कारोबार

कारोबार (2091)

नई दिल्ली। नियमों को ताक पर रख कारोबार करने वाली कंपनियों के 3000 से अधिक निदेशकों को अयोग्य घोषित कर दिया गया है। इनमें से प्रत्येक निदेशक 20 से अधिक कंपनियों में निदेशक पद संभाल रहा था। गौरतलब है कि 8 नवंबर 2016 को लिए गए नोटबंदी के फैसले के बाद से केंद्र सरकार लगातार कालेधन पर अंकुश लगाने तरीकों को तलाश रही है।जानकारी के मुताबिक 8 नवंबर, 2016 को इनमें से एक कंपनी का नेगेटिव बेलेंस था, लेकिन नोटबंदी के बाद कंपनी के बैंकखाते में 2486 करोड़ रुपये जमा हुए और निकाले गए। आपको बता दें कि कालेधन पर प्रहार करते हुए नरेंद्र मोदी सरकार ने अब तक 2.24 लाख कंपनियां बंद कीं हैं जो कि 2 साल से अधिक समय से निष्क्रिय थीं।
डमी निदेशकों पर लगाम की तैयारी:
कालेधन पर लगाम लगाने की दिशा में सरकार ने कंपनियों के खिलाफ कार्यवाही को अगले स्तर पर ले जाने का फैसला किया है। केंद्र सरकार अब डमी निदेशकों पर नकेल कसने की तैयारी कर चुकी है। इसके लिए अब डाइरेक्ट र आइडेंटिफिकेशन नंबर के साथ आधार कार्ड को लिंक किया जाएगा। वहीं सरकार एक नया सिस्टम भी ला रही है ताकि फ्रॉड की संभावना को रोका जा सके। अब इस तरह की गतिविधियों को रोकने के लिए अर्ली वार्निंग सिस्टम (Early Warning System) लाया जाएगा जिसका संचालन एसएफआइओ (सीरियस फ्रॉड इन्वेसस्टिगेशन आर्गनाइजेशन) करेगा।

नई दिल्ली। ईज ऑफ डूइंग बिजनेस लिस्ट में भारत की रैकिंग को सुधारने के ठीक बाद वर्ल्ड बैंक ने कहा है कि वस्तु एवं सेवा कर और सरकार की ओर से किए गए अन्य सुधारों के चलते अगले तीस सालों में भारत उच्च मध्यम आय वाली अर्थव्यवस्था होगा।बीते तीन दशकों में किए गए सुधारों और प्रति व्यक्ति आय में हुए इजाफे ने इस संभावना को जोर दिया है। ईज ऑफ डूइंग बिजनेस की सूची में भारत के 100वें स्थान को हासिल करने की क्रिकेट के शतक से तुलना करते हुए विश्व बैंक की मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) क्रिस्टलीना जॉर्जीएवा ने कहा कि 15 साल पहले हुए इस सर्वे के संदर्भ में यह एक दुर्लभ उपलब्धि है। उन्होंने कहा, “अगर हम भारत के आकार पर गौर करें तो यह बहुत दुर्लभ है। मेरे विचार से क्रिकेट को प्यार करने वाले देश का शतक मारना एक बहुत बड़ा कीर्तिमान है।”पिछले हफ्ते ईज ऑफ डूइंग बिजनेस की नई सूची जारी हुई थी जिसमें भारत 30 अंकों की छलांग लगाते हुए 190 देशों की सूची में 100वें नंबर पर पहुंच गया है। बीते साल भारत 130वें नंबर पर काबिज था। वहीं वित्तमंत्री का कहना है कि सरकार भारत को टॉप 50 में ले जाने को लेकर प्रतिबद्ध है।वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय की ओर से आयोजित भारत के व्यापार सुधार पर भी बोलते हुए उन्होंने कहा कि सही ओनरशिप और सुधारों की श्रृंखला सफलता के लिए काफी अहम है। उन्होंने आगे कहा, “हमने सीखा है कि सुधारों के लिए दृढ़ता की जरूरत होती है, हम भारत के लिए जो देख पा रहे हैं वो यह है कि आज की सफलता हो अधिक ऊर्जा और सुधारों के साथ भविष्य में बदलना है।


नई दिल्ली - अधिकांश लोग सस्ती टिकट के लिए एडवांस बुकिंग कराते हैं। लेकिन बाद में जब उन्हें किसी कारण से टिकट कैंसिल करानी पड़ती है तो उन्हें कैंसिलेशन चार्ज भी देना पड़ता है। विमानन कंपनी स्पाइजेट ने टिकट अब अपने कैंसिलेशन चार्जेस में बढ़ोतरी कर दी है। आपको बता दें कि इस तरह का चार्ज बढ़ाने वाली स्पाइसजेट पहली विमानन कंपनी है।
कितना महंगा हुआ टिकट कैंसिलेशन
एयरलाइन कंपनी स्पाइसजेट ने घरेलू उड़ानों पर टिकट कैंसिल करने पर 3000 रुपये और इंटरनेशनल फ्लाइट के लिए 3500 रुपये बढ़ाए हैं। पहले घरेलू फ्लाइट के लिए यह चार्ज 2250 रुपये और अंतरराष्ट्रीय फ्लाइट्स के लिए 2500 रुपये था। नई दरों के अनुसार यदि बेस फेयर 3000 रुपये से कम है तो यात्रियों को टैक्स का हिस्सा भी रिफंड किया जाएगा। मौजूदा समय में गो एयर के कैंसिलेशन चार्जेस सबसे कम है। कंपनी का घरेलू और इंटरनेश्नल फ्लाइट के लिए 2225 रुपये वसूलती है।
कंपनी ने एक साल में कैंसिलेशन चार्ज किये डबल
भारत में टिकट कैंसिलेशन चार्ज बीते एक वर्ष में करीब दो गुना हो गया है। पिछले साल जनवरी में स्पाइजसेट का टिकट कैंसिलेशन चार्ज 1800 रुपये था। जानकारी के लिए बता दें कि यदि टिकट ऑनलाइन पोर्टल से खरीदा है तो टैक्स रिफंड होगा। फिलहाल एयरलाइन कैंसिलेशन के अलावा जिस पोर्टल से बुक कराया गया है, वह अपनी तरफ से कैंसिलेशन और कंविनियेंस चार्ज भी लेता है। इस कारण यात्रियों को बहुत कम रिफंड मिलता है। यहां तक कि कई बार रिफंड मिलता भी नहीं है।


नई दिल्ली - दुनिया की सबसे बड़ी रिटेलर कंपनी वॉलमार्ट भारत में तेजी से विस्तार करने जा रही है। वॉलमार्ट इंडिया प्राइवेट लिमिटेड की मानें तो अगले तीन सालों में देशभर के विभिन्न शहरों में कंपनी 30 स्टोर्स खोलने की योजना बना रही है।
कंपनी के प्रमुख अधिकारी ने बताया कि हम लोग विस्तार की योजना बना रहे हैं। अगले तीन सालों में 30 स्टोर खोलने का लक्ष्य रखा गया है। बता दें कि वर्तमान समय में कंपनी के 21 स्टोर्स देशभर में हैं।
वॉलमार्ट इंडिया के सीईओ कृष्ण अय्यर ने बताया कि कंपनी अगले साल पांच से सात स्टोर खोलेगी। हमनें 19-20 स्टोर खोलने के लिए समझौते व अनुबंध कर लिए हैं।
उन्होंने आगे कहा, 'कई स्टोर्स का निर्माण पूरा होने वाला है या फिर विभिन्न स्तरों पर है। वॉलमार्ट स्टोर का उद्घाटन में 9-10 महीने हो जाएगा।'
वॉलमार्ट ने अपना पहला स्टोर भिवांडी में खोला था। इसके बाद लखनऊ में भी कंपनी ने अपना स्टोर खोला है। इससे पहले जुलाई महीने में अय्यर ने जानकारी दी थी कि कंपनी महाराष्ट्र में 15 नए स्टोर खोलने के लिए 900 करोड़ रुपये की राशि तय की है।
बताते चलें कि वॉलमार्ट दुनियाभर के कई देशों में थोक खुदरा व्यापार में काम करती है।


नई दिल्ली - व्यापारियों के एक संगठन ने जीएसटी नेटवर्क में आने वाली समस्याओं के लिए इंफोसिस को जिम्मेदार ठहराया है और कहा है कि कंपनी की ओर से की गई लापरवाही के लिए सीबीआई जांच होनी चाहिए। हालांकि भारत की दूसरी सबसे बड़ी आईटी सेवा कंपनी ने इन आरोपों को सिरे से नकार दिया है।
आपको बता दें कि साल 2015 में वस्तु एवं सेवा कर की अप्रत्यक्ष कर व्यवस्था के लिए एक नेटवर्क तैयार करने के लिए इंफोसिस को 1,380 करोड़ रुपए का ठेका मिला था। इस नेटवर्क को जीएसटी नेटवर्क या जीएसटीएन कहा जाता है। अखिल भारतीय ट्रेडर्स (सीएआईटी) के परिसंघ की ओर से जारी किए गए एक बयान में कहा गया है कि जीएसटी नेटवर्क के खराब प्रदर्शन से वो निराश हैं। परिसंघ का कहना है कि इसके लिए प्रमुख रुप से इंफोसिस जिम्मेदार है।
इंफोसिस के खिलाफ जांच की मांग:
कैट ने इंफोसिस और अन्य कंपनियों के खिलाफ सीबीआई जांच की मांग की है जिन्हें जीएसटी पोर्टल को तैयार करने, अपडेट करने और उसके रखरखाव का जिम्मा सौंपा गया था। इन सभी आरोपों पर टिप्पणी करते हुए इंफोसिस ने कहा कि ये सभी आरोप पूरी तरह से गलत हैं।
क्या कहा इंफोसिस ने:
इंफोसिस की ओर से जारी किए गए बयान में कहा गया है कि प्रतिष्ठित जीएसटी परियोजना के साथ जुड़ने के लिए इंफोसिस को बहुत गर्व है, जो कि दुनिया में अपनी तरह का सबसे बड़ा टैक्स प्रोजेक्ट है। कंपनी ने कहा कि उनका सिस्टम पहले से ही कई मापदंडों में सफलता हासिल कर चुका है।

 


नई दिल्ली - निजी क्षेत्र के प्रमुख बैंकों में से एक आईसीआईसीआई बैंक ने दूसरी तिमाही (जुलाई से सितंबर) के दौरान 1,082 लोगों की छटनी की है। ताजा आंकड़े के मुताबिक 30 सितंबर तक बैंक में करीब 83,058 कर्मचारी काम कर रहे थे। जून 2017 में यह आंकड़ा 84,140 का था।
इस तिमाही के दौरान बैंक के कर्मचारियों की लागत 1,514 करोड़ रुपए पर अपरिवर्तित रही है। ऐसे समय में जब इंडियन बैंकिंग सेक्टर एक ऐसा उद्योग बन गया है जहां रोबोट्स, चैटबॉट्स, आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस और अन्य तकनीकें इस सेक्टर में रोजगार के संकट पैदा कर रही हैं। इसके साथ ही बकाया ऋण की गुणवत्ता के कारण बैंकों की बैलेंस सीट पर बढ़ रहे दबाव और अधिक पूंजी प्रावधान आवश्यकताएं सीधे-सीधे बैंकों की लागत को प्रभावित कर रही हैं।
वहीं दूसरी तरफ निजी क्षेत्र के एक अन्य प्रमुख बैंक एचडीएफसी बैंक ने 2,700 लोगों को और एक्सिस बैंक जो कि निजी क्षेत्र का तीसरा सबसे बड़ा बैंक माना जाता है ने जुलाई से सितंबर के दौरान 2,270 लोगों के नौकरी दी है। हालांकि एचडीएफसी बैंक ने बीते साल अपने कर्मचारियों की संख्या को तर्कसंगत बनाया था। उसने जून 2017 को अपने कर्मचारियों की संख्या को घटाकर 83,750 कर दिया था, जबकि बीते साल सिंतबर के अंत तक उसके कर्मचारियों की संख्या 95,002 रही थी।
बीती दो तिमाहियों के दौरान (अप्रैल से सितंबर तक), आईसीआईसीआई बैंक ने पहली तिमाही में 1,300 कर्मचारियों को नौकरी दी थी। 30 जून 2017 तक इसके कर्मचारियों की संख्या 84,140 थी। हालांकि दूसरी तिमाही के दौरान इसमें कमी देखने को मिली है।

नई दिल्ली - एयर एशिया हवाई यात्रा करने वालों के लिए धमाकेदार ऑफर लेकर आई है। कंपनी कुछ रूट्स पर महज 1299 रुपये में टिकट उपलब्ध करा रही है। वेबसाइट की मानें तो ये ऑफर सीमित समय के लिए है। इसके लिए ग्राहकों को एडवांस बुकिंग करानी होगी। ग्राहक पांच नवंबर तक सस्ती दरों पर टिकट का फायदा उठा सकते हैं। इसके अलावा ग्राहक 30 अप्रैल 2018 तक हवाई यात्रा…
नई दिल्ली - विश्व बैंक की कारोबार सुगमता के मामले में 30 अंक की छलांग लगाने वाले भारत ने शेयरधारकों के अधिकारों की रक्षा के मामले में पूरे 10 अंक हासिल किए हैं। इस मामले में अमेरिका, ब्रिटेन, सिंगापुर और न्यूजीलैंड जैसी विकसित अर्थव्यवस्थाएं भी विश्व बैंक की नई कोराबार सुगमता रिपोर्ट में यह मुकाम पाने में नाकाम रही हैं। भारत को विश्व बैंक की सूची में 100वां मिला है,…
देश के सबसे अमीर शख्स और रिलायंस इंडस्ट्री के मालिक मुकेश अंबानी अब एशिया के सबसे रईस व्यक्ति बन गए हैं। फोर्ब्स मैगजीन की रियल टाइम बिलियनर्स की लिस्ट में मुकेश ने 42.1 अरब डॉलर( करीब 2 लाख 73 हजार 650 करोड़ रुपए) की कुल संपत्ति के साथ चीन के हुइ यान को पछाड़ा है।बुधवार को रिलायंस इंडस्ट्रीज के शेयरों में 1.22 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई और यह 952.30 रुपए…
नई दिल्ली - मोबाइल कंपनियों के बीच अधिक से अधिक उपभोक्ताओं को जोड़ने की दौड़ में टेलिकॉम क्षेत्र की दिग्गज कंपनी भारती एयरटेल आने वाले वर्षों में अपने 3जी नेटवर्क को बंद कर सकती है। 3जी बंद होने के बाद कंपनी केवल 2जी और 4जी सेवाएं ही प्रदान करेंगी। खबरों की मानें तो कंपनी 3जी नेटवर्क से जुड़े स्पेक्ट्रम का इस्तेमाल 4G सेवाओं के लिए कर सकती है। यह जानकारी…
Page 3 of 150

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें