नई दिल्ली - आयकर विभाग ने कर नहीं चुकाने वालों को शर्मिंदा करने की अपनी रणनीति के तहत गुरुवार को दिल्ली की ऐसी पांच कंपनियों और लोगों के नाम प्रकाशित किये हैं जिनके ऊपर 10 करोड़ रुपये से अधिक का टैक्स बकाया है।
कई न्यूज पेपर में विज्ञापन जारी कर आयकर विभाग ने आयकर और कंपनी कर का भुगतान नहीं करने वालों के नाम प्रकाशित किये हैं। विज्ञापन में इन इकाइयों को बकाया कर जल्द चुकाने को कहा गया है।
आयकर विभाग ने पिछले कुछ सालों के दौरान इस रणनीति को अपनाया है जिसके तहत वह आयकर नहीं चुकाने वालों को शर्मिंदा करने के लिये उनके नाम समाचार प्रत्रों में प्रकाशित करवाता है। अब तक विभाग ऐसी 96 कंपनियों और लोगों के नाम प्रकाशित करवा चुका है जिनके ऊपर भारी कर देनदारी है। इन कंपनियों का या तो अता पता नहीं लग पा रहा है या फिर उनके पास वसूली के लिये कोई संपत्ति ही नहीं है।
विभाग ने जो ताजा सूची जारी की है उसमें दिल्ली की पांच इकाइयां हैं जिन्होंने कथित रूप से कर का भुगतान नहीं किया है। विभाग का इस सूची को जारी करने का मकसद आम जनता में भी जागरुकता पैदा करना है ताकि किसी को उन कंपनियों अथवा लोगों के बारे में जानकारी हो तो वह विभाग को सूचित कर सकें।
समाचार पत्र में यह विज्ञापन नई दिल्ली के प्रधान मुख्य आयकर आयुक्त ने जारी किया है। दिल्ली स्थित इन पांच इकाइयों पर कुल मिलाकर 10.27 करोड़ रुपये का कर बकाया है।

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें