articles

-निर्मल रानीगत् दो दशकों से देश में विकास कार्यों की मानो बाढ़ सी आई हुई है। देश में प्रतिदिन नई सड़कों का निर्माण हो रहा है, नई रेल लाईनें बिछाई जा रही हैं, सेतु तथा ऊपरगामी पुल बनाए जा रहे हैं। उपमार्गों व भूमिगत मार्गों के निर्माण भी हो रहे हंै। अनेकानेक नए सरकारी भवन निर्मित किए जा रहे हैं। कहा जा सकता है कि उदारीकरण के दौर की शुरुआत…

मौज ही मौज है

-डॉ प्रदीप उपाध्यायकर्नाटक में चुनाव हो गए, होना ही थे।सरकार बनी और बिगड़ी,बनना भी थी और बिगड़ना भी थी।पुनः सरकार बनी लेकिन यह सब लिखे जाने तक बिगड़ी नहीं है ।आगे का हाल तो भगवान जाने,गॉड जाने,खुदा जाने!अभी की स्थिति में तो उन्होंने अपनी पहलवानी का ड़ंका बजा दिया है।बाद की खुदा खैर करे।वैसे खुदा मेहरबान तो हर कोई पहलवान!वरना तो कितनी ही मेहनत-मशक्कत,जोर-आजमाईश कर ली जाए,नतीजा सिफ़र यानी ढाक…
-डॉ प्रदीप उपाध्याय आभासी दुनिया जिसने भी बसाई है वह शायद उस ऊपर वाले से भी ज्यादा समझदार होगा जिसने चलती-फिरती दुनिया को ऊंगलियों पर नचा कर रख दिया।वहाँ हरेक चीज आभास मात्र है उस दुनिया में।हर आदमी योगी भी है और भोगी भी ।जब मन किया योग लगाकर उपदेशों की झड़ी लगा दी।इसके लिए भी जरूरी नहीं कि वे आपके ही विचार हों।सब तैयार माल है वहाँ।कट,कॉपी और पेस्ट,बस…
मुंबई (हम हिंदुस्तानी)-अपनी फिल्में किस्सा, तहान, क्षय तथा पुरस्कार प्राप्त शॉर्ट फिल्मों जैसे स्कूलबैग और चटनी के लिए जानी जाने वाली अभिनेत्री रसिका दुग्गल को हाल ही में आयोजित कान फिल्म फेस्टिवल में बहुत सारी प्रशंसा हासिल हुई है, जहां उनकी जल्द ही रिलीज होने वाली फिल्म मंटो का वर्ल्ड प्रीमियर था। रसिका परफॉर्म करने के लिए जिस प्रकार अलग-अलग भूमिकाओं को चुनती है उसने उनकी बहुमुखी प्रतिभा को साबित…
-जावेद अनीस “राजी” एक खास समय में आई स्पेशल फिल्म है और इसके स्पेशल होने के एक नहीं अनेकों कारण हैं. एक ऐसे दौर में जहां कश्मीर और मुसलमान जैसे शब्द नकारात्मक छवि पेश करते हैं. मेघना गुलज़ार एक ऐसी अनोखी फिल्म लेकर आई हैं जो एक मुस्लिम कश्मीरी लड़की की कहानी कहती है जिसने 1971 की जंग में पाकिस्तान में जाकर भारत के लिये जरुरी का काम किया था.…
-जावेद अनीस अपने इतिहास के सबसे विपरीत समय और परिस्थितियों के बीच कांग्रेस पार्टी कर्नाटक के किले को बचाने में कामयाब हो गयी है हालांकि इसके लिये उसे जेडीएस को बड़ी भूमिका देते हुये उसके साथ सत्ता में भागीदारी करनी पड़ी है. लेकिन 2019 के हिसाब से यह एक फायदे का सौदा है. वैसे तो पिछले चार सालों के दौरान कांग्रेस पार्टी मुसलसल हारती आ रही है इस बार भी…
-रमेश सर्राफ धमोरा (स्वतंत्र पत्रकार) भारत में कुश्ती गांव-गांव में प्रचलित है। हर गांव में सुबह और शाम नवयुवक अखाड़े में व्यायाम करते मिल जाते हैं, पर अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भारत की इसमें कोई पहचान नहीं थी। इस पहचान को दिलाने का श्रेय गुरु हनुमान को है। उनका असली नाम विजय पाल था। भारतीय मल्लयुद्ध के आदर्श देवता हनुमान जी से प्ररित होकर विजय पाल ने अपना नाम बदल कर…
-डा. राजेन्द्र प्रसाद शर्मा इसमें कोई दो राय नहीं कि मोबाइल आज परस्पर संवाद का सबसे सुविधाजनक साधन हो गया। पर यही मोबाइल ज्ञान, मनोरंजन और संवाद का माध्यम होने से मौत का कारण भी बनता जा रहा है। लगता है जैसे सुविधा का दुरुपयोग अब मौत का कारण भी बनता जा रहा है। अभी पिछले दिनों ही आश्रम रेल्वे ओवरब्रीज पर उजियाली संध्या में सात बजे तीन युवक ट्र्ेन…
-बाल मुकुंद ओझा (वरिष्ठ लेखक एवं पत्रकार) इंग्लैंड के समुद्र के किनारे बसे शहर दुनियाभर में प्रसिद्ध हैं। इनमें ब्राईटन सिटी भी एक है जो ऐतिहासिक और मंत्रमुग्ध कर देने वाली बीच के कारण पर्यटकों का एक प्रमुख केंद्र है। बाईटन सिटी यूके के दूसरे बड़े और विख्यात सैलानी केंद्र के रूप में जाना जाता है जहाँ प्रतिदिन हजारों देशी और विदेशी सैलानी भ्रमण के लिए आते हैं।लंदन से 50…
-सुशील दीक्षित 'विचित्र'(अध्यक्ष प्रवाह साहत्यिक संस्था) भाइयों और बहनों मैंने भी लूट खसोट के नाम से एक पार्टी गठित कर ली है जिसे मिडिया लूखपा करके बुलाएगी या कैपिटल एलकेपी कहेगी | चुनाव आयोग से मान्यता भी मिल गयी है | मेरी पार्टी का चुनाव निशान "तिजोरी से नोट निकलता नकाबपोश" है | मैं इसका स्वयं भू राष्ट्रीय अध्यक्ष हूँ | लोग कहते हैं कि जब आपकी पार्टी शहर तो…
Page 6 of 44

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें