नई दिल्ली - भारत सरकार ने सभी मोबाइल यूजर्स के लिए अपने आधार कार्ड को मोबाइल नंबर के साथ लिंक करना जरूरी कर दिया है। मोबाइल नंबर को आधार कार्ड से लिंक करने की अंतिम तारीख 6 फरवरी 2018 है। अब मोबाइल नंबर के साथ आधार कार्ड को लिंक करने के नियमों में बदलाव किया गया है, जो 1 दिसंबर से लागू कर दिया गया है। आधार अथॉरिटी यूआईडीएआई के मुताबिक टेलिकॉम कंपनियां घर बैठे मोबाइल नंबर को आधार से लिंक करने की सुविधा देंगी। इसमें आईवीआरएस और कंपनियों की वेबसाइट के जरिए लिंक करने की सुविधा है।
इन सुविधाओं का लाभ उठाने के लिए आपको एक शर्त पूरी करनी होगी। यदि आप इस शर्त को पूरा नहीं करते हैं तो आपको अपने टेलिकॉम आॅपरेटर के स्टोर पर जाना ही पड़ेगा। दरअसल घर बैठे अपने मोबाइल नंबर को आधार से लिंक करने की सुविधा का लाभ वही लोग उठा सकते हैं, जिनका कम से कम एक मोबाइल नंबर आधार से पहले ही लिंक है। यदि आपका एक भी मोबाइल नंबर आधार से लिंक नहीं है, तो आपको इसके लिए स्टोर जाना जरूरी होगा और यहां आपको अपना बायोमैट्रिक भी देना होगा।
घर बैठे मोबाइल नंबर लिंक को आधार से लिंक करने के लिए आपके पहले से रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर ही वन टाइम पासवर्ड आएगा। यदि आपके पास आधार के साथ रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर नहीं है, तो आपको सबसे पहले एक मोबाइल नंबर टेलिकॉम सर्विस प्रोवाइडर के नजदीकी स्टोर रजिस्टर कराना होगा। एकबार आपने ये एक काम कर दिया, तो इसके बाद आप अपने अन्य मोबाइल नंबर को आधार से लिंक कर सकते हैं। मोबाइल नंबर को आधार के साथ रजिस्टर करने के बाद आप भविष्य निध‍ि के खाते से और आईआरसीटीसी से भी अपने आधार कार्ड को आसानी से लिंक कर सकेंगे।

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें