और दस लाख रुपये से अधिक की आय पर तीस प्रतिशत दर से कर देय होगा।
टैक्स स्लैब की मौजूदा स्थिति जो कि अब बनी रहेगी।
इनकम टैक्स स्लैब (60 साल तक की उम्र वालों के लिए)
आय                     मौजूदा दर
0 से 2.5 लाख रुपए      0%
2.5 लाख से 5 लाख      5%
5 लाख से 10 लाख      20%
10 लाख से ऊपर        30%
टैक्स में छूट
- 3.5 लाख रुपए तक की आय पर 2500 की छूट 87 ए के तहत मिलती है। मतलब आपके कुल टैक्स में से
2500 रुपए घट जाते हैं। इस कारण 3 लाख रुपए तक की आय टैक्स फ्री हो जाती है।
सरचार्ज
- 50 लाख रुपए से 1 करोड़ रुपए तक की आय पर 10 फीसदी सरचार्ज
- 1 करोड़ रुपए से ऊपर की आय पर 15 फीसदी सरचार्ज
सेस
कुल आयकर पर 3 फीसदी सेस और साथ में सरचार्ज
----------
इनकम टैक्स स्लैब (60 साल से ज्यादा और 80 साल से कम)
आय                 मौजूदा दर
0 से 3 लाख रुपए      0%
3 लाख से 5 लाख      5%
5 लाख से 10 लाख    20%
10 लाख से ऊपर      30%

 


नई दिल्ली - दूरसंचार नियामक ट्राई ने मोबाइल नंबर पोर्टेबिलिटी (एमएनपी) की दर बुधवार को लगभग 79 प्र​तिशत घटाकर अधिकतम चार रुपये कर दी। नियामक ने इस काम की कम लागत तथा बड़ी संख्या को ध्यान में रखते हुए यह फैसला किया है। एमएनपी से आशय किसी ग्राहक द्वारा अपने मौजूदा मोबाइल नंबर को बनाए रखते हुए ही सेवा प्रदाता कंपनी बदलने से है।
भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकार (ट्राई) ने एक बयान में कंपनियों को निर्देश दिया है कि वे हर सफल पोर्टिंग के लिए प्रति पोर्ट शुल्क को 19 रुपये से घटाकर चार रुपये करें। इसके साथ ही इसने कहा है कि संबद्ध दूरसंचार कंपनियां एमएनपी के लिए इससे भी कम राशि शुल्क के रूप में लेने को स्वतंत्र हैं। उल्लेखनीय है कि ट्राई ने एमएनपी शुल्क दरों की समीक्षा के लिए परामर्श प्रक्रिया दिसंबर में शुरू की थी। नई शुल्क दर आधि​कारिक गजट में अधिसूचित होने के दिन से लागू होगी। दूरसंचार कंपनियों का कहना है कि इससे उन पर एमएनपी लागत बोझ कम होगा।


नई दिल्ली - मुकेश अंबानी की कंपनी रिलायंस जियो ने अपने नाम से डिजिटल करेंसी एप की खबरों के मद्देनजर लोगों को इससे दूर रहने की सलाह देते हुए कहा है कि उसका ऐसा कोई एप नहीं है। कंपनी ने एक बयान में कहा, रिलायंस जियो लोगों तथा मीडिया को सूचित करता है कि कंपनी या उससे जुड़ा कोई निकाय इस तरह के एप की पेशकश नहीं करता है।
ऐसा कोई भी एप जो जियोकॉइन का नाम इस्तेमाल कर रहा है, फर्जी है। गूगल प्ले स्टोर पर जियोकॉइन नाम से एक एप उपलब्ध है जिसे हजारों लोगों ने डाउनलोड किया है।


नई दिल्ली - उद्योग और आर्थिक क्षेत्र के विशेषज्ञों का मानना है कि आम बजट में कर मुक्त आय की सीमा ढाई से बढ़ाकर तीन लाख रुपये की जा सकती है। वहीं कंपनी कर की दर को मौजूदा 30-34 प्रतिशत से घटाकर 28 प्रतिशत पर लाया जा सकता है।
वित्त मंत्री अरुण जेटली एक फरवरी को इस सरकार का पांचवां और अंतिम पूर्ण बजट पेश करेंगे। विशेषज्ञों का मानना है कि आगामी बजट में कृषि क्षेत्र में निवेश और बड़ी ढांचागत परियोजनाओं पर खर्च बढ़ाने पर जोर होगा ताकि रोजगार के नये अवसर पैदा किए जा सकें। संसद में पेश आर्थिक सर्वेक्षण से इसके संकेत मिले हैं। उद्योग संगठन पीएचडी चैंबर के कर विशेषज्ञ बिमल जैन के अनुसार, इस समय ढाई लाख रुपये तक की सालाना आय कर मुक्त है, जबकि ढाई से पांच लाख रुपये की आय पर पांच प्रतिशत की दर से कर लगता है। संभवत: वित्त मंत्री इस स्लैब को तीन से पांच लाख रुपये कर सकते हैं। इसके बाद पांच से दस लाख रुपये की आय पर 20 प्रतिशत और दस लाख रुपये से अधिक की आय पर तीस प्रतिशत दर से कर देय होगा। अधिभार दर में भी कुछ बदलाव किया जा सकता है।
जैन ने कहा कि कारपोरेट कर की दर को मौजूदा 30 से 34 प्रतिशत के बजाय कम कर 25 से 28 प्रतिशत के दायरे में लाए जाने की उम्मीद है। वित्त मंत्री ने पहले बजट में कंपनी कर को चार साल में 30 से घटाकर 25 प्रतिशत पर लाने की घोषणा की थी, लेकिन इसमें ठोस पहल की जरूरत है।

 


सैन फ्रांस्सिको - फेसबुक ने अपने न्यूज फीड को अपडेट किया है, जिसके तहत स्थानीय समाचारों को प्राथमिकता दी जाएगी। इससे यूजर्स को अपने आसपास के क्षेत्रों में चल रही खबरों की ज्यादा जानकारी मिलेगी। फेसबुक के मुख्य कार्यकारी अधिकारी मार्क जुकरबर्ग ने सोमवार देर रात जारी एक बयान में कहा, “हम अपडेट की एक श्रृंखला जारी कर रहे हैं, ताकि और अधिक उच्च गुणवत्ता वाले भरोसेमंद समाचार दिख सकें। पिछली बार हमने एक अपडेट किया था, जिससे उन स्त्रोतों से ज्यादा से ज्यादा न्यूज देखने को मिलेगा, जो हमारे समुदाय में सबसे ज्यादा भरोसेमंद हैं। आज हमने जो अपडेट जारी किया है, उससे स्थानीय खबरें अधिक दिखेंगी।”
यह बदलाव सबसे पहले अमेरिका में देखने को मिलेगा और फेसबुक ने साल के अंत तक इसे दुनिया भर में लागू करने की योजना बनाई है। यूजर्स यह चुन सकते हैं कि वे स्थानीय या राष्ट्रीय स्त्रोत से खबरें देखना पसंद करेंगे।
फेसबुक के समाचार उत्पाद प्रमुख एलेक्स हार्दिमन और समाचार भागीदारी के प्रमुख केंपबेल ब्राउन का कहना है कि इसमें ज्यादा से ज्यादा स्थानीय प्रकाशकों को शामिल किया जाएगा और उन प्रकाशकों को वरीयता दी जाएगी, जो खेल, कला और मानव हित की स्टोरियां ज्यादा प्रकाशित करते हैं।

नई दिल्ली - वाहन निर्माता कंपनी टीवीएस मोटर्स का एकल शुद्ध लाभ 31 दिसंबर को समाप्त तीसरी तिमाही में 16.34 प्रतिशत बढ़कर 154.25 करोड़ रुपये रहा। मुनाफे का कारण बिक्री में वृद्धि रही। पिछले वित्त वर्ष की इसी तिमाही में कंपनी का एकल शुद्ध मुनाफा 132.67 करोड़ रुपये था। टीवीएस मोटर्स ने बंबई शेयर बाजार को बताया कि समीक्षाधीन अवधि में परिचालन आय 3,684.95 करोड़ रुपये रही। पिछले वित्त वर्ष…
नई दिल्ली - भारत की दूसरी सबसे बड़ी स्टार्टअप कंपनी पेटीएम के 500 करोड़ के स्टॉक सेल के बाद 100 से ज्यादा कर्मचारी और पूर्व कर्मचारी करोड़पति बन गए है। कंपनी में काम कर रहे करीब 200 कर्मचारियों ने अपने इंप्‍लाई स्‍टॉक ऑप्‍शन (ESOP) बेच दिए। इनकी कीमत लगभग 300 करोड़ रुपए है। इसके बाद कंपनी के मार्केट वैल्‍युएशन में उछाल आया है। इन शेयरों को बेच कर कंपनी के…
नई दिल्ली - बेटियां आज अंतरिक्ष से लेकर खेल के मैदान तक में बुलंदियां छू रही हैं। सरकार भी ‘बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ’, ‘सुकन्या समृद्धि योजना’ जैसे सराहनीय पहल के जरिए बेटियों को आगे बढ़ने में अपना योगदान देने में लगी हुई है। यहां तक कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी ‘मन की बात’ के जरिए दस बेटों की तुलना एक बेटी से कर चुके हैं। बावजूद इसके देश में लोगों…
नई दिल्ली - सरकार के स्वच्छता कार्यक्रम से स्वास्थ्य एवं आर्थिक प्रभाव पड़ा है और खुले में शौच से मुक्त गांव में प्रति परिवार सालाना 50,000 रुपए की बचत का अनुमान है। आर्थिक समीक्षा के अनुसार अब तक पूरे देश में 296 जिलों तथा 3,07,349 गांव को खुले में शौच से मुक्त (ओडीएफ) घोषित किया गया है। वित्त मंत्री अरुण जेटली द्वारा संसद में आज पेश 2017-18 की आर्थिक समीक्षा…
Page 5 of 167

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें