Editor

Editor


जगदलपुर/बीजापुर - छत्तीसगढ़ के बीजापुर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने केंद्र सरकार की महत्वाकांक्षी स्वास्थ्य बीमा योजना 'आयुष्मान भारत' लॉन्च की। मोदी ने इसके अलावा छत्तीसगढ़ को कई और भी सौगाते दीं। पीएम मोदी ने यहां लोगों को संंबोधित करते हुए कहा कि 14 अप्रैल का आज का दिन देश के सवा सौ करोड़ लोगों के लिए बहुत महत्वपूर्ण है। आज भारत रत्न बाबा साहब भीमराव आंबेडकर की जयंती है। आज के दिन आप सभी के बीच आकर आशीर्वाद लेने का अवसर मिलना, मेरे लिए बहुत सौभाग्य की बात है। पीएम ने आगे कहा कि आज अगर एक गरीब माता -पिता का बेटा प्रधानमंत्री बन पाया है तो ये बाबा साहब की वजह से सम्भव हो सका है। इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जय भीम का नारा लगाया। लोगों से भी नारा लगाने को कहा।
पीएम ने कहा कि विकास की दौड़ में पीछे छूट गए और पीछे छोड़ दिए गए समुदायों में आज जो चेतना जागी है, वो चेतना बाबा साहब की ही देन है। एक गरीब मां का बेटा, पिछड़े समाज से आने वाला आपका ये भाई अगर आज देश का प्रधानमंत्री है, तो ये भी बाबा साहेब की ही देन है। मैं आज इसलिए आया हूं, ताकि आपको बता सकूं, कि जिनके नाम के साथ पिछड़ा जिला होने का लेबल लगा दिया गया है, उनमें अब नए सिरे से, नई सोच के साथ बड़े पैमाने पर काम होने जा रहा है। मैं इन 115 जिलों को सिर्फ आकांक्षी नहीं, महत्वाकांक्षी जिले कहना चाहता हूं।
पीएम मोदी ने आगे कहा कि तीन महीने का हमारा अनुभव कहता है कि अगर जिले के सभी लोग, जिले का प्रशासन, जिले के जन प्रतिनिधि, हर गली-मोहल्ला,गांव, इस अभियान में साथ आ जाए, एक जनआंदोलन की तरह हम सब इसमें योगदान करें, तो वो काम हो सकता है, जो पिछले 70 वर्षों में नहीं हुआ।
ये योजनाएं लेंगी मूर्त रूप
-प्रधानमंत्री जांगला में हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर का उद्घाटन किया
-आयुष्मान भारत योजना का शुभारंभ किया
-बीजापुर हॉस्पिटल की डायलिसिस मशीन का लोकार्पण किया
-बस्तर संभाग के विभिन्न क्षेत्रों में पीएमजीएसवाई के तहत बनने वाली 1988 किमी लंबी सड़कों का भूमिपूजन किया
-भानुप्रताप पुर ट्रेन को हरी झंडी दिखाई
आदिवासी महिला सविता के ई-रिक्शे की करेंगे सवारी
जांगला में 20 महिलाओं को ई-रिक्शा का वितरण किया जाना है। पीएम दो महिलाओं को चाबी सौंपेंगे। इस दौरान मोदी अबूझमाड़ की पहली ई-रिक्शा चालक आदिवासी महिला सविता के ई-रिक्शा की सवारी करेंगे।
बेटियों के हाथ में होगी इस खास ट्रेन की कमान
प्रधानमंत्री के हरी झंडी दिखाते ही अबूझमाड़ के भानुप्रतापपुर रेलवे स्टेशन से पहली पैसेंजर ट्रेन चल देगी। इस ट्रेन की कमान भिलाई की बेटियों लोको पायलट प्रतिभा बंसोड़ व उनकी सहयोगी धनलक्ष्मी देवांगन के हाथों में होगी। प्रतिभा रायपुर रेल मंडल की पहली महिला डेमू लोको पायलट भी हैं। गार्ड होंगी नेहा कुमारी। पोर्टर की भूमिका में होंगी राजकुमारी पांडेय, जबकि टिकट वितरण करेंगी मीना पांडेय और टिकट चेक करेंगी राजश्री बासवें।
सुरक्षा ऐसी कि नड्डा को भी रोक दिया
शनिवार को 30 वाहनों का काफिला लेकर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा पीएम के सभास्थल का निरीक्षण करने जैसे ही जांगला पहुंचे, एसपीजी ने उन्हें रोक लिया। उनसे पास की मांग की गई। आधे घंटे तक परिचय की औपचारिकता व समझाने के बाद उन्हें अंदर जाने दिया गया।


क्रेमलिन - सीरिया में अमेरिका के नेतृत्व में बरसाए गए मिसाइल से रूस बौखला गया है। रूस के राष्ट्रपति ब्लादिमीर पुतिन ने सीरिया में अमेरिका और उसके सहयोगियों के तरफ से किए गए हमले की आलोचना करते हुए इसे एक आक्रामक कार्रवाई करार दिया और कहा कि इससे सीरिया में मानवीय विपत्ति और बढ़ेगी।
क्रेमलिन की तरफ से जारी एक बयान में रूसी नेता ने कहा कि सीरिया में अमेरिका, ब्रिटेन और फ्रांस की तरफ से किए गए हमले को लेकर मॉस्को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की आपात बैठक बुला रही है।
पुतिन ने आगे कहा कि इस हमले का पूरे अंतर्राष्ट्रीय संबंधों पर बेहद खतरनाक असर पड़ेगा। उन्होंने रूस के कथन की जोरदार तरीके से पुष्टि करते हुए कहा कि सीरिया के डुमा टाउन में रासायनिक हमले की खबर पूरी तरह से बेबुनियाद है। पुतिन ने आगे कहा कि रूस के सैन्य विशेषज्ञ जिन्होंने डुमा का दौरा किया, उन्हें ऐसी कोई चीज वहां से बरामद नहीं हुई है।
इंटरनेशन कैमिकल वीपन्स वाचडॉग की ओर से इलाके का दौरा किए बिना ही अमेरिका और उसके सहयोगियों की तरफ से किए गए हमले की पुतिन ने आलोचना की।


तिरुअनंतपुरम - कठुआ और उन्‍नाव दुष्‍कर्म मामले को लेकर पूरे देश में विरोध की लहर है। केरल के वताकारा में शुक्रवार रात इन्‍हीं मामलों के विरोध में रैली निकाली गई। लेकिन इस विरोध प्रदर्शन के दौरान भारतीय जनता पार्टी और इंडियन मुस्‍लिम लीग आपस में भिड़ गए।
मुस्‍लिम लीग के सदस्‍यों ने भाजपा कार्यालय पर पत्‍थर और अंडे फेंके। हालांकि इस घटना में किसी के घायल होने की खबर नहीं है।


नई दिल्ली - मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने कठुआ में आठ साल की बच्ची से बलात्कार और हत्या के मामले की सुनवाई के लिए जम्मू कश्मीर उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश को पत्र लिख कर 'फास्ट ट्रैक कोर्ट गठित करने का अनुरोध किया। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि मुख्यमंत्री ने इस मामले में मुख्य न्यायाधीश से फास्ट ट्रैक कोर्ट गठित करने का अनुरोध किया। उन्होंने बताया कि यह अदालत 90 दिनों में मामले की सुनवाई पूरी कर लेगी और राज्य में यह इस तरह की पहली अदालत होगी। उन्होंने यह भी बताया कि राज्य सरकार ने मामले में आरोपी पुलिसकर्मियों को बर्खास्त करने का फैसला किया है।
राज्य सरकार ने इस मामले में आरोपी पुलिसकर्मी को भी बर्खास्त करने का फैसला किया है। चार्जशीट के मुताबिक स्पेशल पुलिस ऑफिसर दीपक खजुरिया समेत सुरेंदर वर्मा, हेड कॉन्स्टेबल तिलक राज और सब इंस्पेक्टर आनंद दत्ता भी इस मामले में आरोपी हैं। इससे पहले महबूबा मुफ्ती ने कहा था कि सरकार बच्चियों के साथ होने वाले यौन शोषण को रोकने को लेकर प्रतिबद्ध है और इसके लिए मौत की सजा का प्रावधान वाला कानून बनाएगी। महबूबा ने कहा था कि उनकी सरकार इस मामले में कानून को बाधित नहीं होने देगी और बच्ची के साथ इंसाफ होगा।
मुफ्ती ने ट्वीट कर कहा था कि मैं पूरे देश को आश्वस्त करना चाहती हूं कि मैं सिर्फ आसिफा के लिए न्याय सुनिश्चित करने के लिए प्रतिबद्ध नहीं हूं बल्कि उन अपराधों के लिए अनुकरणीय दंड की मांग करती हूं जिनके क्रूर कृत्य ने मानवता को शर्मसार किया है। उन्होंने कहा कि हम एक और बच्ची को इस तरह से पीड़ित नहीं होने देंगे। हम एक नया कानून लाएंगे जिसमें बच्चियों के साथ यौन शोषण करने वालों के लिए मौत की सजा अनिवार्य होगा ताकि इस मासूम बच्ची का मामला इस तरह का आखिरी मामला रह जाए।

 


जम्मू - कठुआ के रसाना में आठ साल की बच्ची की दुष्कर्म के बाद निर्मम हत्या के मामले के तूल पकड़ने के बाद भाजपा मंत्रियों से इस्तीफे लेने की कार्रवाई प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सीधे हस्तक्षेप के बाद हुई। भाजपा के दो कैबिनेट मंत्रियों चंद्र प्रकाश गंगा व चौधरी लाल सिंह ने शुक्रवार शाम को मंत्रिपद से इस्तीफा दे दिया। प्रदेश भाजपा अध्यक्ष सत शर्मा ने उद्योगमंत्री चंद्र प्रकाश गंगा व वनमंत्री लाल सिंह के इस्तीफे स्वीकार कर शाम को इसकी जानकारी भाजपा के राष्ट्रीय संगठन महामंत्री राम लाल को दे दी है। मंत्रियों के इस्तीफे मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती को सौंपे जाने का फैसला शनिवार दोपहर एक बजे उपमुख्यमंत्री डॉ. निर्मल सिंह के आवास पर होने वाली बैठक में होगा।
दोनों मंत्री कठुआ जिले में आरोपितों के खिलाफ कार्रवाई के विरोध में हिंदू एकता मंच के प्रदर्शन में शामिल हुए थे। ऐसा कर उन्होंने सहयोगी पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी को नाराज करने के साथ विपक्षी पार्टियों को बड़ा मुद्दा दे दिया था। रसाना मामले के देश भर में मुद्दा बनने के बाद जम्मू कश्मीर में भाजपा-पीडीपी गठबंधन सरकार की नींव हिल गई। ऐसे में सरकार बचाने को हरकत में आए भाजपा हाईकमान ने शुक्रवार को विवादों में घिरे दो मंत्रियों को इस्तीफा देने के निर्देश दे दिए। नेशनल कांफ्रेंस व कांग्रेस ने सरकार के खिलाफ भाजपा के दोनों मंत्रियों की भूमिका पर मुख्यमंत्री व सरकार को सवालों के घेरे में खड़ा कर दिया था।
शुक्रवार को भी पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने सवाल खड़े किए कि मुख्यमंत्री अपनी कैबिनेट के दो मंत्रियों पर कार्रवाई क्यों नहीं कर रही है। इस मुद्दे को लेकर गठबंधन के दोनों दलों में दरार सरकार के लिए खतरा बन रही थी। और इस मुद्दे पर दबाव बनाने के लिए मुख्यमंत्री ने शनिवार को श्रीनगर में राज्य कार्यकारिणी की बैठक बुलाई थी। उच्च पदस्थ सूत्रों के अनुसार, शुक्रवार दोपहर करीब साढ़े तीन बजे जम्मू में हुई बैठक के दौरान दोनों भाजपा मंत्रियों ने अपने इस्तीफे प्रदेश अध्यक्ष सत शर्मा को सौंप दिए। बैठक में संगठन महामंत्री अशोक कौल व अन्य कुछ वरिष्ठ नेता भी थे। उपमुख्यमंत्री डा निर्मल सिंह कठुआ के बिलावर में होने के कारण इस बैठक में मौजूद नहीं थे।
माना जा रहा है कि भाजपा हाईकमान के इस कदम से भाजपा-पीडीपी के बीच रसाना कांड को लेकर गहरा रही दरार कम होने के आसार हैं। दोनों पार्टियां बच्ची से दुष्कर्म और उसकी निर्मम हत्या करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने की पैरवी कर रही थी। फर्क सिर्फ इतना था कि भाजपा अपने आधार क्षेत्र में हुए इस मामले में सीबीआइ जांच की मांग को समर्थन दे रही थी। पीडीपी इस पर अड़ी थी कि राज्य पुलिस की अपराध शाखा ही जांच करेगी। राज्य में मुख्यमंत्री के पास गृह विभाग का जिम्मा है और पुलिस विभाग उनके अधीन है।
हमने पार्टी के कहने पर इस्तीफा दिया
इस्तीफा देने वाले मंत्री लाल सिंह का कहना है कि उन्हें डेढ़ महीने पहले भाजपा ने ही रसाना गांव से पलायन होने से उपजे हालात की जानकारी लेने वहां भेजा था। उनके साथ चंद्र प्रकाश गंगा व पार्टी के छह पदाधिकारी भी थे। हमने किसी का बचाव नहीं किया था और बच्ची के लिए इंसाफ मांगा था। अब पार्टी के कहने पर हमने इस्तीफा दिया है।


नई दिल्ली - एक तरफ आधार के डेटा की सुरक्षा को लेकर सुप्रीम कोर्ट लगातार चिंता जता रहा है वहीं डिजिटल सिक्योरिटी फर्म जेमाल्टो का कहना है कि 2017 में भारत से 32.40 लाख डेटा चोरी हुआ है। ये चोरी सरकारी संस्थानों के अलावा निजी संस्थानों में भी की गई। फर्म का दावा है कि डेटा चोरी में बीते साल 783 फीसदी की बढ़ोतरी दर्ज हुई है।
वैश्विक स्तर पर डेटा चोरी या फिर उसे सार्वजनिक करने के दो अरब मामले सामने आए हैं। जबकि पिछले पांच साल की बात की जाए तो वैश्विक स्तर पर दस अरब से ज्यादा डेटा या तो चोरी हुआ या फिर वह कहीं गुम हो गया।
फर्म का कहना है कि कंपनी डेटा चोरी की घटनाओं को सीमित करने के लिए सुरक्षा दायरा बना सकती हैं। फर्म के उपाध्यक्ष व मुख्य तकनीकी अधिकारी जेसोन हार्ट का कहना है कि कंपनियों को इस तरफ संजीदगी से ध्यान देना होगा।

 


नई दिल्ली - जम्मू के कठुआ में बच्ची के साथ दुष्कर्म की घटना से उबल रहे देश की भावनाओं को परखते हुए सरकार ने 12 साल से कम उम्र की बच्चियों से दुष्कर्म के दोषियों को फांसी की सजा का कानून ला सकती है। खुद केंद्रीय महिला कल्याण मंत्री मेनका गांधी ने स्पष्ट किया कि सरकार बाल यौन उत्पीड़न संरक्षण कानून (पोक्सो) में संशोधन लाएगी। इसके प्रति गंभीरता का अंदाजा इससे लगाया जा सकता है कि जरूरत हुई तो अध्यादेश भी आ सकता है।
बताते चलें कि हरियाणा, मध्यप्रदेश और राजस्थान सरकार पहले ही कानून पास कर 12 साल से कम उम्र की बच्चियों से दुष्कर्म के जुर्म में फांसी की सजा का प्रावधान कर चुकी हैं। लेकिन पोक्सो केन्द्रीय कानून है और केन्द्रीय कानून मे संशोधन होने के बाद यह व्यवस्था पूरे देश में लागू हो जाएगी।
कठुआ की घटना से अफसोस जताते हुए महिला एवं बाल विकास मंत्री मेनका गांधी ने कहा कि वे इस घटना से बेहद आहत हैं। यही नहीं हाल की सभी दुष्कर्म की घटनाओं ने उन्हें परेशान किया है। उन्होंने कहा 'महिला एवं बाल विकास मंत्रालय पोक्सो कानून में संशोधन कर 12 वर्ष से कम उम्र के बच्चों से दुष्कर्म के दोषियों को फांसी की सजा का प्रावधान करने पर विचार कर रहा है।' पोक्सो में बच्चों के हर तरह के यौन उत्पीड़न और बाल पोर्नोग्राफी में दंड के प्रावधान हैं। इसके अलावा इस कानून में ऐसे मुकदमों के ट्रायल के लिए चाल्इड फ्रैंडली सिस्टम की व्यवस्था की गई है।
महिला एवं बाल विकास मंत्रालय के सूत्र बताते हैं कि कानून पर मंथन चल रहा है। कानून को संशोधित करने का ड्राफ्ट तैयार हो रहा है। कानून मंत्रालय के साथ परामर्श किया जा रहा है। काफी तेजी से चल रहा है। काम की जो रफ्तार है उससे लगता है कि एक डेढ़ सप्ताह में पोक्सो कानून में संशोधन का मसौदा फाइनल करके कानून मंत्रालय को भेज दिया जाएगा। कानून मंत्रालय से मसौदा मंजूर होने के बाद सरकार संसद सत्र न होने पर इस बारे में अध्यादेश भी ला सकती है।
ध्यान रहे कि उन्नाव और कठुआ के मामले ने राजनीतिक रंग ले लिया है। राज्य सरकारों के साथ साथ विपक्ष केंद्र को भी कठघरे में खड़ा करने की कोशिश में जुटा है। ऐसे में सरकार की ओर से सख्त कानून का संदेश राजनीतिक रूप से भी अहम होगा।


नई दिल्ली - उत्तर प्रदेश के बहुचर्चित उन्नाव रेप कांड के आरोप में गिरफ्तार भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) विधायक कुलदीप सेंगर को केन्द्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) आज दोपहर बाद रिमांड मजिस्ट्रेट के सामने पेश करेगी। वहीं पीड़िता को मेडिकल जांच के लिए लखनऊ लाया गया है।
पीड़िता को यहां परिवार के साथ लाया गया है।
सेंगर की रिमांड मांग सकती है सीबीआई
सीबीआई सूत्रों के अनुसार सेंगर को पूछताछ के लिये रिमांड पर लेने की कोशिश की जायेगी हालांकि, यह मजिस्ट्रेट के विवेक पर निर्भर होगा कि वह आरोपी को रिमांड पर देती है या जेल भेजती है। सेंगर को कल रात दस बजे गिरफ्तार किया गया था, यद्यपि उसे तड़के पांच बजे ही उसके लखनऊ स्थित आवास से हिरासत में ले लिया गया था।
विधायक की गिरफ्तारी से पहले इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने कड़ा रुख अपनाते हुए सीबीआई से कहा था कि हिरासत नहीं, आरोपी विधायक को गिरफ्तार करो। हिरासत में लेने के बाद सीबीआई ने सेंगर से करीब 17 घंटे पूछताछ की। पूछताछ में शामिल एक अधिकारी के अनुसार इस दौरान विधायक कई बार फफक फफक कर रोये।
पुलिस से भी हुई पूछताछ
सीबीआई ने उन्नाव के माखी थाने के पुलिसकर्मियों से भी पूछताछ की। जांच एजेंसी ने बलात्कार पीड़तिा और उसके परिजनों का पक्ष भी जाना। राज्य सरकार ने 12 अप्रैल को इस मामले की जांच सीबीआई के सुपुर्द करने की संस्तुति की थी। जांच मिलते ही सीबीआई हरकत में आ गई। रात तीन बजे सीबीआई की टीम के साथ स्थानीय पुलिस अधिकारियों की बैठक हुई और तड़के पांच बजे सेंगर सीबीआई की हिरासत में था।
कोर्ट ने दिये थे आदेश
इस मामले में इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने मामले की सुनवाई करते हुये सेंगर को अविलंब गिरफ्तार करने के निर्देश दिये थे। मुख्य न्यायाधीश डी बी भोंसले और न्यायमूर्ति सुनीत कुमार की खंडपीठ ने मामले की सुनवाई करते हुए यह आदेश दिया था। युगल पीठ ने कहा कि आरोपी की हिरासत पयार्प्त नहीं है, उसे तुरंत गिरफ्तार किया जाना चाहिए। न्यायालय ने दो मई तक रिपोर्ट पेश करने को कहा है।
पीड़िता का आरोप है कि बांगरमऊ के विधायक ने पिछले साल 17 जून को उसके साथ बलात्कार किया था। उसके पिता को विधायक के भाई और समर्थकों ने मारा पीटा भी था, जिस कारण उनकी पिछले सोमवार को न्यायिक हिरासत में मृत्यु हो गयी थी।
अपर पुलिस महानिदेशक लखनऊ जोन राजीव कृष्ण की अध्यक्षता में गठित विशेष जांच दल (एसआईटी) की रिपोर्ट के आधार पर विधायक के खिलाफ 11 अप्रैल की रात उन्नाव के माखी थाने में बलात्कार और पास्को एक्ट सहित कई धाराओ में मुकदमें दर्ज किए गये थे।
पीड़िता के पिता की मृत्यु की जांच भी करेगी सीबीआई
सीबीआई को बलात्कार के साथ ही पीड़तिा के पिता की मृत्यु की जांच भी सौंपी गयी है। पुलिस के अनुसार बलात्कार की घटना गत वर्ष चार जून हो हुई थी लेकिन पीड़तिा ने मजिस्ट्रेट के समक्ष दिये गये बयान में विधायक का जिक्र नहीं किया था, इसलिए विधायक के खिलाफ कार्रवाई नहीं की गयी थी।
यह मामला उस समय सुर्खियों में आ गया जब पीड़िता ने मुख्यमंत्री आवास के पास पिछले सप्ताह आत्ममदाह का प्रयास किया था। इसके बाद आनन-फानन में एसआईटी का गठन किया गया। एसआईटी की रिपोर्ट के आधार पर ही विधायक के खिलाफ उन्नाव के माखी थाने में रिपोर्ट दर्ज हुई।
एसआईटी के अलावा इस मामले की जांच जेल उपमहानिरीक्षक और जिला मजिस्ट्रेट उन्नाव ने भी की थी। इन कमेटियों की जांच के आधार पर इस मामले में पुलिस उपाधीक्षक कुंवर बहादुर सिंह सहित छह पुलिसकर्मी और दो डॉक्टरों को निलम्बित कर दिया गया था। तीन डॉक्टरों के खिलाफ विभागीय जांच चल रही है।


नई दिल्ली - विश्व हिंदू परिषद में राष्ट्रीय अध्यक्ष पद के लिए पहली बार शनिवार को चुनाव हुआ। जिसमें लंबे समय से चला आ रहा है प्रवीण तोगड़िया का दबदबा खत्म हो गया। विहिप के नए अध्यक्ष विष्णु सदाशिव कोकजे बन गए हैं।
सिविल लाइंस स्थिति पीडब्ल्यूडी रेस्टहाउस में अध्यक्ष पद के चुनाव के लिए वोट डाले गए। राष्ट्रीय कार्यकारिणी से जुड़े 192 सदस्यों ने वोट डाले। जिसमें से विष्णु कोकजे को 131 मत मिले। जबकि प्रवीण तोगड़िया खेमे के राघव रेड्डी को महज 60 मत मिले। वहीं वीएचपी के नए अध्यक्ष राष्ट्रीय कार्यकारिणी का गठन 5 बजे करेंगे।
चुनाव परिणामों की घोषणा करते हुए विहिप के राष्ट्रीय संयुक्त महामंत्री सुरेंद्र कुमार जैन ने कहा कि भीमराव अंबेडकर की जयंति पर लोकतंत्र की जीत हुई है। लोकतांत्रिक प्रक्रिया से विष्णु सदाशिव कोकजे अध्यक्ष पद पर चुने गए हैं। उन्होंने प्रवीण तोगड़िया पर टिप्पणी करते हुए कहा कि वीएचपी लोगों को जोड़ने में भरोसा करती है न कि उन्हें तोड़ने में। संगठन में सभी का स्वागत है।
विश्व हिंदू परिषद में राष्ट्रीय अध्यक्ष पद के लिए पहली बार शनिवार को चुनाव हुआ। जिसमें लंबे समय से चला आ रहा है प्रवीण तोगड़िया का दबदबा खत्म हो गया। विहिप के नए अध्यक्ष विष्णु सदाशिव कोकजे बन गए हैं।
सिविल लाइंस स्थिति पीडब्ल्यूडी रेस्टहाउस में अध्यक्ष पद के चुनाव के लिए वोट डाले गए। राष्ट्रीय कार्यकारिणी से जुड़े 192 सदस्यों ने वोट डाले। जिसमें से विष्णु कोकजे को 131 मत मिले। जबकि प्रवीण तोगड़िया खेमे के राघव रेड्डी को महज 60 मत मिले। वहीं वीएचपी के नए अध्यक्ष राष्ट्रीय कार्यकारिणी का गठन 5 बजे करेंगे।
चुनाव परिणामों की घोषणा करते हुए विहिप के राष्ट्रीय संयुक्त महामंत्री सुरेंद्र कुमार जैन ने कहा कि भीमराव अंबेडकर की जयंति पर लोकतंत्र की जीत हुई है। लोकतांत्रिक प्रक्रिया से विष्णु सदाशिव कोकजे अध्यक्ष पद पर चुने गए हैं। उन्होंने प्रवीण तोगड़िया पर टिप्पणी करते हुए कहा कि वीएचपी लोगों को जोड़ने में भरोसा करती है न कि उन्हें तोड़ने में। संगठन में सभी का स्वागत है।
प्रवीण तोगड़िया नाराज
वीएचपी में पहली बार हुए चुनावों के बाद परिणामों से प्रवीण तोगड़िया नाराज है। जिसको लेकर थोड़ी देर में प्रेसकांफ्रेंस को संबोधित करेंगे। जहां पर चुनावी प्रक्रिया सहित अन्य मुद्दों पर पक्ष रखेंगे। मालूम हो कि प्रवीण तोगड़िया दो दिनों से गुरुग्राम में डेरा डाले हुए थे।
वीएचपी में पहली बार हुए चुनावों के बाद परिणामों से प्रवीण तोगड़िया नाराज है। जिसको लेकर थोड़ी देर में प्रेसकांफ्रेंस को संबोधित करेंगे। जहां पर चुनावी प्रक्रिया सहित अन्य मुद्दों पर पक्ष रखेंगे। मालूम हो कि प्रवीण तोगड़िया दो दिनों से गुरुग्राम में डेरा डाले हुए थे।


नई दिल्ली - अंबेडकर जयंती से एक दिन पहले दिल्ली के 26 अलीपुर रोड स्थित राष्ट्रीय अंबेडकर मेमोरियल के उद्धाटन के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उन्नाव और कठुआ गैंगरेप के मामलों पर पहली बार चुप्पी तोड़ी। कठुआ और उन्नाव बलात्कार मामले पर चुप्पी के लिए विपक्ष के हमलों का सामना कर रहे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इन घटनाओं पर पहली बार अपने सार्वजनिक बयान में कहा कि ऐसी घटनाएं निश्चित तौर पर सभ्य समाज के लिये शर्मनाक हैं। इन मामलों में कोई भी अपराधी नहीं बचेगा और न्याय होकर रहेगा।
पीएम मोदी ने ट्वीट कर उन्नाव और कठुआ रेप कांड पर संवेदना व्यक्त की है। पीएम मोदी ने ट्वीट कर लिखा 'जिस तरह की घटनाएं हमने बीते दिनों में देखीं हैं, वो सामाजिक न्याय की अवधारणा को चुनौती देती हैं। पिछले 2 दिनों से जो घटनाएं चर्चा में है वो निश्चित रूप से किसी भी सभ्य समाज के लिये शर्मनाक हैं। एक समाज के रूप में, एक देश के रूप में हम सब इस के लिए शर्मसार है। अगले ट्वीट में पीएम मोदी ने लिखा की देश के किसी भी राज्य में, किसी भी क्षेत्र में होने वाली ऐसी वारदातें, हमारी मानवीय संवेदनाओं को झकझोर देती हैं। मैं देश को विश्वास दिलाना चाहता हूं की कोई अपराधी बचेगा नहीं, न्याय होगा और पूरा होगा। हमारे समाज की इस आंतरिक बुराई को खत्म करने का काम, हम सभी को मिलकर करना होग।
उधर, 8 साल की बच्ची आसिफ से कठुआ में रेप मामले के आरोपियों के समर्थन में हिंदू एकता मंच के कार्यक्रम में हिस्सा लेने वाले जम्मू कश्मीर सरकार में शामिल भाजपा के दो मंत्रियों ने इस्तीफा दे दिया। दोनों मंत्रियों ने प्रदेश पार्टी अध्यक्ष सत शर्मा को अपने इस्तीफे सौंपे हैं। कठुआ मामले में पीड़ित बच्ची की पहचान का खुलासा करने पर दिल्ली हाई कोर्ट ने कड़ा रुख अपनाते हुए 12 मीडिया घरानों को नोटिस जारी करते हुए कहा कि आगे से उसकी पहचान जाहिर ना की जाए। इसी मामले में उच्चतम न्यायालय ने वकीलों द्वारा न्यायिक प्रक्रिया बाधित करने को गंभीरता से लिया और यह कहते हुए स्वत: संज्ञान लेकर एक मामला शुरू किया कि इस तरह से बाधा डालने से ''न्याय व्यवस्था प्रभावित होती है।
इस बीच, 12 साल से कम उम्र की बच्चियों से बलात्कार के मामले में मौत की सजा का प्रावधान करने के लिये महिला एवं बाल विकास मंत्रालय यौन उत्पीड़न से बाल सुरक्षा (पॉक्सो) एक्ट में संशोधन के लिए सोमवार को एक कैबिनेट नोट पेश करेगा। एक बच्ची से बलात्कार और उसकी हत्या किये जाने की घटना को काफी दुखदायी करार देते हुए केंद्रीय मंत्री मेनका गांधी ने 12 साल से कम उम्र की बच्चियों से बलात्कार के लिए मौत की सजा की वकालत की है और पॉक्सो एक्ट में संशोधन का प्रस्ताव दिया है। फिलहाल पॉक्सो कानून के तहत मौत की सजा का प्रावधान नहीं है। यौन हमले के लिये अधिकतम आजीवन कारावास की सजा दी जा सकती है।
बता दें कि कांग्रेस सहित विभिन्न विपक्षी दलों ने उत्तरप्रदेश और जम्मू कश्मीर में बलात्कार की घटनाओं को लेकर सरकार पर तीखा हमला बोला है। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के नेतृत्व में पार्टी ने इंडिया गेट पर इन घटनाओं के खिलाफ कैंडल मार्च निकाला था जिसमें प्रियंका गांधी भी शामिल हुई थीं। गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश में पिछले साल 17 साल की एक लड़की से भाजपा विधायक कुलदीप सिंह सेंगर ने कथित रुप से बलात्कार किया था। जब पीड़िता ने लखनऊ में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निवास के बाहर आत्मदाह का प्रयास किया तब यह मामला सामने आया।

Page 1 of 2530

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें