articles

-दीपक गिरकर (स्वतंत्र टिप्पणीकार) हमारे देश में बुजुर्गों के योगदान को समाज और सरकार द्वारा स्वीकार किया गया हैं. समाज के हर क्षेत्र में सृजनात्मक क्षमता को बढ़ाने के लिए इनका इस्तेमाल होते आ रहा हैं. संयुक्त राष्ट्र की विश्व जनसंख्या रिपोर्ट बताती है कि भारत में 60 वर्ष से अधिक उम्र पार कर चुके नागरिकों की संख्या काफ़ी तेज़ी से बढ़ रही हैं और साथ ही इनकी आर्थिक-सामाजिक परेशानियां…
-डा. राजेन्द्र प्रसाद शर्मापाकिस्तान के चुनाव नतीजों में इमरान की पाकिस्तान तहरीर ए इंसाफ पार्टी के सबसे बड़े दल के रुप में उभरना राजनीतिक विश्लेषकांे और पाकिस्तान की राजनीति को समझने वाले विशेषज्ञों के लिए कोई चैकाने वाला परिणाम नहीं है। साफ है इमरान सेना के सहयोग से चुनाव लड़ रहे थे। आश्चर्य की बात यह अवश्य है कि सेना के सहयोग के बावजूद इमरान पूर्ण बहुमत प्राप्त करने में…
-मनमोहन हर्ष (स्वतंत्र टिप्पणीकार)’’देष के लाखों- करोड़ों संगीत प्रेमियों के दिलों में किषोर दा की छवि बहुमुखी प्रतिभा के धनी एक ऐसे फनकार की है, जिन्हें जोखिम उठाने, चुनौतियों के पार एक नया जहां तलाषने और नए प्रयोग करना सदैव रास आता था। जिंदगी में मंजिल दर मंजिल लक्ष्यों को साध कर किषोर कुमार ने सफलताओं के नए बसेरे बनाए। सही मायनों में उनका जीवन हम सभी के लिए एक…
- योगेश कुमार गोयल राफेल एक फ्रांसीसी कम्पनी ‘दसाल्ट एविएशन’ द्वारा निर्मित दो इंजन वाला मध्यम मल्टी रोल कॉम्बैट एयरक्राफ्ट (एम.एम.आर.सी.ए.) है। इस विमान में कई ऐसी विशेषताएं हैं, जो इसे विश्व का बेहतरीन लड़ाकू विमान बनाने के लिए पर्याप्त हैं। यह हवाई हमला, वायु वर्चस्व, जमीनी समर्थन, भारी हमला, परमाणु प्रतिरोध इत्यादि कई प्रकार के कार्य बखूबी करने में सक्षम है। इसकी टैक्नोलॉजी बेहतरीन है। यह परमाणु मिसाइल ले…
-तनवीर जाफ़रीपाकिस्तान में गत् 25 जुलाई को हुए नेशनल असेंबली के चुनाव अपने-आप में बेहद महत्वपूर्ण रहे। इन चुनाव परिणामों ने जहां पाकिस्तानी अवाम के रुझान का संकेत दिया वहीं यह चुनाव भारत के लिए भी काफी महत्वपूर्ण समझे जा रहे हैं। पूर्व प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ के पनामा पेपर लीक्स मामले में जेल जाने के फौरन बाद हुए इस चुनाव में 272 सीटों की राष्ट्रीय असेंबली में पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी…
-ललित शौर्य निठल्ले निरा निठल्ले नहीँ होते बल्कि उनका भी कारोबार होता है। देश और समाज निठल्लों को देखकर नाक-मुँह सिकोड़ता है, उनसे मुँह फेर लेता है। उसके बाद भी निठल्ले अपने कार्य में लगे रहते हैं। निठल्लों का कारोबार एकदम चुस्त और दुरुस्त रहता है। निठल्ले कई प्रकार के होते हैं, और हर प्रकार के निठल्लों का अपने तरह का कारोबार होता है। कुछ निठल्ले निंदई होते हैं। उनका…
-रमेश सर्राफ धमोरा (स्वतंत्र पत्रकार) दिल्ली में एक परिवार की तीन बेटियों की भूख से मौत हो गई है। तीनों बच्चियों की उम्र दस साल से कम थी। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में खुलासा हुआ कि बच्चियों के पेट में अन्न का एक दाना नहीं था। आठ वर्षीय मानसी, पांच वर्षीय पारो और दो वर्षीय सूखो की लाल बहादुर शास्त्री अस्पताल के चिकित्सा निदेशक ने भूख से मरने की पुष्टि की है।…
-ओम प्रकाश उनियाल बिना कारण जाने किसी बात को लेकर अकारण समाज में वैमनस्य फैलाना अपराध की श्रेणी में आता है। जिससे अफवाहों का बाजार गर्म होता है और उसका फायदा भीड़़ उठाती है। अफवाहों पर बिना सोचे-समझे आक्रामक होकर भेड़चाल चलने की प्रवृति समाज के भीतर जब पनपती है तो उसका परिणाम 'माॅब लिंचिंग' जैसी घटनाओं के रूप में सामने आता है। मनुष्य के भीतर हर बात को जानने…
-रमेश ठाकुर सरकारी जुमले के मुताबिक भोजन हर मनुष्य का जन्मसिद्व अधिकार है। लेकिन दिल्ली की घटना के बाद ये जुमला भी कागजी साबित हो रहा है। देश की राजधानी दिल्ली में तीन सगी बहनों की भूख से मौत की शर्मनाक तस्वीर ने दिल्ली सरकार की कागजी जनसुविधाओं की पोल खोल दी है। साथ ही केंद्र सरकार की भूख से लड़ने की उस लड़ाई को भी पीछे धकेलने का काम…
-सुरेश हिन्दुस्थानी(वरिष्ठ स्तंभकार और राजनीतिक विश्लेषक) भारत के पड़ौसी देश पाकिस्तान में नई सरकार बनाने की कवायद प्रारंभ हो गई है। चुनाव परिणामों ने पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ के मुखिया इमरान खान को सबसे ज्यादा सीटें देकर मजबूत बनाया है। इमरान खान के चुनाव प्रचार का अध्ययन किया जाए तो यही दिखाई देता है कि उनका पूरा चुनाव प्रचार भारत के मजबूत प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर ही केन्द्रित रहा। इमरान खान अपनी…
Page 5 of 63

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें