-बाल मुकुंद ओझा (वरिष्ठ लेखक एवं पत्रकार)

नार्थ सी जिसे उत्तरी महासागर भी कहा जाता है। करीब एक हजार किमी लम्बे और 580 किमी चैड़े इस सागर के तटवर्ती क्षेत्रों में ब्रिटेन सहित कई यूरोपीय देश शामिल है। इस सागर के खूबसूरत तट ब्रिटेन के बहुत से शहरों में पर्यटकों के आकर्षण के केंद्र बने है। यहाँ पर्यटकों के मनोरंजन के लिए सड़क, होटल आदि की सभी सुविधाएँ सुलभ है। खूबसूरत समुद्री तटों को देखने और समुद्र की लहरों से अठखेलियां करने के लिए यूरोप पर्यटकों की सबसे पसंदीदा जगह है। यूरोप में ब्रिटेन के सबसे अधिक लोकप्रिय पर्यटन स्थलों में यहाँ के खूबसूरत समुद्र तट हैं । यहां उठती समुद्री तरंगे और उफनता समुद्र मन को तरोताजा कर देता है। इसका प्राकृतिक दृश्य मन मोह लेने वाला है। वास्तव में यहां का मनोरम दृश्य तुलना से परे है। समुद्र के सुनहरे और लुभावने तटों पर मनोरंजन के लिये सैर-सपाटा करना सैलानियों के लिये कोई नई बात नहीं है। सैलानी यहाँ स्वर्गिक आनंद का अनुभव करते हैं। समुद्र के सौन्दर्य को देखकर पर्यटकों की हृदय गति तीव्र हो जाती है।
ब्रिटेन विशेषकर दक्षिणी लंदन में इस समय गर्मी का जोर है। हम लोग दो महीने पहले लंदन भ्रमण पर आये तब मौसम अपेक्षाकृत ठंडा था। बेटे सिद्धार्थ और बहु सुष्मिता के आमंत्रण पर लंदन भ्रमण पर हमने ब्राइटन और हेस्टिंग के समुद्र तटों के सैर की। मेरे सहित पत्नी शारदा, बेटे सिद्धार्थ,अनमोल ,बहु सुष्मिता और पोते शौर्य ने समुद्र के अथाह सागर में डुबकी लगाई। भ्रमण की शुरुआत ब्राइटन के समुद्र तट से की थी उस समय पानी ठंडा होने से केवल कुलाचे मारती लहरों का ही आनंद लिया जा सका। अब हमारे भारत लौटने का समय नजदीक आगया तो एक बार फिर समुद्र किनारे जाने का मन हुआ। इस समय इंग्लैंड का तापमान 27-28 डिग्री के आसपास है जो यहाँ बहुत ही कम देखने को मिलता है। बेटे सिद्धार्थ ने भी कहा समुद्र के किनारे चलते है। इंग्लैंड के समुद्र किनारे बसे शहर दुनियाभर में प्रसिद्ध हैं। इनमें हेस्टिंग सिटी भी एक है जो दक्षिणी लंदन स्थित हमारे घर बवनसेकवद ेवनजी से 125 किमी दूर ऐतिहासिक और मंत्रमुग्ध कर देने वाली बीच के कारण पर्यटकों के आकर्षण का प्रमुख केंद्र है। यहाँ मीलों फैले समुद्र का दृश्य मन को मोह लेने वाला है। समुद्र के पानी को छू कर आती ठण्डी लहरें तन मन को हर्षित और रोमांचित करती है। दुनियाभर में घुमने और अपनी छुट्टियों का पूरा मजा लेने के लिए लोग ऐसी जगहों पर जाना ज्यादा पसंद करते है जहां आस-पास पानी हो, क्योकि पिकनिक और घुमने का असली मजा तो पानी के किनारें पर ही आता है फिर चाहें वह नदी हो या फिर समंदर । वैसे हर कोई समुद्र में तैरने की ख्वाहिश रखता है। वैसे यहाँ समुद्र का पानी आमतौर पर ठंडा होने से अनंत जलराशि वाले समुद्र की शांत लहरों का आनंद ही लिया जासकता है मगर मौसम के बदलाव ने हमें समुद्र में उतर कर नहाने, तैरने और अठखेलियां करने का अवसर प्रदान कर दिया और हमने यानि पत्नी शारदा,बेटे सिद्धार्थ और अनमोल के साथ नन्हे पोते शौर्य ने लगभग दो घंटे इसका भरपूर आनंद लिया। नार्थ सी नामक इस समुद्र के बीच में कंकड़, मुलायम रेत और लगातार समुद्री किनारों पर आ रही लहरें आनंदित करने वाली थी।

डी-32, मॉडल टाउन, मालवीय नगर, जयपुर
मो.- 9414441218, E-mail : bmojha53@gmail.com

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें