-ओम प्रकाश उनियाल(स्वतंत्र पत्रकार)
प्रधानमंत्री का नेपाल का तीसरा दौरा था। जो कि काफी महत्वपूर्ण रहा। भारत की पहचान अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर तो है ही। लेकिन आपसी संबंधों की प्रागढ़ता निकट भविष्य में भी यथावत बनी रहे यह विषय ज्यादा महत्व रखता है। यह नहीं कि पूर्व प्रधानमंत्रियों ने कुछ नहीं किया। जो भी प्रधानमंत्री की कुर्सी पर रहा उसने भारत की पहचान बनाने के लिए अपने-अपने स्तर से कार्य किए। मोदी भी वही कर रहे हैं। बस फर्क है कार्यशैली का जो कि सबकी अलग-अलग होती है। आज भारत विश्व के उन देशों की श्रेणी में खड़ा है जो स्वयं को विकास में अग्रणीय मानते हैं। यह गर्व की बात है। भारत की विदेश नीति को बढ़ावा मिल रहा है। आज भारत में कई देश निवेश कर रहे हैं। दो किन्हीं भी दो देशों के बीच जब संबंध बनते हैं तो आपस में सांस्कृतिक, सामाजिक, राजनीतिक गतिविधियों का आदान-प्रदान होता है एवं आपसी संबंधों में मजबूती आती है। प्रधानमंत्री ने भारत-नेपाल की मैत्री मजबूत करने एवं धार्मिक पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए जनकपुर से अयोध्या तक बस सेवा शुरू की। उन्होंने कहा कि नेपाल व भारत दोनों देशों के बीच रामायण सर्किट बनाने की दिशा पर काम करेंगे। नेपाल एक छोटा-सा देश है। हिन्दु राष्ट्र है। मोदी के दौरे के दौरान नेपाल राममय बना रहा। नेपाल के अपने सभी पड़ौसी देशों के साथ अच्छे संबंध हैं। लेकिन चीन जैसा देश कब नेपाल की तरफ टेढी आँख कर बैठे कुछ नहीं कहा जा सकता। इस दृष्टिकोण से भी नेपाल-भारत की मैत्री में मजबूती होना जरूरी है

टी-प्वाइंट, वार्ड - 42, कन्हैया विहार,
कारगी ग्रांट, देहरादून-248001 उत्तराखंड
Mob. : 9760204664, krgddn4@gmail.com

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें