नई दिल्ली - देश के प्रमुख स्टॉक एक्सचेंज नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) ने गीतांजली जेम्स समेत 24 अन्य कंपनियों पर अपने वित्तीय नतीजे न घोषित करने के लिए जुर्माना लगाया है। इन कंपनियों को 31 दिसंबर को समाप्त हुई तिमाही के दौरान अपने वित्तीय नतीजों की घोषणा करनी थी।
एनएसई अब इन कंपनियों पर नियामकीय कार्रवाई शुरू करेगी, जिनमें निलंबन भी शामिल हो सकता है। यह उस सूरत में होगा अगर वे तिमाही वित्तीय परिणामों को दर्ज कराने की आवश्यकताओं का अनुपालन नहीं करते हैं। सेंट्रल डिपॉजिटरी सर्विसेज लिमिटेड (सीडीएसएल) की ओर से इन कंपनियों के निवेशकों को पत्रों के माध्यम से इस फैसले के बारे में जानकारी दे दी गई है।
नेशनल स्टॉक एक्सचेंज के प्रवक्ता ने बताया, “एक्सचेंज ने सीडीएसएल के माध्यम से उन कंपनियों के शेयरधारकों को इसकी जानकारी देने शुरू कर दिया है, जिन्होंने अपने वित्तीय नतीजों का और शेयरहोल्डिंग पैटर्न का खुलासा नहीं किया है।”
अनुपालन न करने वाली कंपनियों में मेहुल चौकसी के स्वामित्व वाली कंपनी गीतांजलि जेम्स, एबीजी शिपयार्ड, एमटेक ऑटो, डीएस कुलकर्णी डेवलपर्स, भारती डिफेंस एंड इन्फ्रास्ट्रक्चर, इडूकॉम्प सॉल्यूशन, श्री रेणुका सुगर्स, मोजर बियर (1) और स्टर्लिंग बायोटैक।
सीएसडीएल के पत्र में कहा गया, “निवेशकों से अनुरोध है कि कृपया ध्यान दें कि जिन कंपनियों में आपने निवेश किया है, वो 31 दिसंबर की तिमाही के लिए अपने वित्तीय परिणामों की तिमाही फाइलिंग जमा कराने में सफल नहीं रही हैं।”

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें