articles

-डॉ प्रदीप उपाध्यायदेशभर में भाजपा ने अपने पैर पसार लिये हैं।जिन नीतियों,कार्यक्रमों और विचारधारा के आधार पर कांग्रेस की जड़े गहरे तक जमी हुई थी और जन-जन तक उसकी पैठ थी,उसी राह पर चलते हुए भाजपा ने अपना विजय रथ दौड़ा दिया है बल्कि अब तो यह कहें कि उसने अपने अश्व मेघ यज्ञ का घोड़ा छोड़ दिया है।राष्ट्रवादी पार्टी के चोले के भीतर संतुष्टीकरण की नीति को भी कुछ…
- ओम प्रकाश उनियालदेहरादून। उत्तराखंड की गढ़वाली-कुमाऊंनी बोली में अब तक बड़े पर्दे की कई फिल्मों का निर्माण हो चुका है। राज्य की फिल्म-नीति कमजोर होने के कारण क्षेत्रीय फिल्म निर्माताओं को कई चुनौतियों का सामना करना पड़ता है। इन बोलियों में बनने वाला सिनेमा अभी तक पहाड़ तक अपनी ठोस पहुंच नहीं बना पाया है।सन् १९८३ में उत्तराखंडी सिनेमा का जन्म हुआ। पहली गढ़वाली फिल्म बनी 'जग्वाल'। जिसने दिल्ली,…
पेड़ अपनी जड़ों को खुद नहीं काटता,पतंग अपनी डोर को खुद नहीं काटती,लेकिन मनुष्य आज आधुनिकता की दौड़ में अपनी जड़ें और अपनी डोर दोनों काटता जा रहा है।काश वो समझ पाता कि पेड़ तभी तक आज़ादी से मिट्टी में खड़ा है जबतक वो अपनी जड़ों से जुड़ा है और पतंग भी तभी तक आसमान में उड़ने के लिए आजाद है जबतक वो अपनी डोर से बंधी है।आज पाश्चात्य सभ्यता…
-डा. राजेन्द्र प्रसाद शर्मा,चलो गुजरात और हिमाचल के चुनाव परिणाम आ गए। 22साल से लगातार सत्ता में रहने के बावजूद भाजपा सरकार बचाने में कामयाब रही वहीं हिमाचल में कांग्रेस सत्ता से बाहर हो गई। उत्तर प्रदेश सहित पांच राज्यों के चुनाव परिणाम के समय से गुजरात व हिमाचल की मतगणना से कुछ समय पहले तक चुनाव आयोग की विश्वसनीयता खासतौर से ईवीएम मशीन की विश्वसनीयता को लेकर जिस तरह…
-मलिक असगर हाशमीअगला लोकसभा चुनाव परिणाम खेत-खलिहानों में तय होगा। गुजरात, हिमाचल के चुनावी नतीजे भी इस ओर इशारा करते हैं। आगले दो वर्षों में कौन सी पार्टी खुदको कितना किसान हितैषी साबित करती है, यह देखना दिलचस्प होगा। पिछले दो दशकों में गुजरात में कपास, मूंगफली, मछली उत्पादन के क्षेत्र में जितने विकास कार्य होने थे, नहीं हुए। नतीजे में, भाजपा का गुजरात के देहाती क्षेत्रों में प्रदर्शन बेहतर…
-डॉ नीलम महेंद्र(Best editorial writing award winner) वर्तमान में चल रहे संसद के शीतकालीन सत्र में भारतीय लोकतंत्र की सबसे पुरानी पार्टी कांग्रेस चुनावों के दौरान प्रधानमंत्री मोदी द्वारा माफी की मांग पर सदन की कार्यवाही में लगातार बाधा डालने का काम कर रही है। वैसे ऐसा पहली बार नहीं है कि कांग्रेस के द्वारा संसद की कार्यवाही ऐसे मुद्दों के लिए बाधित की जा रही हो जिनका देश से…
-राहुल लाल (कूटनीतिक मामलों के विशेषज्ञ) हाल के दिनों में भारत-इजराइल संबंध अपने घनिष्ठ दौर में है।इजराइल में किसी भी भारतीय प्रधानमंत्री के प्रथम यात्रा के रुप में प्रधानमंत्री मोदी का अभूतपूर्व स्वागत हुआ था तथा आधुनिक हथियारों के साथ इजराइल के साथ घनिष्ठ रणनीतिक संबंध बने।इसके बावजूद भारत ने येरुशलम के मुद्दे पर अरब देशों के साथ खड़े होकर यह दिखा दिया है कि उसकी विदेश नीति अभी भी…
गुजरात व हिमाचल प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी ने अपना विजय अभियान जारी रखते हुए जहां हिमाचल प्रदेश की सत्ता कांग्रेस से छीनकर अपनी झोली में डाली है वहीं गुजरात की सत्ता पर एक बार फिर अपनी विजय पताका भी लहराई। परंतु गुजरात विधान सभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी की विजय होने के बावजूद यहां के चुनाव परिणाम पर राजनैतिक विश£ेषकों द्वारा तरह-तरह की अलग-अलग समीक्षाएं व विश£ेषण किए…
-सुरेश हिन्दुस्थानी(वरिष्ठ स्तंभकार और राजनीतिक विश्लेषक) देश में संप्रग सरकार के समय हुए 2जी घोटाले में न्यायालय के निर्णय के साथ ही भाजपा और कांग्रेस में राजनीतिक बयानबाजी प्रारंभ हो गई है। कांग्रेस जहां इस घोटाले को पूरी तरह से झूठा प्रमाणित करने की कवायद कर रही है, वहीं भाजपा की तरफ से अभी भी इसे घोटाले का रुप ही देने की राजनीति की जा रही है। इस प्रकार की…
-राहुल लाल (कूटनीतिक मामलों के विशेषज्ञ) अमेरिका की नई राष्ट्रीय सुरक्षा रणनीति(एनएसएस) में भारत को एक उभरती हुई वैश्विक शक्ति बताते हुए ट्रंप प्रशासन ने कहा है कि इससे भारत के साथ अमेरिका की रणनीतिक साझेदारी और मजबूत होगी तथा वह भारत-प्रशांत क्षेत्र में सुरक्षा कायम रखने के लिए भारत के नेतृत्व क्षमता के योगदान का समर्थन करता है।इसमें स्पष्ट रूप से अमेरिका द्वारा पाकिस्तान को हिदायत देने और भारत…
Page 6 of 8

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें