कारोबार

कारोबार (2938)

नई दिल्ली। भाजपा की कर्नाटक इकाई ने केंद्र सरकार से मांग की है कि पान मसाला पर जीएसटी की दर को घटाकर 5 फीसद किया जाए। वर्तमान में पान मसाला पर जीएसटी की दर 18 फीसद है। साथ ही इस इकाई ने मांग की है कि अखरोट के न्यूनतम आयात मूल्य (एमआईपी) को भी बढ़ाकर 300 रुपये प्रति किलोग्राम किया जाए ताकि कम कीमतों के संकट के कारण घरेलू उत्पादकों को बचाया जा सके।इकाई का कहना है कि श्रीलंका एवं अन्य उत्पादक देशों से खराब गुणवत्ता वाले सस्ते आयात के कारण सुपारी की घरेलू कीमत 380 रुपये से गिरकर 280 रुपये प्रति किलोग्राम पर आ गयी है। कनार्टक भाजपा के सुपारी सेल के अध्यक्ष तथा विधायक अरग ज्ञानेंद्र ने कहा, ‘‘गिरती कीमतों के कारण सुपारी उत्पादक किसान संकट में हैं। सस्ते आयात को खत्म करने तथा सुपारी के मूल्यवर्धन की जरूरत है।’’ सुपारी का इस्तेमाल पानमसाला बनाने में किया जाता है। लेकिन इस पर लगने वाली कर दर को 18 फीसद की उच्च स्लैब में रखा गया है।उन्होंने कहा, “हमने केंद्र सरकार से आग्रह किया है कि इस पर कर की दर को घटाकर 5 फीसद पर लाया जाए क्योंकि इसका उत्पादन छोटे स्तर के उद्योग की ओर से किया जाता है।” इसके अलावा, केंद्र से अनुरोध किया गया है कि अखरोट के एमआईपी को वर्तमान में 251 रुपये प्रति किलो से बढ़ाकर 300 रुपये किलोग्राम तक बढ़ाया जाए।

 

नई दिल्ली। जेट एयरवेज ने नौ दिन का सेल ऑफर पेश किया है। इसके तहते कंपनी ने अंतरराष्ट्रीय फ्लाइट्स के लिए 30 फीसद तक का डिस्काउंट देने का एलान किया है। यह जानकारी कंपनी की आधिकारिक वेबसाइट के अनुसार है। यह ऑफर इकोनॉमी और प्रीमियम सेगमेंट दोनों के लिए वैध है। इस ऑफर को देश के 72वें स्वतंत्रता दिवस के मौके को देखते हुए पेश किया गया है। यात्री इसके तहत 7 अगस्त, 2018 से 15 अगस्त, 2018 के बीच टिकट बुक कर सकते हैं।यह ऑफर वनवे और रिटर्न टिकट पर लागू होगा। यात्री जेट एयरवेज के 21 अंतरराष्ट्रीय गंतव्यों में से जिनमें अबू धाबी, शारजाह, बहरीन, दोहा, दम्मम, जेद्दा, रियाद, कुवैत, मस्कट, एम्स्टर्डम, शिफोल, पेरिस चार्ल्स डी गॉल, लंदन हीथ्रो, मैनचेस्टर, ज्यूरिख, फ्रैंकफर्ट, प्राग, जिनेवा, रोम और टोरंटो शामिल हैं। यह ऑफर कोलंबो, ढाका, काडमांडू, बैंकॉक, सिंगापुर और हॉन्ग कॉन्ग के लिए भी वैलिड है।
रिटर्न टिकट पर फ्लैट 10 फीसद की छूट-भारतीय गंतव्यों के लिए प्रीमियर और इकोनॉमी क्लास के बेस फेयर पर 10 फीसद तक का डिस्काउंट दिया जा रहा है। यह केवल रिटर्न जर्नी पर लागू होगा और यात्रा 30 सितंबर, 2018 तक शुरू या फिर समाप्त हो जानी चाहिए।इसके अलावा ‘यूरोप ऑन सेल’ के तहत भी जेट एयरवेज फ्लाइट टिकटों पर 30 फीसद तक का डिस्काउंट दे रहा है। इस ऑफर का लाभ उठाने के लिए 17 अगस्त, 2018 तक टिकट बुक की जा सकती है। यह जानकारी कंपनी की आधिकारिक वेबसाइट के अनुसार है।

नई दिल्ली। देश के सबसे बड़े बैंकिंग घोटाले का शिकार बना पंजाब नैशनल बैंक (पीएनबी) मौजूदा फाइनैंशियल ईयर की पहली तिमाही में भी नुकसान से उबरने में विफल रहा है। हालांकि पिछली तिमाही के मुकाबले बैंक के घाटे में भारी कमी आई है।2018-19 की पहली तिमाही में देश के दूसरे बड़े सरकारी बैंक को शुद्ध रूप से 940 करोड़ रुपये का घाटा हुआ है। बैंक की तरफ से जारी बयान में बताया गया है कि इससे पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही में बैंक को 343 करोड़ रुपये का मुनाफा हुआ था।गौरतलब है कि नीरव मोदी और मेहुल चोकसी की धोखाधड़ी की वजह से बैंक को करीब 14,000 करोड़ रुपये से अधिक का नुकसान हुआ है। दोनों ही आरोपी फिलहाल देश से बाहर हैं, जिन्हें वापस लाने की तैयारी चल रही है।घोटाले के सामने आने के बाद बैंक को पिछले वित्त वर्ष की आखिरी तिमाही में रिकॉर्ड 13,417 करोड़ रुपये का नुकसान उठाना पड़ा था। वित्त वर्ष 2017-18 की चौथी तिमाही में बैंक के फंसे हुए कुल कर्ज (एनपीए) में 18.38 फीसद की बढ़ोतरी हुई, जबकि वित्त वर्ष 2016-17 की समान तिमाही में फंसे हुए कर्जों में 12.53 फीसद की बढ़ोतरी हुई थी।पही तिमाही में बैंक का एनपीए पिछले साल की समान तिमाही के 13.66 फीसद से बढ़कर 18.26 फीसद हो गया वहीं बैंक ने इस दौरान 4,981 करोड़ रुपये की प्रॉविजनिंग की। पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही में यह रकम 2,559 करोड़ रुपये थी जबकि पिछली तिमाही में यह रकम रिकॉर्ड 16,202 करोड़ रुपये रही थी।
नुकसान के भरपाई की तैयारी:-घोटाले की वजह से हुए नुकसान की भरपाई के लिए बैंक ने अपनी सहायक कंपनियों में हिस्सेदारी बेचने के साथ ही गैर प्रमुख कारोबार से हटने की रणनीति बनाई थी। इसी रणनीति के तहत पीएनबी क्रेडिट रेटिंग एजेंसी आईसीआरए में अपनी पूरी हिस्सेदारी 108.60 करोड़ रुपये में बेच चुका है।इसके साथ ही बैंक ने पीएनबी हाउसिं फाइनैंस, क्रिसिल और बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) में अपनी हिस्सेदारी बेचने की तैयारी कर रही है। हाउसिंग फाइनैंस की इस कंपनी में पीएनबी की कुल 32.79 फीसद हिस्सेदारी है, जिसकी बिक्री से उसे करीब 6,500 करोड़ रुपये की रकम मिलेगी।पीएनबी हाउसिंग अक्टूबर 2016 में बाजार में लिस्ट हुई थी और कंपनी 775 रुपये प्रति शेयर के इश्यू प्राइस पर बाजार से 3,000 करोड़ रुपये जुटाने में सफल रही थी।
सरकारी बेल आउट:-पीएनबी के साथ अन्य बैंकों के बैलेंट शीट पर एनपीए के बढ़ते दबाव को कम करने के लिए केंद्र सरकार ने पिछले साल अक्टूबर महीने में रिकैपिटलाइजेशन प्रोग्राम की घोषणा की थी, जिसके तहत सरकारी बैंकों को कुल 2.11 लाख करोड़ रुपये दिए जाने थे।सरकार की कोशिश सरकारी बैंकों को नियामकीय पूंजी उपलब्ध कराने की है। इसी रणनीति के तहत बैंकों को हाल ही में 11,336 करोड़ रुपये की पूंजी दी गई है जिसमें सबसे ज्यादा 2,816 करोड़ रुपये की रकम पीएनबी को मिली। बाकी की 53,664 करोड़ रुपये की पूंजी वित्त वर्ष के आने वाले महीनों में बैंकों को दी जाएगी।गौरतलब है कि प्रस्तावित पुनर्पूंजीकरण की व्यवस्था को तीन हिस्सों में बांटा गया है। कुल राशि में 18,000 करोड़ रुपये बजट से दिए जाएंगे, 58,000 करोड़ रुपये बाजार से इक्विटी के रूप में जुटाए जाएंगे और 1.35 लाख करोड़ रुपये सरकार द्वारा पुनर्पूंजीकरण बॉन्ड के रूप में उपलब्ध कराए जाएंगे।

 

नई दिल्ली। जेट एयरवेज अपने कर्मचारियों की सैलरी में 25 फीसद की कटौती नहीं करने जा रहा है। कर्मचारियों की जुलाई महीने की सैलरी बीते शुक्रवार को जारी कर दी गई है। यह जानकारी कुछ मीडिया सूत्रों के जरिए सामने आई है।एयरलाइन जिस वित्तीय संकट का सामना कर रही है उससे उसे उबारने के लिए कर्मचारी अपने वेतन में कटौती के पक्ष में नहीं हैं, क्योंकि कंपनी संबंधी चुनौतियों में काफी चीजें शामिल हैं जैसे कि कच्चे तेल की कीमतों में तेजी, कमजोर रुपया और गलाकाट हो रही प्रतिस्पर्धा।सूत्र के मुताबिक बीते हफ्ते कंपनी ने कर्मचारियों के लिए 25 फीसद वेतन कटौती का प्रस्ताव दिया था, लेकिन इस प्रस्ताव को पायलटों और इंजीनियरों की ओर से खारिज कर दिया गया था। पूर्ण सेवा प्रदाता कंपनी ने सैलरी कट के प्रस्ताव पर कर्मचारियों के एक विशेष वर्ग से बातचीत की थी ताकि लागत में कटौती की जा सके।एक रिपोर्ट के मुताबिक कर्मचारियों की सैलरी को रोक दिया गया था लेकिन कंपनी के चेयरमैन के इस आश्वासन के बाद कि कर्मचारियों की सैलरी में कोई कटौती नहीं होगी उसे जारी (भुगतान) कर दिया गया। सूत्रों ने बताया कि गोयल ने कर्मचारियों से कहा कि एयरलाइन की छवि को बड़ा नुकसान हुआ है और इस वजह से बुकिंग कैंसल भी हुई हैं। उन्होंने कर्मचारियों को आश्वासन दिया कि एयरलाइन ग्रोथ के रास्ते पर आगे बढ़ने के लिए अच्छी स्थिति में है।गौरतलब है कि जेट एयरवेज महंगे फ्यूल और रुपये में कमजोरी के कारण वित्तीय मुश्किलों का सामना कर रही है। साथ ही 2016 और 2017 में मुनाफा दर्ज करने के बाद कंपनी को वित्त वर्ष 2018 में लगभग 767 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ था।

 

नई दिल्ली। रिलायंस कम्युनिकेशन्स लिमिटेड (आरकॉम) ने जानकारी दी है कि उसे रिलायंस जियो को अपनी वायरलेस परिसंपत्तियों की बिक्री के लिए सुप्रीम कोर्ट से मंजूरी मिल गई है। सुप्रीम कोर्ट की ओर से इस संबंध में यह फैसला तब आया है जब आरकॉम स्वीडिश टेलीकॉम गियरमेकर एरिक्सन की 550 करोड़ रुपये (80.06 मिलियन डॉलर) की बकाया राशि का भुगतान करने पर सहमत हो गई है।मई महीने में ही भारत की दीवालिया अदालत ने एरिक्सन की ओर से दायर याचिका को स्वीकार कर लिया था जिसमे मांग की गई थी कि आरकॉम पर बकाया भुगतान के एवज में दिवालिया प्रक्रिया की शुरुआत की जाए, जिससे संभावित रूप से रिलायंस जियो को संपत्ति बेचने के लिए कंपनी की 250 बिलियन रुपये की योजना को खत्म हो जाती।एरिक्सन इंडिया प्राइवेट लिमिटेड ने आरकॉम के साथ 2014 में सात साल के लिए उसके देशव्यापी दूरसंचार नेटवर्क को चलाने और व्यवस्थित करने का समझौता किया था और इसने आरकॉम और इसकी दो सहायक कंपनियों से 11.55 अरब रुपये (171.16 मिलियन डॉलर) की मांग की थी।गौरतलब है कि एनसीएलएटी ने आरकॉम की ओर से एरिक्सन को 550 करोड़ रुपये का भुगतान करने पर सहमति जताने के बाद 30 मई को उसके खिलाफ दीवालिया प्रक्रिया को रोक दिया था। शीर्ष अदालत ने अपने आदेश में कहा, 'समयसीमा का कड़ाई के साथ पालन किया जाना चाहिए और 550 करोड़ रुपये का भुगतान 30 सितंबर 2018 को अथवा इससे पहले किया जाना चाहिए।'

नई दिल्ली। भारत में डिजिटल पेमेंट की संख्या लगातार बढ़ रही है। आज के समय में क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल न सिर्फ लेनदेन का महत्वपूर्ण माध्यम बना हुआ है बल्कि आज यह लोगों का एक पसंदीदा विकल्प भी है। काफी सारे लोग ऐसे होते हैं जिन्हें कम समय के लिए लोन की जरुरत पड़ती है ऐसे में क्रेडिट कार्ड उनके काम आता है। वहीं पेमेंट एप्स के इस्तेमाल में भी तेजी देखने को मिली है।हाल-फिलहाल में पेमेंट्स एप्स द्वारा दिए गए ऑफर ने कई ग्राहकों को अपनी ओर आकर्षित किया है। कई लोगों की यह धारणा बनी हुई है कि क्रेडिट कार्ड रखने से पैसे ज्यादा खर्च होते हैं। लेकिन, हम आपको यहां 5 ऐसे तरीके बता रहे हैं जिससे क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल करते हुए भी आप पैसे बचा सकते हैं।
ई-कॉमर्स पोर्टल: अगर आपके पास एक से अधिक क्रेडिट कार्ड है तो इनका सही तरीके से इस्तेमाल करके आप ज्यादा छूट प्राप्त कर सकते हैं। ज्यादातर ई कॉमर्स कंपनियां क्रेडिट कार्ड कंपनियों से टाई-अप रखती हैं। यदि आप सर्टेन एनलिस्टेड क्रेडिट कार्ड धारक हैं तो आप अतिरिक्त छूट, ब्याज मुक्त ईएमआई और ऐसे अन्य ऑफर का लाभ उठा सकते हैं। अगर आप किसी ई-कॉमर्स प्लेटफार्म से खरीददारी करने जा रहे हैं तो सबसे पहले वहां ये चेक करें कि वहां आपके क्रेडिट कार्ड पर कौन सा ऑफर मिल रहा है।
रिवॉर्ड पॉइंट्स: अगर आप क्रेडिट कार्ड यूजर हैं तो आपके दिमाग में रिवॉर्ड पॉइंट जैसी चीज हमेशा बनी रहनी चाहिए। प्रत्येक क्रेडिट कार्ड होल्डर के पास अपना रिवॉर्ड प्रोग्राम होता है और अधिकांश कार्डों पर प्रत्येक रिवॉर्ड पॉइंट के लिए 0.2 से रुपये से लेकर 0.75 के बीच मूल्य मिलता है। कुछ क्रेडिट कार्डधारक के पास रिवॉर्ड पॉइंट को कैश में बदलकर क्रेडिट कार्ड बिल भरने जैसा ऑफर मिलता है। कई सारे क्रेडिट कार्ड धारक को रिवॉर्ड पॉइंट के बदले गिफ्ट या गिफ्ट कूपन भी मिलता है।जानकारों के मुताबिक, आप क्रेडिट कार्ड पर मिले हुए रिवॉर्ड पॉइंट को कैश में सेटल कर लें तो ज्यादा अच्छा रहेगा। अगर किसी क्रेडिट कार्ड धारक को यह सुविधा नहीं है तो वह अपनी जरुरत के हिसाब से गिफ्ट कूपन का लाभ ले सकता है। मालूम हो कि रिवॉर्ड पॉइंट की एक एक्सपायरी डेट होती है।
को-ब्रांडेड क्रेडिट कार्ड: रिवॉर्ड पॉइंट का अगला लेवल को-ब्रांडेड क्रेडिट कार्ड है। अगर आप क्रेडिट का इस्तेमाल सुपरमार्केट, हवाई यात्रा के लिए करते हैं तो ऐसे में को-ब्रांडेड क्रेडिट कार्ड आपके लिए उपयोगी साबित हो सकता है। इसके जरिए आप पॉइंट अर्न कर सकते हैं और मिले हुए पॉइंट्स का उपयोग आप को-ब्रांडेड पार्टनर के साथ बिल सेटल करने में कर सकते हैं। इस तरह के क्रेडिट कार्ड में अतिरिक्त सुविधाएं दी जाती हैं, जैसे एअरपोर्ट लॉन्ज का एक्सेस, अतरिक्त छूट, अतरिक्त बीमा।
कैश बैक: अधिकांश क्रेडिट कार्ड पर कुछ खरीददारी के वक्त कैश बैक का ऑप्शन होता है। हालांकि कैश बैक को लेकर बहुत सारे टर्म एंड कंडीशन होते हैं। कई बार यूटिलिटी बिल पर कैश बैक का ऑफर दिया जाता है।
क्रेडिट स्कोर बिल्डिंग: ऐसे उपयोगकर्ता जो पहली बार क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल कर रहे हैं उनके लिए क्रेडिट स्कोर का मतलब सीआईबीआईएल (CIBIL) स्कोर होता है जो किसी व्यक्ति के पिछले ऋण चुकाने को लेकर बताता है। यह संख्या 300 से 900 के बीच होती है। उच्च संख्या पास्ट में क्रेडिट लिए हुए व्यक्ति के उपयोग को बताती है और अधिकतर उधारकर्ता उच्च क्रेडिट स्कोर वाले व्यक्तियों को उधार देना पसंद करते हैं।अच्छा क्रेडिट स्कोर बनाने के लिए आपको समय-समय पर लिए गए लोन को चुकाना होता है। अगर आपका क्रेडिट ठीक है तो आपको लोन देने वाले क्रेडिट कार्ड स्टेटमेंट्स को चेक करते हैं जिससे आपको बड़े लोन मिलने में कोई दिक्कत नहीं होती और आपको होम लोन भी मिल सकता है।

 

 

 

नई दिल्ली। सरकारी तेल विपणन कंपनियों ने रविवार को लगातार चौथे दिन पेट्रोल एवं डीजल की कीमतों में इजाफा किया। आज दिल्ली में पेट्रोल 15 पैसे प्रति लीटर और डीजल में 12 पैसे प्रति लीटर का इजाफा हुआ है। जानकारी के लिए आपको बता दें कि पेट्रोल और डीजल की कीमतों में रोजाना सुबह 6 बजे संशोधन होता है। 16 जून 2017 से पहले महीने में दो बार ही कीमतों…
नई दिल्ली। अमेरिका और चीन के बीच ट्रेड वार से ग्लोबल अर्थव्यवस्था प्रभावित होने पर एशियाई देशों ने गंभीर चिंता जताई है। इन देशों के मंत्रियों ने चीन से समर्थित मुक्त व्यापार समझौते के लिए वार्ता प्रक्रिया में तेजी लाने की जरूरत बताई है। अमेरिका को इस व्यापार समझौते बाहर रखा जाएगा।सिंगापुर में शनिवार को क्षेत्रीय सम्मेलन में जिन मुद्दों पर चर्चा हुई, उनमें दुनिया की दो सबसे बड़ी अर्थव्यवस्थाओं…
नई दिल्ली। इस वर्ष पहली छमाही के दौरान भारत में वस्तु एवं सेवा का अमेरिकी आयात खासा बढ़ा है। इससे दोनों देशों के बीच कारोबारी घाटे में बड़ी कमी आई है। अमेरिका के डिपार्टमेंट ऑफ कॉमर्स की एक शाखा के आधिकारिक आंकड़े बताते हैं कि इस वर्ष पहली छमाही में अमेरिका ने भारत को 28.42 फीसद उछाल के साथ 15.5 अरब डॉलर मूल्य के वस्तुओं का निर्यात किया। इसी अवधि…
नई दिल्ली। भारतीय रेलवे ने एक स्पेशल टूर पैकेज पेश किया है। इसके तहत इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कोरपोरेशन (आइआरसीटीसी) गुजरात के पोरबंदर तक का पैकेज दे रहा है। इसमें महात्मा गांधी की जन्मस्थली पोरबंदर तक के स्थानों की सैर कराई जाएगी। इससे पहले इंडियन रेलवे महाकाव्य रामायण से जुड़े धार्मिक स्थानों की सैर कराने के लिए रामायणा एक्सप्रेस नामक ट्रेन की घोषणा की थी। आइआरसीटीसी ने एक बयान…
Page 3 of 210

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें