फोटो और मैसेजिंग ऐप्लिकेशन Snapchat के CEO इवान स्पीगल ने भारत को एक 'बहुत गरीब देश' बताया है। वैराइटी में प्रकाशित हुई एक रिपोर्ट के मुताबिक यह कॉमेंट स्पीगल ने स्नैपचैट ऐप के यूजर्स बेस के ग्रोथ को लेकर 2015 में बैठक के दौरान यह बातें कहीं थी।बैठक के दौरान कंपनी के कर्मचारी एंथनी पॉन्पिलानों ने जब भारत जैसे बाजार में ऐप के धीमे विकास के बारे में चिंता जताई तो स्पीगल कर्मचारी को बीच में ही काटते हुए कहा कि, 'ये ऐप केवल अमीर लोगों के लिए है'। वैराइटी ने कर्मचारी के हवाले से ये भी बताया कि स्पीगल ने कहा 'मैं भारत और स्पेन जैसे गरीब देशों में विस्तार नहीं करना चाहता हूं'।ये बात तब सामने आई जब एंथोनी पांप्लिआना नाम के कर्मचारी ने LA डिस्ट्रिक्ट कोर्ट में स्नैपचैट के खिलाफ मुकदमा दायर किया। अनुमानों के अनुसार भारत में स्नैपचैट के करीब 40 लाख से ज्यादा यूजर्स हैं। हालांकि एंथनी ने आरोप लगाया है कि 2015 में स्नैपचैट का आईपीओ आने से पहले कंपनी की ग्रोथ के बारे में कई गलत जानकारियां दी गई थी। आईपीओ के लेकर हुई बैठक में ही स्पीगल ने भारत और स्पेन को गरीब देश बताया था।

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें