नई दिल्ली। जेट एयरवेज अपने कर्मचारियों की सैलरी में 25 फीसद की कटौती नहीं करने जा रहा है। कर्मचारियों की जुलाई महीने की सैलरी बीते शुक्रवार को जारी कर दी गई है। यह जानकारी कुछ मीडिया सूत्रों के जरिए सामने आई है।एयरलाइन जिस वित्तीय संकट का सामना कर रही है उससे उसे उबारने के लिए कर्मचारी अपने वेतन में कटौती के पक्ष में नहीं हैं, क्योंकि कंपनी संबंधी चुनौतियों में काफी चीजें शामिल हैं जैसे कि कच्चे तेल की कीमतों में तेजी, कमजोर रुपया और गलाकाट हो रही प्रतिस्पर्धा।सूत्र के मुताबिक बीते हफ्ते कंपनी ने कर्मचारियों के लिए 25 फीसद वेतन कटौती का प्रस्ताव दिया था, लेकिन इस प्रस्ताव को पायलटों और इंजीनियरों की ओर से खारिज कर दिया गया था। पूर्ण सेवा प्रदाता कंपनी ने सैलरी कट के प्रस्ताव पर कर्मचारियों के एक विशेष वर्ग से बातचीत की थी ताकि लागत में कटौती की जा सके।एक रिपोर्ट के मुताबिक कर्मचारियों की सैलरी को रोक दिया गया था लेकिन कंपनी के चेयरमैन के इस आश्वासन के बाद कि कर्मचारियों की सैलरी में कोई कटौती नहीं होगी उसे जारी (भुगतान) कर दिया गया। सूत्रों ने बताया कि गोयल ने कर्मचारियों से कहा कि एयरलाइन की छवि को बड़ा नुकसान हुआ है और इस वजह से बुकिंग कैंसल भी हुई हैं। उन्होंने कर्मचारियों को आश्वासन दिया कि एयरलाइन ग्रोथ के रास्ते पर आगे बढ़ने के लिए अच्छी स्थिति में है।गौरतलब है कि जेट एयरवेज महंगे फ्यूल और रुपये में कमजोरी के कारण वित्तीय मुश्किलों का सामना कर रही है। साथ ही 2016 और 2017 में मुनाफा दर्ज करने के बाद कंपनी को वित्त वर्ष 2018 में लगभग 767 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ था।

 

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें