articles

-डॉ नीलम महेंद्र(Best editorial writing award winner) "साधु ऐसा चाहिए जैसा सूप सुभाय। सार सार को गहि रहै थोथा दे उड़ाय।। "कबीर दास जी भले ही यह कह गए हों,लेकिन आज सोशल मीडिया का जमाना है जहाँ किसी भी बात पर ट्रेन्डिंग और ट्रोलिंग का चलन है। कहने का आशय तो आप समझ ही चुके होंगे। जी हाँ, विषय है मोदी जी का वह बयान जिसमें वो "पकौड़े बेचने" को…
--डा. राजेन्द्र प्रसाद शर्मा वित्त मंत्री अरुण जेटली द्वारा 29 जनवरी को संसद में पेश आर्थिक सर्वेक्षण इकोनोमी की उजली तस्वीर प्रस्तुत करने में सफल रहा है। यही कारण है कि आर्थिक सर्वेक्षण के परिणाम सामने आते ही शेयर बाजार में रौणक आ गई और संेसेक्स नई उंचाइयों की और पहंुच गया। आर्थिक सर्वेक्षण में प्रस्तुत आंकड़ोें ने चहुंऔर आशा की किरण जगाते हुए देश की इकोनोमी को बढ़ती इकोनोमी…
-बाल मुकुंद ओझा (वरिष्ठ लेखक एवं पत्रकार) वायु प्रदूषण बड़ों के साथ बच्चों के सवास्थ्य के लिए भी खतरा बन गया है। वर्तमान समय में लोग प्रदूषित हवा में सांस लेते हैं, जिसका बुरा असर उनके स्वास्थ्य पर पडता है। यह तो हम सभी जानते हैं कि बच्चों का इम्युन सिस्टम बडों की अपेक्षा कमजोर होता है। जिसके कारण वे बहुत जल्द बीमार पड जाते हैं। अब इस प्रदूषित वायु…
-रमेश सर्राफ धमोरा (स्वतंत्र पत्रकार) गांव की गलियों ने कई नामचीन क्रिकेटर भारतीय क्रिकेट को दिए है। गलियों में चौके-छक्के मारने के अलावा अपने साथियों को बोल्ड करने वाले कई क्रिकेटर ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में अपनी पहचान बनाई है। उनमें एक एक और नाम जुडऩे के लिए तैयार है कुलवंत खेजरोलिया। राजस्थान के झुंझुनू जिले के छोटे से गांव चूड़ी अजीतगढ़ के रहने वाले कुलवंत सिंह खेजरोलिया को आईपीएल 2018…
-राहुल लाल (कूटनीतिक मामलों के विशेषज्ञ) चीन के साथ तल्ख होते रिश्तों के बाद अपनी "एक्ट ईस्ट नीति"को धार देने की दृष्टि से भारत-आसियान मैत्री रजत नई दिल्ली शिखर सम्मेलन बेहद महत्वपूर्ण है।इसके अतिरिक्त इस वर्ष के 69 वें गणतंत्र दिवस समारोह में भारत ने पहली बार आसियान देशों के राष्ट्राध्यक्षों के स्वागत के लिए बड़ी मेज तैयार की है,जिसमें आसियान के सभी 10 राष्ट्राध्यक्ष एक साथ पहली बार भाग…
-निर्मल रानी यदि आप देश के किसी भी राज्य के शहरी अथवा ग्रामीण क्षेत्रों का भ्रमण करें तो निश्चित रूप से यह दिखाई देगा कि कहीं न कहीं किसी न किसी क्षेत्र में कोई न कोई विकास कार्य चल रहा है। गत् दो दशकों से यही स्थिति बनी हुई है। विकास की इसी यात्रा पर चलते हुए देश ने आज हज़ारों $ लाईओवर हासिल कर लिए हैं,बड़े-बड़े पुल बन चुके…
-रमेश सर्राफ धमोरा (स्वतंत्र पत्रकार) प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सत्ता में आने के बाद इस बार एक जो सबसे अच्छा काम किया है वह पद्म सम्मान को चौकड़ी से मुक्त कर समाज के सही व गुमनाम नायकों को सम्मान देने का सिलसिला शुरू करवाना। वरना दिल्ली में जमी बैठी चौकड़ी इसे पहले ही मैनेज कर लेती थी। पद्म सम्मान की सूची में राजनेताओं व समाजसेवा के नाम पर कुछ समृद्व…
-बाल मुकुंद ओझा (वरिष्ठ लेखक एवं पत्रकार) बड़े बुजुर्गों का कहना है कि महिला जन्म से लेकर मृत्यु तक लगातार खतरों के बीच झूलती आई है। पहले भ्रूण हत्या फिर दहेज हत्या का सामना करती है। इस मध्य परिवार में उसे दोयम दर्जे का सामना करना पड़ता है। पग पग पर बाधाओं का सामना करते वह बड़ी होती है। फिर अपनी अस्मत बचाने के लिए जूझती है। और तो और…
-डॉ नीलम महेंद्र (Best editorial writing award winner) 26 जनवरी 2018, देश का 69 वाँ गणतंत्र दिवस,भारतीय इतिहास में पहली बार दस आसियान देशों के राष्ट्राध्यक्ष समारोह के मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित,पूरे देश के लिए गौरव का पल, लेकिन अखबारों की हेडलाइन क्या थीं? समारोह की तैयारियाँ? विदेशी मेहमानों का आगमन और स्वागत?जी नहीं !"देश भर में पद्मावत के विरोध में हिंसक प्रदर्शन"!पद्मावती का नाम बदलकर भले ही…
-डा जियाउर रहमान जाफरी ये वक्त हिन्दी ग़ज़ल के लिये इस अर्थ में बेहतर है कि आज हिन्दी ग़ज़ल आलोचना के केन्द्र में भी हैं.ग़ज़ल पर आलोचना की जितनी किताबें आ रही हैं और इसे पढी जा रही है.ये इस बात का प्रमाण है कि हिन्दी ग़ज़ल हिन्दी कविता की महत्वपूर्ण विधा बन गई है.थोड़ा वक्त पहले ही आलोचक जीवन सिंह की किताब आलोचना के केन्द्र में हिन्दी ग़ज़ल -प्रकाशित…
Page 53 of 63

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें