कारोबार

कारोबार (2940)

मुंबई : केंद्रीय सूक्ष्म, लघु व मध्यम उद्यम मंत्री कलराज मिश्र ने शुक्रवार को कहा कि केंद्र की स्टैंड अप इंडिया पहल के तहत अनुसूचित जाति, जनजाति वर्ग के 2.5 लाख उद्यमी तैयार किए जाएंगे। मिश्र ने दलित इंडियन चैंबर ऑफ कामर्स एंड इंडस्ट्री (डीआईसीसीआई) द्वारा यहां आयोजित पांचवें राष्ट्रीय उद्योग एवं व्यापार मेले के उद्घाटन अवसर पर यह जानकारी दी। 

स्टार्टअप का ब्लू प्रिंट जल्द लाएगी सरकार:-उन्होंने कहा, ‘स्टैंड अप इंडिया पहल के तहत 1.25 लाख बैंक शाखाओं में से प्रत्यक्ष को एक अनुसूचित जाति, जनजाति और एक महिला उद्यमी को वित्तपोषण के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा ताकि देश में 2.5 लाख नये उद्यमी विकसित किए जा सकें।’ मिश्र ने कहा कि नवोन्मेष आधारित नई कंपनियों (स्टार्टअप) को मदद के लिए एक विशेष ढांचा होगा जिसमें सरकार से वित्तपोषण शामिल है। सरकार नया उद्यम स्थापित करने की प्रक्रिया को आसान बनाने के उद्देश्य से स्टार्टअप के लिए एक खाके (ब्लूप्रिंट) की शीघ्र ही घोषणा करेगी।’ 

फड़णवीस ने किया व्यापार मेले का उद्घाटन:-उन्होंने कहा कि सरकार प्रधानमंत्री रोजगार सृजन (पीएमईजीपी) जैसे कई कार्य्रकम संचालित कर रही है। पीएमईजीपी में अजा, जजा लाभान्वितों को छूट दी जाती है। डीआईसीसीआई देश में दलित उद्यमों को प्रोत्साहित कर रहा है ताकि यह समुदाय देश की अर्थव्यवस्था में योगदान करने वाला बने और ‘रोजगार चाहने वालों की बजाय रोजगार देने वाला बने।’ इस अवसर पर भारी उद्योग मंत्री अनंत गीते ने कहा कि दलित उद्यमियों के लिए उम्मीदों की राह खुली है। इससे पहले मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़णवीस ने व्यापार मेले का उद्घाटन किया और अजा-जजा उद्यमियों को सक्षम बनाने की जरूरत जताई।

नई दिल्ली:-अभी तक यही माना जाता था कि आज का यूथ एक अच्छी नौकरी, सुंदर बीवी और ऐश की जिंदगी के लिए अच्छी सैलरी चाहता है। लेकिन समय के साथ अब यूथ की सोच भी बदल चुकी है। उनके लिए नौकरी मतलब सिर्फ घर चलाना नहीं, एक जुनून भी भी है।कंपनियों के कामकाज और कर्मचारियों पर सर्वे करने वाली कंपनी  मैनपावरग्रुप साल्यूशंस ने इस बात का खुलासा किया है। रिपोर्ट के मुताबिक कैरियर और नौकरी बदलने के फैसले से जुड़ी प्रेरणा बाजार की स्थिति से खासी जुड़ी होती है जबकि रोजगार की तलाश से जुड़े व्यवहार और तरजीह आम तौर पर उम्र से जुड़े होते हैं।रिपोर्ट के मुताबिक, ‘धन का महत्व तो है लेकिन आज के उम्मीदवार दैनिक जीवन के साथ काम के जुड़ाव में भी रुचि रखते हैं। उनके लिए काम सिर्फ धन कमाने की ऐसी मशीन नहीं है जो सेवानिवृत्ति के बाद उन्हें अच्छा जीवन मुहैया कराए।’भौगोलिक क्षेत्र के लिहाज से फर्क के संबंध में रिपोर्ट में कहा गया कि चीन में रोजगार की तलाश करने वाले कंपनी की प्रतिष्ठा पर ध्यान देते हैं जबकि मैक्सिको में उद्योग को बहुत कम तरजीह देते हैं। दोनों सोशल मीडिया का उपयोग करते हुये विकसित बाजारों के बजाए अपने संभावित कार्य क्षेत्रों की तलाश करते हैं।

नई दिल्ली:-आपने बाजार में कोई सामान खरीदा, घर आ गए। फिर उसका रसीद और गारंटी या वारंटी कार्ड संभाल कर रखने के ढेर सारे झंझट। इस सबसे निजात देने के लिए केंद्र सरकार जल्द ही ई-वारंटी योजना शुरू करने जा रही है। इसके तहत सामान बनाने वाली कंपनी के पास ही सारा रिकॉर्ड होगा। फिर जब चाहें आप सामान बदल सकेंगे या शिकायत करने पहुंच सकेंगे।विश्व उपभोक्ता अधिकार दिवस के मौके पर आयोजित कार्यक्रम में केंद्रीय खाद्य एवं उपभोक्ता मामलों के मंत्री रामविलास पासवान ने कहा कि ‘ई-वारंटी’ के बाद गारंटी से संबंधित जानकारी संभालकर रखना निर्माता की जिम्मेदारी होगी। उपभोक्ता को सिर्फ तय अवधि में शिकायत करनी होगी। अमेरिका सहित कई दूसरे देशों में यह व्यवस्था पहले से चली आ रही है।उन्होंने कहा कि इसके लिए सरकार संसद में लंबित उपभोक्ता संरक्षण विधेयक में भी बदलाव करेगी। ‘ई-वारंटी’ के तहत सभी जानकारियां कंप्यूटर में सुरक्षित रखी जाएंगी। पासवान ने कहा कि ‘ई-वारंटी’ का फायदा यह भी है कि उपभोक्ता किसी भी शहर में गारंटी या वारंटी का लाभ उठा सकते हैं।केंद्रीय मंत्री ने एंटीबायोटिक दवाओं के दुष्प्रभाव को देखते हुए इससे तैयार खाद्य पदार्थों के बहिष्कार की अपील की है। पासवान ने जंक फूड के सेहत पर असर के संबंध में कहा, जंक फूड के पैक पर दर्ज होना चाहिए कि यह सेहत के लिए लाभकारी है या हानिकारक।

न्यूयार्क:-अमेरिका के एक कान्ट्रैक्टर पर यहां एक सरकार द्वारा वित्तपोषित परियोजना गैरकानूनी तौर पर भारत के एक सब कान्ट्रैक्टर को सौंपने के संबंध में 31 लाख डालर का भारी-भरकम जुर्माना लगाने का आदेश जारी किया गया है।फोकस्ड टेक्नोलाजीज इमेजिंग सर्विसेज, इसके एकमात्र स्वामी और पूर्व सह-स्वामी जूली बेनवेयर ने स्वीकार किया कि उन्होंने 2008-2009 में मुंबई के एक सब-कान्ट्रैक्टर को काम आउटसोर्स कर कानून का उल्लंघन किया है और एक समझौते के तहत उन्होंने जुर्माना और शुल्क अदा करने पर सहमति जताई।संबंधित विभागों ने कहा कि भारतीय कंपनी ने जांच में स्वेच्छा से पूरा सहयोग किया और वह इस बात से वाकिफ नहीं थी कि उसे यह काम गैरकानूनी तौर पर सौंपा गया है।

बीजिंग:-भारत के ‘विश्व अर्थव्यवस्था में वृद्धि का नया अगुवा’ बनने संबंधी रपटों को खारिज करते हुए चीन के सार्वजनिक मीडिया ने आज कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आर्थिक सुधारों में ‘मामूली प्रगति’ हुई है और दावा किया है कि चीन की अर्थव्यवस्था भारतीय अर्थव्यवस्था से पांच गुना बड़ी है।चीन के सरकारी अखबार ग्लोबल टाइम्स ने एक आलेख में यह टिप्पणी व दावा किया है। इसमें लिखा गया है कि ‘भारतीय अर्थव्यवस्था चीन की अर्थव्यवस्था से आगे निकल जाएगी’ तथा ‘भारत विश्व अर्थव्यवस्था में वृद्धि का नया इंजन बनेगा’ जैसी अटकलें प्राय: सुनी जाती हैं और कुछ विशेषज्ञ तो यह भी कहते हैं कि चीन का मॉडल भारत की तुलना में निम्न है।आलेख में आगे लिखा गया है, ‘भारतीय अर्थव्यवस्था को बढ़ा-चढ़ाकर पेश कर भारतीय अधिकारी व पश्चिमी मीडिया अंतरराष्ट्रीय निवेशकों को अपनी पूंजी चीन से निकालकर भारत में लगाने को उकसा रहे है जो भारतीय वृद्धि को प्रोत्साहित कर रहा है।’ इसके अनुसार, ‘हालांकि इस तरह के बातों से उन निवेशकों पर ज्यादा असर नहीं है जो कि मुनाफा कमाना चाहते हैं और सौदा लागत को कम रखना चाहते हैं।’ इस आलेख में सलाह दी गई है कि भारत के माडल की चीन के मॉडल से तुलना नहीं करनी चाहिए बल्कि दोनों देशों के एक दूसरे के विकास अनुभवों से सीखना चाहिए।

मुंबई:-कर्ज नहीं चुका पाने के मामले में फंसे उद्योगपति विजय माल्या ने फार्मा कंपनी सनोफी इंडिया लिमिटेड (एसआईएल) का अध्यक्ष पद छोड़ने का फैसला किया है। कंपनी ने यहां एक बयान जारी कर यह जानकारी दी। कंपनी ने कहा कि माल्या ने आगामी सालाना आम बैठक में फिर से निदेशक चुने जाने की दावेदारी नहीं करने का अपना फैसला जता दिया है।माल्या पहली बार कंपनी में 1973 में निदेशक बने थे। तब कंपनी का नाम होएस्ट फार्मास्यूटिकल्स लिमिटेड था। माल्या दिसंबर 1983 से ही कंपनी के बोर्ड के अध्यक्ष हैं। माल्या ने अपने बयान में कहा, मुझे इस कंपनी के बोर्ड की अध्यक्षता करने और इस लंबी अवधि में इसमें शानदार विकास करने और समृद्धि बढ़ाने का सुअवसर मिला है।सनोफी के प्रबंध निदेशक शैलेश अय्यंगर ने कहा कि माल्या के नेतृत्व में गत 10 साल में कंपनी की बिक्री 800 करोड़ रुपये से बढ़कर 2,000 करोड़ रुपये हो गई और शेयरों की कीमतत 1,655 रुपये से बढ़कर 4,358 रुपये हो गई। वहीं, बाजार मूल्य तीन गुना हो गया और कर्मचारियों की संख्या 1,500 से बढ़कर 3,700 हो गई।

नई दिल्ली:-कमजोर होते वैश्विक रूख के बीच सटोरियों ने अपने सौदों के आकार को कम किया जिससे वायदा कारोबार में आज सोने की कीमत 219 रुपये की गिरावट के साथ 28,830 रुपये प्रति 10 ग्राम रह गयी।एमसीएक्स में सोने के अप्रैल डिलीवरी वाले अनुबंध की कीमत 219 रुपये अथवा 0.75 प्रतिशत की गिरावट के साथ 28,830 रुपये प्रति 10 ग्राम रह गयी जिसमें 373 लॉट के लिए कारोबार हुआ। इसी…
नई दिल्ली:-दुनिया की प्रमुख लैपटॉप और कंप्यूटर बनाने वाली कंपनी डेल ने ‘बैक टू स्कूल’ 2016 के नाम से स्कीम लॉन्च की है। इस स्कीम के मुताबिक आप मात्र एक रुपए के डाउनपेमेंट पर डेल का लैपटॉप और पीसी खरीद सकते हैं। वहीं कंपनी ने 2 साल की EMI पर ब्याज नहीं लेने का भी घोषणा की है।कंपनी ने यह अभियान अपनी बिक्री बढ़ाने और स्टूडेंट्स को कंप्यूटिंग के प्रति…
नई दिल्ली:-एप्पल ने अपने आई फ़ोन एसई के साथ आईपैड प्रो को भी लॉन्च किया है। 9.7-इंच स्क्रीन वाला यह टैबलेट देखने में बहुत हद तक आईपैड एयर 2 के समान लगता है। हालांकि यह पुराने आईपैड से थोड़ा मोटा है। इस टैबलेट में कंपनी ने चारो कोनों पर चार स्पीकर दिए हैं जैसा कि 12.9-इंच स्क्रीन वाले आईपैड प्रो में देखने को मिला था। फीचर एंड स्पेसिफिकेशन:-इस टैबलेट को…
नई दिल्ली:-सोचिए अगर आप 7 सोशल साइटों को एक ही विंडो पर खोल पाएं तो कैसा रहेगा। हूटसूट एक ऐसी वेबसाइट है जो एक साथ कई सोशल साइट इस्तेमाल करने की सुविधा देती है। इस वेबसाइट पर एक बार अकाउंट बनाने के बाद फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस और लिंक्डइन जैसी सात वेबसाइटों को एक स्क्रीन पर इस्तेमाल कर सकते हैं। इसकी खास बात यह है कि एक ही स्क्रीन पर…

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें