articles

-संजय सिंह राजपूतचाचा जी देख रहा हूं, आजकल बच्चन बहुत खुश रहने लगा है, छेदिया ने उदय सिंह से कहा। उदय सिंह भी हां में हां मिलाते हुए बोले, लेकिन ऐसा कौन-सा खजाना हाथ लगा है। यह तो मैं भी नहीं समझ पा रहा हूं। छेदिया ने कहा चाचा जी मैंने तो गांव के कई लोगों से पूछा लेकिन किसी को नहीं पता आखिर बच्चन खुश क्यों है, छेदिया की…
-राहुल लाल (कूटनीतिक मामलों के विशेषज्ञ) भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन(इसरो) को एक साल के भीतर दूसरी सबसे बड़ी विफलता का सामना करना पड़ा है।इसरो के इस विफलता से सेना और वैज्ञानिकों को जबरदस्त झटका लगा है।इसरो का सबसे मजबूत कम्युनिकेशन सैटेलाइट जीसैट-6ए से संपर्क टूट गया है।गंभीर बात यह है कि इस सैटेलाइट को लॉंच करने के बाद 48 घंटों के अंदर ही इससे संपर्क टूट गया।अब स्थिति यह आ…
-रमेश सर्राफ धमोरा (स्वतंत्र पत्रकार)मानव जाति की मूल आवश्यकताओं की बात करें तो रोटी, कपड़ा और मकान का ही नाम आता है। इनमे रोटी सर्वोपरि है। रोटी यानी भोजन की अनिवार्यता के बीच आज विश्व के लिए शर्मनाक तस्वीर यह है कि वैश्विक आबादी का एक बड़ा हिस्सा अब भी भुखमरी का शिकार है। अगर भुखमरी की इस समस्या को भारत के संदर्भ में देखे तो संयुक्त राष्ट्र द्वारा भुखमरी…
-मुकेश सिंह (स्वतंत्र स्तंभकार) देश की जनता को मुंगेरीलाल के हसीन सपनें दिखाकर सत्ता में आई भाजपा अब निरंकुश सत्ता पाने की लालसा में तड़प रही है। आज हालात ऐसे हो चलें हैं कि देशभर में शासन का झंडा गारने को ललायित भारतीय जनता पार्टी अपनी विचारधारा तक से समझौता करने को तैयार है। और इसका ताजा उदाहरण यूपी में देखने को मिला जब राम नाम की राजनीति करनेवाली पार्टी…
-ओम प्रकाश उनियाल(स्वतंत्र पत्रकार)बारिश हो न हो या फिर आग उगलती सूरज की किरणें तपा रही हो पहाड़ों को, फिर भी हिमालय के आँचल में खड़े पहाड़ों पर हरियाली जरूर नजर आएगी। छोटी-छोटी झाड़ियों से लेकर बड़े-बड़े पेड़ों, धारों से लेकर बुग्यालों तक फैली हरियाली। सचमुच, प्रकृति का यही तो वरदान है इन पहाड़ों के लिए। ऊंचे पहाड़ों पर जल-संचयन की कोई व्यवस्था नहीं होती। वर्षा पर ही निर्भर रहती…
-रमेश सर्राफ धमोरा (स्वतंत्र पत्रकार) हाल ही में उत्तरप्रदेश में सम्पन्न हुये राज्यसभा चुनाव में बसपा प्रत्याशी भीमराव अम्बेडकर की हार के बाद बसपा सुप्रिमो मायावती द्वारा प्रेस कांफ्रेन्स कर बयान दिया कि अपने प्रत्याशी की हार के उपरान्त भी उनका समाजवादी पार्टी से बना गठजोड़ आगे भी जारी रहेगा। हालांकि मायावती ने अपनी पार्टी के कोर्डिनेटरों की मिटिंग में यह जरूर कहा कि आगे के उपचुनावो में बसपा किसी…
-राहुल लाल (कूटनीतिक मामलों के विशेषज्ञ) अमेरिका ने परमाणु व्यापार(न्यूक्लियर ट्रेड) से जुड़ी 7 पाकिस्तानी कंपनियों को राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए खतरे वाली सूची में डाल दिया है।अमेरिका के इस ताजा कदम से पाकिस्तान के परमाणु आपूर्तिकर्ता समूह में शामिल होने के मंसूबों को तगड़ा झटका लगा है।अमेरिका के इस कदम से पाकिस्तान के सदाबहार मित्र चीन को भी झटका लगा है,जो पाकिस्तान को परमाणु आपूर्ति समूह में शामिल करवाने…
-बाल मुकुंद ओझा (वरिष्ठ लेखक एवं पत्रकार) खान-पान और साफ-सफाई का ध्यान न दे पाने की वजह से चिकनगुनिया और डेंगू की समस्या से लोगों को दो दो हाथ करने पड़ रहे है। भारत में मानसून का मौसम बारिश, फसल, पर्व, मेले ,त्यौहार और समारोह लेकर आता है। हालांकि पिछले कुछ सालों में देखने में आया है कि देश में यह मौसम एक तरह से प्रकोप बन चुका है। इस…
-डा. राजेन्द्र प्रसाद शर्मायही कोई 20 महिलाओं के यौन उत्पीडन के आरोपों के घेरे में फंसे अमेरिकी राष्ट्र्पति डोनाल्ड ट्र्ंप ने अप्रेल माह को अमेरिका में राष्ट्र्ीय यौन उत्पीडन जागरुकता माह घोषित कर क्या संदेश देना चाहा है यह समझ से परे हैं? अमेरिकी राष्ट्र्पति ट्र्ंप और विवादों का चोली दामन का साथ रहा है। अपने विवादास्पद निर्णयों के चलते ट्रं्प को नीचा भी देखना पड़ा है और यहां तक…
-तनवीर जाफ़रीइंडोनेशिया तथा पाकिस्तान के बाद भारतवर्ष पूरे विश्व में मुस्लिम जनसंख्या वाला तीसरा सबसे बड़ा देश है। दुनिया में आतंकवाद का व्यापार चलाने वाले कई अंतर्राष्ट्रीय संगठनों की बुरी नज़रें भारत की ओर भी पड़ती रहती हैं। यह शक्तियां कभी 6 दिसंबर 1992 के बाबरी मस्जिद विध्वंस की याद दिलाकर,कभी कश्मीर में आतंकवादियों के विरुद्ध हो रही सैन्य कार्रवाई के नाम पर तो कभी 2002 के गुजरात दंगों पर…
Page 14 of 39

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें