स्नैपचैट के सीईओ ईवान स्पीगल के भारत को लेकर गरीब वाले बयान पर लोगों का गुस्सा फूट पड़ा है। इसका खामियाजा कंपनी को भुगतना पड़ रहा है। बयान वाली खबरों के सिर्फ एक दिन बाद ही स्नैपचैट एप की रेटिंग में भारी गिरावट आी है। एप स्टोर पर इसकी रेटिंग पांच स्टार से घटकर एक स्टार रह गई है। गौरतलब है कि स्नैपचैट के सीईओ ने एक मीटिंग के दौरान भारत को ‘गरीब’ लोगों का देश कहा था।

घटी एप की रेटिंग:-एप स्टोर पर एप जानकारी के मुताबिक, वर्तमान में उपलब्ध एप वर्जन की कस्टमर रेटिंग्स सिंगल स्टार है। वहीं सभी वर्जन की रेटिंग 1/2 स्टार है। वहीं, एंड्रॉयड प्ले स्टोर पर एप की रेटिंग 4 स्टार है।

ये है पूरा मामला:-स्नैपचैट के सीईओ ईवान स्पीगल ने एक मीटिंग के दौरान भारत को ‘गरीब’ लोगों का देश कहा था। इस बात का खुलासा स्नैपचैट के एक पूर्व कर्मचारी ने किया था। उस कर्मचारी ने एक इंटरव्यू दिया था जिसमें यह खुलासा हुआ। कर्मचारी ने कहा कि 2015 के दौरान एक मीटिंग में उसने ईवान स्पीगल से कहा था ने उनका ऐप भारत जैसे देशों में तरक्की नहीं कर रहा। कर्मचारी के मुताबिक, इसपर ईवान स्पीगल ने कहा था, ‘यह ऐप केवल रईस लोगों के लिए है, मैं इसको भारत और स्पेन जैसे गरीब देशों में बढ़ाना नहीं चाहता।’ इस रिपोर्ट के सामने आने के बाद भारत के लोगों का गुस्सा फूट पड़ा। हालांकि, स्नैपचैट ने सफाई देते हुए कहा था कि उनकी सीईओ ने ऐसा कोई बयान नहीं दिया।

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें