Editor

Editor

महाराष्ट्र की एक स्थानीय अदालत ने साल 2013 में सोनाई में झूठी शान के मामले में हुई हत्या के संबंध में छह लोगों को मौत की सजा सुनाई है। इस घटना में अहमदनगर जिले में तीन दलित युवकों की हत्या कर दी गई थी।सरकारी वकील उज्ज्वल निकम ने नासिक में बताया कि न्यायाधीश आर आर वैष्णव ने छह लोगों को मौत की सजा सुनाते हुए प्रत्येक पर बीस-बीस हजार रुपये का जुर्माना भी लगाया।सोनाई में एक जनवरी, 2013 को तीन दलित युवकों की निर्ममतापूर्वक हत्या कर दी गई थी। इन युवकों के शरीर के क्षत-विक्षत अंग एक सेप्टिक टैंक से बरामद हुए थे।अदालत ने सचिन घारू (24), संदीप थंवर (25) और राहुल कंदारे की हत्या का दोषी ठहराते हुए इन लोगों को सजा सुनाई।पुलिस के अनुसार घारू ने मराठा समुदाय की एक लड़की से अंतरजातीय विवाह किया था, जिसके बाद ये हत्याएं हुईं।

झारखंड से एक अजीबोगरीब मामला सामने आया है। यहां एक 100 वर्षीय बुजुर्ग 89 सालों से मिट्टी खाकर जिंदा है। अब हाल कुछ यूं हो चला है कि जो पहले गरीबी के चलते मिट्टी खाने को मजबूर था, अब ये एक दिन भी बिना मिट्टी खाए रह नहीं सकता।मामला झारखंड के साहिबगंज का है। जहां 100 वर्षीय करू पासवान मिट्टी खाए बिना नहीं रह सकते। उनका कहना है कि उन्होंने 11 साल की उम्र में गरीबी की वजह से मिट्टी खाना शुरू किया था, बाद में वह उनकी आदत बन गई। करू के शरीर को अब मिट्टी की ऐसी लत लग चुकी है कि बिना इसे खाए वह जीवित नहीं रह सकते हैं।इससे पहले झारखंड में भुखमरी से एक 11 साल की बच्ची की मौत हो गई थी।

चुनाव आयोग द्वारा आम आदमी पार्टी के 20 विधायकों को अयोग्य करार दिए जाने के बाद पार्टी से नाराज चल रहे कुमार विश्वास ने भी अपनी प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने 20 विधायकों पर चुनाव आयोग की कार्रवाई को दुर्भाग्यपूर्ण और दुखद बताया है। उन्होंने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर भी निशाना साधते हुए कहा, 'विधायकों की बतौर संसदीय सचिव के पद पर नियुक्ति के समय मैंने कुछ सुझाव दिए थे, लेकिन तब मुझे कहा गया कि लोगों को नियुक्त करना मुख्यमंत्री का विशेषाधिकार है, ऐसे में मैं चुप रहा।'विश्वास ने कहा कि नियुक्ति को लेकर उनके सुझावों को नहीं सुना गया। मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने उस वक्‍त मेरी मानी होती तो पार्टी को यह दिन शायद कभी नहीं देखना पड़ता। उन्‍होंने कहा कि संसदीय सचिवों की नियुक्ति मामले में मैंने केजरीवाल को मना किया था। गौरतलब है कि शुक्रवार को चुनाव आयोग ने लाभ के पद पर रहने के आरोप में दिल्ली विधानसभा में आप के 20 विधायकों को अयोग्य घोषित कर दिया। आयोग ने अपनी सिफारिश मंजूरी के लिए राष्ट्रपति को भेज दी। अब यदि राष्ट्रपति सिफारिशों को स्वीकार करते हैं तो दिल्ली एक छोटा विधानसभा चुनाव देख सकती है, जिसमें 70 सदस्यीय सदन की 20 सीटों पर चुनाव होगा।आदमी आदमी पार्टी को कोर्ट ने फौरी राहत देने से मना कर दिया है। इस मामले में अगली सुनवाई सोमवार को होगी। हाईकोर्ट ने सुनवाई के दौरान आम आदमी पार्टी के विधायकों को कड़ी फटकार लगाते हुए कहा, 'आप लोग वक्त रहते चुनाव आयोग के पास नहीं गए और नोटिस का जवाब तक नहीं दिया।' कोर्ट ने विधायकों से सवाल किया, 'आप चुनाव आयोग के संपर्क में क्यों नहीं रहे? जब आप लोग बुलाने पर भी नहीं गए, तो चुनाव आयोग इस मामले में फैसला लेने के लिए स्वतंत्र है।'

इस महीने की 31 तारीख को चंद्रमा का अनूठा रुप देखने मिलेगा जिसे हम ब्लू मून के नाम से जानते है। जब एक ही महीने में दूसरी बार पूरा चांद उदय होता है तो उसे ब्लू मून कहते हैं। यह प्रत्‍येक ढाई-पौने तीन वर्षों में एक बार आ ही जाता है। इस पहले पहला पूर्ण चंद्रमा उदय एक जनवरी को हुआ था। 31 जनवरी को 6 बजकर 22 मिनट से सात बजकर 38 मिनट के बीच यह नजर आएगा। यह इस साल का यानी 2018 का पहला ग्रहण होगा। जानकारों की मानें तो 'सुपर मून के दिन चंद्रमा सामान्य से 14 प्रतिशत बड़ा और 30 प्रतिशत अधिक चमकदार दिखता है।वैज्ञानिकों की मानें तो यह एक सामान्य खगोलीय घटना है। पिछली बार एक ब्लू मून ग्रहण 30 दिसंबर 1982 को पड़ा था, जो भारत के पूर्वी भाग में दिखाई दे रहा था। 1 दिसंबर और 30 दिसंबर1982 दोनों ही पूर्णिमा के दिन थे जिसमें से दूसरी पूर्णिमा को ब्लू मून कहा गया।
ऐसा नजर आएगा चांद:-इस घटना की एक विशेषता होगी कि चंद्रग्रहण के बावजूद चांद पूरी तरह काला नजर आने के बजाए तांबे के रंग जैसा दिखाई पड़ेगा। चंद्रग्रहण के दौरान सूर्य और चांद के बीच में धरती के होने से चांद पर प्रकाश नहीं पहुंच पाता। इस दौरान सूर्य के प्रकाश में मौजूद विभिन्न रंग इस पारदर्शी वातावरण में बिखर जाते हैं, जबकि लाल रंग पूरी तरह बिखर पाने में समर्थ नहीं होता और चांद तक पहुंच जाता है। ब्लू मून के दौरान इसी लाल रंग के कारण चांद का रंग तांबे जैसा यानी नारंगी नजर आता है।

 

 

 

पाकिस्तान की ओर से लगातार तीसरे दिन संघर्ष विराम का उल्लंघन करते हुए जम्मू-कश्मीर में अंतरराष्ट्रीय सीमा से लगे तीन जिलों में गोलियां चलाई गईं जिसमें एक जवान समेत तीन लोगों ने अपनी जान गंवाई है। बीएसएफ के एक अधिकारी ने बताया कि पाकिस्तानी रेंजर्स ने अंतरराष्ट्रीय सीमा से लगे हुए गांवों को निशाना बनाते हुए पूरी रात गोलाबारी की और गोलियां दागी। उन्होंने बताया कि आज सुबह अंतिम रिपोर्ट आने तक गोलाबारी जारी था।अधिकारी ने बताया कि पाकिस्तान जान-माल को नुकसान पहुंचाने के लिए गांव को निशाना बना रहा है लेकिन बीएसएफ उसे मुंहतोड़ जवाब दे रहा है। उन्होंने बताया कि परग्वाल सेक्टर में बीएसएफ का एक जवान इस हमले में घायल हो गया, उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया है। एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि पाकिस्तानी रेंजरों ने अंतरराष्ट्रीय सीमा से लगे अरनिया, रामगढ़, सांबा और हीरानगर सेक्टर में सुबह पांच बजे तक गोलीबारी की। अधिकारी ने बताया कि इससे अखनूर के कनाचक सेक्टर में दो लोग घायल हो गए तथा एक लड़की को भी मामूली जख्म आए हैं।उन्होंने बताया कि सीमा से लगे इलाकों में रहने वाले 8,000-9,000 लोग सुरक्षित जगहों पर चले गए हैं और उनमें से ज्यादातर लोग अपने रिश्तेदारों के यहां रह रहे हैं। वहीं 1,000 से ज्यादा लोग आर एस पुरा, सांबा और कठुआ क्षेत्रों में बने शिविरों में रह रहे हैं।
गोलीबारी के चलते स्कूल-कॉलेज बंद:-गोलीबारी के चलते जम्मू क्षेत्र में नियंत्रण रेखा (एलओसी) और अंतरार्ष्ट्रीय सीमा के नजदीक रह रहे लोगों में तनाव बना हुआ है। प्रशासन ने यहां स्कूलों को बंद करने के आदेश दे दिए हैं। प्रांतीय प्रशासन के अधिकारियों ने कहा, “एलओसी और अंतरार्ष्ट्रीय सीमा के पांच किलोमीटर के दायरे में आने वाले सभी स्कूलों को तीन दिनों के लिए बंद रखा जाएगा।” पाकिस्तानी सेना द्वारा शुक्रवार को किए गए संघर्ष विराम उल्लंघन में सेना के दो जवान शहीद हो गए जबकि दो स्थानीय लोग भी मारे गए। दो स्थानीय लोगों में एक महिला और एक युवक शामिल हैं। इसके साथ ही कई लोग घायल भी हुए हैं।सांबा सेक्टर में शुक्रवार को बीएसएफ का एक हेड कांस्टेबल शहीद हो गया जबकि राजौरी जिले में एलओसी पर सुंदरबनी सेक्टर में सेना का एक जवान शहीद हो गया। पाकिस्तानी रेंजर्स की ओर से की गई अंधाधुंध गोलीबारी में दर्जनभर मवेशी भी मारे गए। पाकिस्तानी रेंजर्स ने शुक्रवार को कठुआ, सांबा और जम्मू जिलों में बीएसएफ की 20 से अधिक चौकियों को निशाना बनाकर हमला किया। अंतरार्ष्ट्रीय सीमा पर आरएसपुरा, रामगढ़ और सुचेतगढ़ क्षेत्रों में शुक्रवार शाम से ही लोगों का पलायन शुरू हो गया है। प्रशासन ने सीमावर्ती लोगों के रहने के लिए अस्थाई शिविरों का प्रबंध किया है। हालांकि, अभी तक यह पलायन दूरवतीर् क्षेत्रों से ही हो रहा है, जिसमें अभी तक बड़ी संख्या में सीमावतीर् ग्रामीण शामिल नहीं है।

शाहिद कपूर की बेटी मिशापिचेल साल एक साल की हो गयी हैं। इनदिनों शाहिद अपनी लाडली बेटी मिशा के साथ काफी वक्त बिता रहे है। हाल ही में उन्होंने अपने इन्स्टाग्राम पर एक तस्वीर को शेयर किया है जिसमें वो अपने पापा के जूते को पहने नज़र आई। बच्चों को अक्सर अपने पेरेंट्स की चीज़ों से खेलना पसंद आता है। मिशा ने भी कुछ ऐसा अपने पापा के जूतों के साथ किया है। साथ ही उनकी इस तस्वीर को शाहिद ने अपने कैमरे में उतार लिया है। उन्होंने इस तस्वीर को अपने इन्स्टाग्राम पर शेयर करते हुए लिखा है कि गेस करें मिशा ने किसके जूते पहने है?जब से मिशा पैदा हुई है तब से लेकर शाहिद की ज़िन्दगी में काफी बदलाव आये है। वो अपनी बेटी के साथ ज्यादा से ज्यादा वक्त बिताते है। उनके लिए उनकी प्यारी बेटी के अलावा इस दुनिया में कोई प्रिय नहीं है। बात करें वर्क फ्रंट की शाहिद कपूर इनदिनों अपनी फिल्म ‘पद्मावत’ को लेकर सुर्खियाँ बटोर रहे है। यह फिल्म बॉक्स ऑफिस पर 25 जनवरी को रिलीज़ हो रही है। कल अक्षय कुमार के कारण अब यह फिल्म बॉक्स ऑफिस पर सोलो रिलीज़ हो रही है। शाहिद ने अक्षय कुमार के इस एहसान के लिए उनका शुक्रिया अदा किया है। अब फिल्म को मिली हरी झंडी के कारण फिल्म के स्टारकास्ट बहुत जल्द करण जौहर के शो पर अपनी फिल्म को प्रमोट करने के लिए पहुचेंगे।

सारा अली खान बहुत जल्द बॉलीवुड में अभिषेक कपूर की फिल्म से अपना डेब्यू करने जा रही हैं। हालांकि, इस फिल्म की रिलीज़ को लेकर अब भी कशमकश ज़ारी है लेकिन इसके बावजूद सारा को अपने डेब्यू फिल्म का बिलकुल भी स्ट्रेस नहीं है। हाल ही में उन्हें एक रेस्टोरेंट के बाहर देखा गया। वो गुलाबी रंग के सेटीन क्रॉप टॉप और नीले रंग की जींस में काफी कमाल की लग रही थी। पिछले हफ्ते जब सारा अली खान किसी पार्लर के बाहर स्पॉट हुई तो उन्होंने फोटोग्राफर्स को देखकर अपना चेहरा छिपा लिया था। लेकिन इस बार उनहोंने मीडिया के फोटोग्राफर्स के सामने पोज़ तो नहीं दिए लेकिन वो इस बार काफी कम्फ़र्टेबल नज़र आई।बता करें सारा की डेब्यू फिल्म केदारनाथ की तो फिल्म का एक शेड्यूल पूरा हो चुका है, लेकिन अब इनके निर्माताओं के बीच कुछ अनबन चल रही है,फिल्म रिलीज़ से पहले फिल्म के निर्माता और निर्देशक के बीच मनमुटाव चल रहा है। खबरों की माने तो फिल्म के निर्देशक अभिषेक कपूर और निर्माता प्रेरणा चोपड़ा के बीच फिल्म रिलीज़ डेट को लेकर काफी बहसबाज़ी हुई है। जिसके चलते अब फिल्म की रिलीज़ के लिए कुछ दिनों का इंतज़ार करना पड़ सकता है।मीडिया रिपोर्ट्स की माने तो अभिषेक कपूर सारा की डेब्यू फिल्म को शाहरुख खान की फिल्म ‘जीरो’ के साथ रिलीज़ करने के बारे में सोच रहे थे लेकिन निर्माता प्रेरणा अरोड़ा को यह निर्णय काफी बेकार लगा है। जिसके चलते अब इसकी रिलीज़ डेट को लेकर एक बार फिर से विचार विमर्श हो रहा है।इस फिल्म में सारा के साथ सुशांत सिंह राजपूत नज़र आने वाले है। फिल्म के पहले पोस्टर को दर्शकों ने काफी पसंद किया है। अब देखना होगा की यह फिल्म कब रिलीज़ होती है।

सुशांत सिंह राजपूत और अंकिता लोखंडे की जोड़ी ने एकता कपूर के धारावाहिक पवित्र रिश्ता से खूब सुर्खियाँ बटोरी थी। इसी शो के दौरान दोनों करीब भी आए थे और देखते ही देखते इस ऑन स्क्रीन कपल का दिल कब ऑफ स्क्रीन भी एक दूसरे के लिए धड़कने लगा कि किसी को पता ही नहीं चला। खैर दोनों ने जल्द ही सभी के सामने अपने रिश्ते को कबूला लेकिन कई साल तक साथ रहने के बाद भी दोनों के रिश्ते ने दम तोड़ दिया।सुशांत और अंकिता का रिश्ता जब टूटा को फैंस से लेकर पूरी टीवी इंडस्ट्री भी चौंक गई थी क्योंकि कुछ ही दिन में दोनों घर बसाने का सपना देखने लगे थे। खैर हाल ही में जब अंकिता से पूछा गया कि क्या वो अब भी सुशांत के साथ टच में हैं, तो उनका कहना था कि मैंने कभी भी अपने पुराने रिश्ते को किसी से छुपाया नहीं लेकिन जब मैं उस रिश्ते में थी, मैं अपनी निजी जिंदगी के बारे में कभी भी बात नहीं करती थी और अब भी मुझे इसके बारे में बात करने की जरुरत नहीं है। अगर मेरे काम के बारे में बात करनी है तो मैं घंटों आप से बात कर सकती हूँ लेकिन इसके लिए नहीं।बता दें कि पहले भी सुशांत के बारे में सवाल पूछे जाने पर भी अंकिता ने एक अखबार को दिए गए इंटरव्यू में कहा था कि मुझे समझ नहीं आता है कि अभी भी लोग मुझे सुशांत के एक्स के रुप में क्यों जानते है। मेरी खुद की भी पहचान है। मेरे काम के बारे में क्यों बात नहीं की जाती है। बहुत जल्द मैं अपनी पहली फिल्म की शूटिंग करुँगी और मैं आशा करती हूँ कि सभी उस पर ध्यान देंगे। वैसे अंकिता की बातों से साफ पता चलता है कि वह अपने बीते हुए कल को पलटकर देखना भी चाहती नहीं हैं। बता दें कि अंकिता बहुत जल्द कंगना स्टारर फिल्म मणिकर्णिका के जरिए बॉलीवुड में कदम रखेंगी।

बॉलीवुड में एक समय ऐसा था जब कलाकार अपने लुक के साथ छेड़छाड़ करने से डरा करते थे। ऐसा माना जाता था कि दर्शकों ने आपके जिस अवतार को पसंद किया है, उसके साथ छेड़छाड़ न ही की जाये तो ज्यादा बेहतर है। हालांकि समय के साथ फिल्मों के कलाकार बदले और उनकी सोच भी। बीते दशक में आमिर खान ने लगभग अपनी हर फिल्म में लुक बदला है और दर्शकों ने उसे खुले दिल से स्वीकार भी किया है। जिसके बाद बॉलीवुड की नई जनरेशन उनके नक्शे-कदमों पर चल रही है। आज बॉलीवुड का लगभग हर दूसरा हीरो अपनी फिल्म में लुक के साथ एक्सपेरिमेंट करता दिख जाता है।बॉलीवुड के नई जनरेशन के इन्हीं कलाकारों में एक हैं रणवीर सिंह। अगर आप रणवीर सिंह का करियर उठाकर देखें तो उन्होंने अपनी हर फिल्म के साथ दर्शकों को कुछ नया देने की कोशिश की है। जिसमें कभी वो कामयाब हुए हैं तो उनके हाथ हार भी लगी है लेकिन उनकी कोशिश लगातार जारी है।बीते दिनों ही उन्होंने अपनी नई फिल्म पद्मावत की शूटिंग खत्म की है, जिसमें उन्होंने अलाउद्दीन खिलजी का किरदार निभाया है। इस किरदार के लिए रणवीर सिंह ने अपने लुक को पूरी तरह से ही बदल डाला था। जिसको देखने के बाद कई लोग हैरत में भी पड़ गए थे। हालांकि अब एक बार फिर से रणवीर सिंह अपने फैंस को चौंकाने के लिए पूरी तरह से तैयार हैं। हम ऐसा क्यों कह रहें, वो आप रणवीर सिंह के इस ट्वीट से समझ सकते हैं।इस समय रणवीर अपनी नई फिल्म गली बॉय की शूटिंग में व्यस्त हैं। जिसमें उनका लुक आज-कल के नौजवान लड़के का है। इसे पाने के लिए उन्होंने कई दिनों तक मेहनत की है। जिसकी जानकारी उन्होंने अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर एक पोस्ट डालकर दी है। इस पोस्ट में उन्होंने अपनी दो तस्वीरें लोगों के सामने पेश की है। जहां एक में वो अलाउद्दीन खिलजी के अवतार के लिए मेहनत करते दिख रहे हैं तो वहीं दूसरे में वो गली बॉय के अवतार में दिख रहे हैं। इन दोनों तस्वीरों को देखकर आप अच्छी तरह से समझ जायेंगे कि पद्मावत से गली बॉय तक का सफर रणवीर सिंह के लिए काफी कठिन रहा होगा।

‘टाइगर जिंदा है’ के जरिए बॉक्स ऑफिस पर धमाल मचाने के बाद इन दिनों कटरीना कैफ अपनी आगामी फिल्म ‘ठग्स ऑफ हिन्दोस्तान’ की शूटिंग में व्यस्त हैं। बता दें कि जबसे इस फिल्म की शूटिंग शुरु हुई है तबसे लगातार ये फिल्म सुर्खियों में बनी हुई है। कुछ दिन पहले ही फिल्म के सेट से आमिर खान और अमिताभ बच्चन का लुक लीक हुआ था और तभी से लोग इस इंतजार में थे कि आखिर इस फिल्म में कटरीना का लुक कैसा होगा? बता दें कि आपका इंतजार खत्म हो चुका है।जी हाँ थोड़ी देर पहले ही कटरीना ने इस फिल्म के सेट से कई वीडियो और तस्वीरों को सोशल मीडिया पर साझा किया है, जिनमें से दो तस्वीरों को देखकर साफ लग रहा है कि इस फिल्म में कटरीना अपनी अदाओं से लाखों-करोड़ों दिलों पर छुरिया चलाने वाली हैं। बता दें कि कटरीना इन दिनों मुंबई में इस फिल्म के गाने की शूटिंग कर रही हैं। इस गाने को प्रभुदेवा कोरियोग्राफ कर रहे हैं और इसकी शूटिंग से पहले कटरीना ने पहाड़ी स्टाइल डांस में मंझने के लिए रोजाना पाँच घंटे की प्रैक्टिस की है।बात की जाए कटरीना की लुक की तो जो तस्वीरें कटरीना ने अपने इंस्टाग्राम पर साझा की है उसमें उनके हाथों में आल्ता लगा हुआ नजर आ रहा है। इसके अलावा उनकी आँखों का स्मोकी लुक देखते ही बन रहा है। साथ ही कटरीना के इस कातिलाना लुक पर उनके ये झुमके चार चाँद लगा रहे हैं।फिल्म के सेट पर मौजूद एक सूत्र ने एक अखबार को दिए गए इंटरव्यू में बताया कि, “यह गाना उत्तरी भारतीय लोकगीत से प्रेरित है। प्रभुदेवा ने इस गाने में पहाड़ी स्टाइल के साथ साथ जिमनास्टिक्स को भी मिक्स किया। कटरीना ने इस गाने के लिए जमकर प्रैक्टिस किया है क्योंकि वह अपने पिछले डांस नम्बर्स के मुकाबले कुछ अलग करना चाहती थी।” बता दें कि इस गाने में कटरीना के साथ आमिर भी नजर आएंगे।

Page 10 of 2163

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें