प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने 45 करोड़ रुपये से जुड़े फेमा कानून के उल्लंघन को लेकर कार्ती चिदंबरम और उनसे कथित तौर पर संबंधित कंपनी को कारण बताओ नोटिस जारी किया है। ईडी ने दो साल से अधिक की जांच के बाद इसी प्रकार का नोटिस चेन्नई की कंपनी मेसर्स वासन हेल्थकेयर प्राइवेट लि़ को 2,262 करोड़ रुपये के विदेशी विनिमय प्रबंधन कानून (फेमा) नियमों के उल्लंघन को लेकर जारी किया है।प्रवर्तन निदेशालय ने एक नोटिस में कहा, मेसर्स एडवांटेज स्ट्रैटजिक कंसल्टिंग प्राइवेट लि़ ने विदेशी निवेशकों को वासन (चेन्नई की कंपनी) के शेयरों की बिक्री सौदे में करीब 45 करोड़ रुपये की गड़बड़ी की। इसके अनुसार, मेसर्स एडवांटेज स्ट्रैटजिक कंसल्टिंग प्राइवेट लि़, उसके निदेशकों तथा कातीर् पी चिदंबरम को भी नोटिस जारी किये गये हैं। ऐसा जान पड़ता है कि वह नियंत्रक हैं और इस सौदे के वे हीं लाभार्थी हैं।कार्ती वरिष्ठ कांग्रेस नेता और पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम के बेटे हैं। ईडी ने मामले में मेसर्स वासन हेल्थकेयर प्राइवेट लि़ तथा उसके विदेशी निवेशकों द्वारा विदेशी निवेशकों से प्राप्त निवेश के संदर्भ में कुल 2,262 करोड़ रपये के विदेशी विनिमय प्रबंधन कानून (फेमा) के प्रावधानों का उल्लंघन पाया।

 

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें