-ओम प्रकाश उनियाल(स्वतंत्र पत्रकार)
उत्तराखंड में इन दिनों चार धाम यात्रा चल रही है। 25 मई से सिखों के प्रसिद्ध एवं पवित्र-स्थल हेमकुण्ड साहिब की यात्रा भी शुरू होने जा रही है। बीच में मौसम की खराबी के कारण चार धाम यात्रा कुछ स्थानों पर बाधित भी हुयी। चार धाम यात्रा आस्था का प्रतीक है ही धार्मिक पर्यटन भी। उत्तराखंड के चार धाम गंगोत्री, यमुनोत्री, बदरीनाथ और केदारनाथ हैं। रिषि-मुनियों की तपस्थली हिमालय के आंचल में स्थित इन धामों का धार्मिक दृष्टि से अपना-अपना महत्व है। इन चार धामों के दर्शनार्थ हर साल लाखों श्रद्धालु आते हैं वहीं हेमकुण्ड साहिब के दर्शन हेतु भी सिख श्रद्धालुओं व अन्य की भी भारी संख्या में आवाजाही लगी रहती है। चमोली जिले में स्थित हेमकुंड साहिब गुरुद्वारा सात पर्वत श्रृंखलाओं के बीच स्थित है। जहां पर एक झील है। जिसे बर्फ का कुंड कहा जाता है। झील के किनारे ही गुरुद्वारा है। अत्यधिक ऊंचाई पर होने के कारण यहां मौसम ठंडा रहता है। सर्दियों में कुंड का पानी जम जाता है। इस स्थल पर सिखों के दसवें गुरु श्री गुरु गोबिंद सिंह ने ध्यान, तप किया था। इसलिए इस स्थल को पवित्र माना जाता है। हेमकुंड साहिब की भी खासी महता है जो श्रद्धालुओं को दर्शन के लिए प्रेरित करती है। यहां के शांत वातावरण में जब गुरुद्वारे में शबद-कीर्तन व पाठ का जाप होता है तो मन के सीधे परमात्मा से जुड़ाव का अहसास होता है। यदि आप चार धाम यात्रा पर आते हैं तो हेमकुंड साहिब के दर्शन हेतु भी जरूर जाएं।

टी-प्वाइंट, वार्ड - 42, कन्हैया विहार,
कारगी ग्रांट, देहरादून-248001 उत्तराखंड
Mob. : 9760204664, krgddn4@gmail.com

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें