नई दिल्ली - बाजार नियामक सेबी के चेयरमैन अजय त्यागी ने शनिवार को कहा कि बाजार की गिरावट से छोटे निवेशकों को घबराने की जरूरत नहीं। बंबई शेयर बाजार (बीएसई) के सेंसेक्स में बजट के बाद से करीब दो हजार अंकों से भी अधिक की गिरावट आ चुकी है। सेबी प्रमुख ने बाजार में इस गिरावट से हतोत्साहित निवेशकों को भरोसा देते हुए यह बात कही है।
म्यूचुअल फंड में निवेश करना अच्छा
सेबी प्रमुख ने कहा कि छोटे निवेशक बाजार की गिरावट से न घबराएं क्योंकि वे म्यूचुअल फंड के जरिये इसमें निवेश कर अच्छा कर रहे हैं। हालांकि, उन्होंने यह भी कहा कि जमा खाता (सेविंक अकाउंट) की तरह म्यूचुअल फंड भी जोखिम से मुक्त नहीं है। उल्लेखनीय है कि शेयरों में सीधे निवेश करने पर यदि बाजार में गिरावट आती है तो निवेशकों को पूरी राशि पर नुकसान होता है। जबकि म्यूचुअल फंड कंपनियां निवेशकों से राशि लेकर कई कंपनियों या क्षेत्रों में निवेश करती है। इसकी वजह से शेयरों की तुलना में म्यूचुअल फंड में निवेश पर जोखिम घट जाता है और नुकसान भी कम हो जाता है। यही वजह है कि सेबी प्रमुख ने म्यूचुअल फंड के जरिये निवेश को बेहतर बताया है। वहीं बैंक के बचत खाता में एक लाख रुपये तक की राशि पूरी तरह सुरक्षितत होती है क्योंकि उसकी गारंटी सरकार की तरह से होती है।
बाजार में आगे भी गिरावट की आशंका
सेबी चेयरमैन ने निवेशकों को अगाह करते हुए कहा कि वैश्विक कारणों से कुछ समय तक भारतीय बाजार में उथल-पुथल जारी रह सकती है। हालांकि, उन्होंने यह भी कहा कि यह निवेशकों के लिए चिंता का विषय नहीं है।
एलटीसीजी का असर होगा
सरकार ने इस बार बजट में शेयरों को एक साल बेचने पर लंबी अवधि का पूंजीगत लाभ कर (एलटीसीजी) लगाने का फैसला किया है। एक लाख रुपये से अधिक की कमाई पर ही यह लागू होगा। बाजार विश्लेषकों का मानना है कि बाजार में गिरावट की एक वजह यह भी है। जबकि कुछ विशेषज्ञों का कहना है कि इसका असर नहीं पड़ेगा। सेबी प्रमुख ने कहा कि यह कहना गलत है कि दीर्घकालिक पूंजीगत लाभ पर कर का भारतीय बाजार पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा। हालांकि उन्होंने कहा कि यह छोटा जोखिम है, वैश्विक कारक बड़े जोखिम हैं।
कॉरपोरेट बॉन्ड से पूंजी जुटाने को प्रोत्साहन
सेबी चेयरमैन ने कहा कि सूचीबद्ध कंपनियों के लिए 25 प्रतिशत पूंजी कॉरपोरेट बॉन्ड के जरिये जुटाना अनिवार्य करने का सरकार का प्रस्ताव अच्छा कदम है। उन्होंने कहा कि कंपनियों को कॉरपोरेट बॉन्ड के जरिये पूंजी जुटाने के लिए प्रोत्साहन देने हेतु सेबी इस संबंध में जल्दी ही प्रावधान तय करेगा। त्याही ने कहा कि इस संबंध में विस्तृत नियम सितंबर तक आएगा।

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें