कारोबार

कारोबार (2152)


नई दिल्ली - आयकर विभाग ने उत्तर प्रदेश, हरियाणा समेत देश के कई हिस्सों में बिटक्वाइन एक्सचेंजों की जांच शुरू कर दी है। केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) ने कहा कि यह नियमित सर्वे है, जिसका मकसद बिटक्वाइन के लेनदेन को लेकर आवश्यक जानकारी जुटाना है। इस मामले में फिलहाल किसी के खिलाफ कार्रवाई नहीं की गई है।
सीबीडीटी प्रवक्ता के अनुसार आयकर विभाग की बेंगलुरु टीम की अगुवाई में विभाग की विभिन्न टीमों ने दिल्ली, बेंगलुरु, यूपी, हैदराबाद, कोच्चि और गुरुग्राम सहित नौ एक्सचेंज परिसरों में सर्वे का काम किया। इन स्थानों पर बिटक्वाइन का लेन-देन होता है। यह कार्रवाई आयकर विभाग की धारा 133ए के तहत की गई। इस धारा के तहत कार्रवाई का मकसद निवेशकों और व्यापारियों की पहचान के लिए प्रमाण जुटाना, उनके द्वारा किए गए सौदे, दूसरे पक्षों की पहचान, इस्तेमाल किए गए बैंक खातों आदि का पता लगाना होता है।
सीबीडीटी के प्रवक्ता ने कहा कि सर्वे कर जानकारी जुटाने का कार्य किया जा रहा है। इस जानकारी का इस्तेमाल भविष्य में होगा। लेकिन क्या इस्तेमाल होगा, अभी स्पष्ट नहीं है। दरअसल, देश में बिटक्वाइन को प्रतिबंधित करने का अभी कोई प्रावधान नहीं है। लेकिन पहली बार आयकर विभाग ने बिटक्वाइन को लेकर इतने बड़े स्तर पर कदम उठाया है।
दुनिया भर के बैंक चिंतित
बिटक्वाइन एक आभासी मुद्रा है। देश में इसका विनियमन नहीं होता। इसके बढ़ते चलन से दुनिया भर के केंद्रीय बैंक चिंतित हैं। रिजर्व बैंक ने इस तरह की आभासी मुद्रा रखने वाले लोगों को इसके बारे में आगाह किया है। इस साल मार्च में वित्त मंत्रालय ने देश और वैश्विक स्तर पर आभासी मुद्राओं पर एक अंतर अनुशासनात्मक समिति का गठन किया है।
क्या है Bitcoin
बिटकॉइन एक आभासी मुद्रा (क्रिप्टो करेंसी) है। देश में इसका विनिमयन नहीं होता। इसके बढ़ते चलन से दुनियाभर के केंद्रीय बैंक चिंतित हैं। भारतीय रिजर्व बैंक ने इस तरह की आभासी मुद्रा रखने वाले लोगों को इसके बारे में आगाह किया है। इस साल मार्च में केंद्रीय वित्त मंत्रालय ने देश और वैश्विक स्तर पर आभासी मुद्राओं पर एक अंतर अनुशासनात्मक समिति का गठन किया था।
10 लाख रुपये के पार पहुंच गई थी कीमत
Bitcoin की कीमतों में पिछले नौ माह में करीब 14 गुना बढ़ोतरी हुई है। पिछले दिनों इसकी कीमत 17,000 डॉलर के पार पहुंच गई थी। भारतीय मुद्रा में यह आंकड़ा 10 लाख रुपये से अधिक है। इस साल 20 अप्रैल को इसका दाम सिर्फ 1,200 डॉलर था।


नई दिल्ली - आप 4जी वाई-फाई डिवाइस खरीदने की योजना बना रहे हैं तो आपके लिए खुशखबरी है। अब पहले के मुकाबले इसे आधे दाम पर खरीद सकेंगे। दरअसल देश की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी एयरटेल ने कंपनी ने अपने 4जी हॉटस्पॉट की कीमत 50 फीसदी घटा दी है।
कितने में मिलेगा
कंपनी की ओर से बुधवार को जारी विज्ञप्ति के मुताबिक अब यह सिर्फ 999 रुपये में मिलेगा। कंपनी का यह हॉटस्पॉट डिवाइस नए दाम के साथ जल्द ही ई-कॉमर्स अमेजन इंडिया पर भी मिलेगा। एयरटेल के इस डिवाइस की कीमत पहले 1950 रुपये के करीब थी।
ग्राहको की चांदी
टेलीकॉम कंपनियों में बढ़ती जंग में उपभोक्ताओं की चांदी होती जा रही है। रिलायंस जियो के बाजार में आने के बाद पहले अन्य टेलीकॉम कंपनियों ने कॉल और डाटा दरों में कटौती की है। अब हॉटस्पॉट डिवाइस के दाम में कटौती की होड़ लग गई है। हाल ही में जियो ने अपने हॉटस्पॉट की कीमत 1,500 रुपये से घटाकर 999 रुपये कर दी। उद्योग सूत्रों का कहना है कि अन्य कंपनियां भी जल्द ही होड़ में शामिल हो सकती हैं।
क्या है हॉटस्पॉट डिवाइस
यह वाई-फाई के जरिये इंटरने चलाने वाला डिवाइस है। इसके जरिये एक साथ मोबाइल,टैब और लैपटॉप आदि पर नेट चला सकते हैं।

 


नई दिल्ली - सुप्रीम कोर्ट ने नेशनल कंपनी लॉ ट्रिब्यूनल(एनसीएलटी) के उस आदेश पर रोक लगा दी है जिसमें यूनिटेक के निदेशकों का चुनाव केंद्र सरकार को करने की जिम्मेदारी दी गई थी। इस फैसले के बाद से अब तक कंपनी के शेयर्स में 11 फीसद से अधिक की गिरावट देखने को मिल चुकी है।
केंद्र सरकार की ओर से कोर्ट में पेश हुए अटर्नी जनरल एजी केके वेणुगोपाल ने सुप्रीम कोर्ट के फैसेल का समर्थन किया था। उन्होंने बताया कि सरकार ने एनसीएलटी के इस तरह के फैसले को नहीं कहा था, बल्कि उन्होंने बताया था कि जब मामला कोर्ट में है तो उन्हें ऐसा फैसला नहीं देना चाहिए।
क्या था पूरा मामला
देश की दूसरी सबसे बड़ी रियल एस्टेट कंपनी रही यूनिटेक को कुप्रबंधन और फंड के दुरुपयोग से जुड़े मामले में बड़ा झटका लगा है। नेशनल कंपनी लॉ ट्रिब्यूनल (एनसीएलटी) ने यूनिटेक के सभी मौजूदा आठ डायरेक्टरों को निलंबित करने का फैसला सुनाया है। साथ ही सरकार को बोर्ड में 10 निदेशक नामित करने की भी इजाजत दे दी है। करीब 20 हजार मकान खरीदारों के हितों की रक्षा का हवाला देते हुए सरकार ने कंपनी का प्रबंधन अपने हाथ में लेने के लिए एनसीएलटी में अपील की थी।
यूनिटेक लिमिटेड के शेयर्स का हाल-
दिन के करीब एक बजे यूनिटेक लिमिटेड के शेयर्स बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज पर 10.92 फीसद की गिरावट के साथ 6.85 के स्तर पर कारोबार कर रहे हैं। इसका पिछला बंद स्तर 7.69 का रहा है। वहीं, कंपनी के शेयर्स ने दिन का उच्चतम 7.90 का स्तर औ निम्नतम 6.43 का स्तर छुआ है। साध ही इसका 52 हफ्तों का उच्चतम 9.87 का स्तर और निम्नतम 3.89 का स्तर रहा है। इसी तरह एनएसई पर कंपनी के शेयर्स 10.46 फीसद की कमजोरी के साथ 6.85 के स्तर पर कारोबार कर रहा है।

 


नई दिल्ली - भारत की कम बजट वाली एयरलाइन एयर डेक्कन इस महीने से मात्र 1 रुपए में हवाई यात्रा करने का मौका दे रहा है। एयर डेक्कन 2003 में जी आर गोपीनाथ द्वारा शुरु की गई थी। जिसके बाद 2008 इसे विजय माल्या की किंगफिशर एसरलाइंस के साथ मर्ज कर दिया गया। पैसों की कमी के चलते इसका संचालन 2012 में रोक दिया गया लेकिन एक बार फिर क्षेत्रीय संपर्क योजना (आरसीएस) के तहत शुरु होने जा रही है।
उड़ान मुंबई, दिल्ली, कोलकाता और शिलोंग के लिए शुरु होने जा रही है जो कि इनके आस-पास के शहर को जोड़ेंगे। सरकारी की योजना के अनुसार उड़ान का किराया एक घंटे के सफर के लिए 2,500 होगा। वहीं गोपीनाथ का कहना है कि कुछ लकी पैसेंजर को फ्लाइट टिकट एक रुपए में भी मिलेंगे। हालांकि नासिक-मुबंई फ्लाइट का किराया 1,400 रुपए से शुरु होगा।
जनवरी तक नई उड़ानें शुरू हो जाएंगी जो दिल्ली से आगरा, शिमला, लुधियाना, पंतनगर, देहरादून और कुल्लू को जोड़ेंगी।

 


नई दिल्ली - सुप्रीम कोर्ट ने अपने ताजा फैसले में होटल एवं रेस्तरां मालिकों को बड़ी राहत दे दी है। इस फैसले के मुताबिक अब ये दोनों पानी की बोतल को एमआरपी से ज्यादा दाम पर बेच सकते हैं। कोर्ट ने अपने इस फैसले के पीछे दलील दी कि ये दोनों सेवा उपलब्ध करवाते हैं और इन्हें मेट्रोलॉजी अधिनियम के तहत नियंत्रित नहीं किया जा सकता है।
भारतीय संघ के खिलाफ भारत के होटल एवं रेस्तरां एसोसिएशन की ओर से दायर एक विशेष याचिका पर मंगलवार को सुनवाई के बाद फैसला सुनाते हुए सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि जब होटल एवं रेस्तरां वाले खाना और ड्रिंक्स सर्व करते हैं तो वो एक तरह की सेवा भी दे रहे होते हैं ऐसे में ऐसी संस्थाओं को बिलिंग के दौरान वस्तुओं की एमआरपी के हिसाब से ही बिलिंग करने पर जोर नहीं दिया जा सकता है।
इस सुनवाई के दौरान मौजूद एक वकील ने बताया, “अदालत ने अपने फैसले में कहा है कि होटल और रेस्तरां में सेवा के साथ अन्य कई सेवाएं भी दी जाती हैं। ऐसे में इन पर एमआरपी मूल्यों के कथित उल्लंघन के लिए लीगल मेट्रोलॉजी अधिनियम के तहत अभियोजन शुरू नहीं किया जा सकता है।”
रिपोर्ट्स के मुताबिक सरकार ने एफएचआरएआई के खिलाफ अपने हलफनामे में कहा था कि होटल एवं रेस्तरां में प्री-पैक्ड या उत्पादों के लिए एमआरपी से अधिक चार्ज करना मैट्रोलॉजी एक्ट का उल्लंघन है। ऐसे में इन लोगों की ओर से बोतल बंद पानी की एमआरपी से ज्यादा दाम पर बिक्री आर्थिक जुर्माना लगाने के लिए सरकार को मजबूर करती है।

 


नई दिल्ली - बाजार नियामक भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड (सेबी) ने लिस्टेड कंपनियों के वित्तीय नतीजे लीक होने के संबंध में कहा है कि मामला गंभीर है। साथ ही इस मामले की जांच की जा रही है। गौरतलब है कि कुछ दिन पहले मैसेजिंग एप व्हाट्सएप पर कुछ लिस्टेड कंपनियों के वित्तीय नतीजे लीक हो गये थे।
सेबी के चेयरमैन अजय त्यागी मंगलवार को स्पष्ट किया है कि नियामक को इस तरह की जानकारी प्राप्त हुई है जहां पर दिग्गज कंपनियों के प्राइज सेंसिटिव डेटा नतीजों के सार्वजनिक होने से पहले व्हाट्सएप पर लीक हुए हैं। इस मामले की गंभीरता से जांच की जा रही है।
सेबी और एक्सचेंज दो दर्जनों से भी ज्यादा स्टॉक्स की ट्रेड डिटेल्स की जांच कर रहा है जिनके नतीजे कथित रुप से व्हाट्सएप पर लीक हुए थे। साथ ही नियामक उन लोगों के कॉल रिकॉर्ड की भी जांच कर रहा है जो इसमें शामिल हैं। अधिकारियों का मानना है कि इन कंपनियों में कई ब्लू चिप कंपनियां भी शामिल है।
इसके अतिरिक्त सेबी उन लोगों के कॉल डेटा रिकॉर्ड जांच रहा है जिन्होंने इस तरह की मुख्य वित्तीय जानकारी और अन्य प्राइज सेंसेटिव जानकारी सोशल मीडिया ग्रुप पर सर्कुलेट की थी। नियामक के पास टेलिकॉम सर्विस प्रोवाइडर से कॉल डेटा रिकॉर्ड प्राप्त करने का अधिकार है। साथ ही सेबी ब्रोकरेज और लिस्टेड कंपनियों से भी इस तरह के स्पष्टीकरण की मांग करेगा कि अगर कोई व्यक्ति इसमें शामिल था या नहीं।
सेबी IPO के लिस्टिंग टाइम को कर सकती है कम
बाजार नियामक सेबी आईपीओ के प्रोसेसिंग को सरल और तेज करते हुए पूरी प्रक्रिया के लिस्टिंग टाइम को छह दिनों से घटाकर चार दिन कर सकता है। यह जानकारी सेबी के चेयरमैन अजय त्यागी ने दी है। इससे पहले नियामक ने सात दिनों को घटाकर छह किया था।

नई दिल्ली - आपने भी अनुभव किया होगा कि 1 लीटर की पानी की बोतल के दाम रेलवे स्टेशन, बस अड्डेस होटल एवं रेस्तरां और आपके घर के पास की दुकान में अलग अलग होते हैं, लेकिन अब ऐसा नहीं होगा। अब रेस्टोरेंट, होटल, मल्टीप्लेक्स आदि को अधिकतम खुदरा मूल्य (एमआरपी) से अधिक पर पानी की बोतल बेचने पर जुर्माना देना होगा, यहां तक कि उन्हें जेल की हवा तक…
नई दिल्ली - सार्वजनिक क्षेत्र की प्रमुख विमानन कंपनी एयरएशिया इंडिया ने 2018 ट्रैवल डिल्स नाम का ऑफर पेश किया है। इसके तहत यात्री 1399 रुपये (सभी कर समेत) में उड़ान भर सकते हैं। ऑफर के तहत यात्री बैंगलुरू, हैदराबाद, कोच्चि, कोलकता और भुवनेश्वर आदि गतव्यों पर जा सकेंगे। वहीं इस डिस्काउंट ऑफर में 30 जून 2018 तक सफर किया जा सकता है। इस ऑफर के तहत आपको 17 दिसंबर,…
नई दिल्ली - देश के दूसरे बड़े सरकारी बैंक पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) ने मंगलवार को अपना क्यूआईपी (क्वालिफाइड इंस्टीट्यूशनल प्लेसमेंट) लॉन्च कर दिया है। शेयर बिक्री के जरिए, पंजाब नेशनल बैंक को 5000 करोड़ रुपये तक मिलने की उम्मीद है। पीएनबी ने क्यूआईपी रूट के जरिए 212.79 करोड़ शेयर्स को बिक्री के लिए रखा है और बैंक ने प्रति इक्विटी शेयर की कीमत 176.35 रुपए रखी है।पंजाब नेशनल बैंक…
नई दिल्ली - मोबाइल इंटरनेट स्पीड के मामले में दुनिया में भारत का स्थान 109वां है तथा फिक्स ब्रॉडबैंड के मामले में 76वां है, जबकि इसमें 15 फीसदी की बढ़ोतरी दर्ज की गई है। ऊकला (Ookla) के नवंबर के स्पीडटेस्ट वैश्विक सूचकांक से यह जानकारी मिली है। सोमवार को यहां जारी एक बयान में कहा गया कि 2017 की शुरुआत में, भारत में औसत मोबाइल डाउनलोड स्पीड 7.65 एमबीपीएस था,…
Page 1 of 154

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें